रतालू की सब्जी खाने से सेहत काे मिलते हैं ये 10 फायदे, जानें इसकी रेसिपी

रतालू की सब्जी खाने से बवासीर, डायबिटीज और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियाें काे ठीक करने में मददगार हाेती है। इसकी सब्जी काे बनाना भी काफी आसान है। जानें

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Aug 03, 2021 11:42 IST
रतालू की सब्जी खाने से सेहत काे मिलते हैं ये 10 फायदे, जानें इसकी रेसिपी

क्या आपने कभी रतालू की सब्जी खाई है? इसे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक माना जाता है। रतालू बवासीर, कैंसर, डायबिटीज जैसे गंभीर राेगाें काे नियंत्रण में रखने में मदद करता है। इसका वैज्ञानिक नाम डाइआस्काेरिओ ऐलेटा (Dioscorea Alata) है। रतालू काे अंग्रेजी में ग्रेटर याम कहा जाता है। रतालू काे काठालू रतालू, पिंडालु, काष्ठालु के नाम से भी जाना जाता है।

क्या है रतालू (What is Ratalu or Yam)

रतालू की त्वचा कठाेर और माेटी हाेती है। इसे उबालकर या सब्जी बनाकर खाया जाता है। यह शंकु के आकार का हाेता है। इसकी पत्तियां अंडाकर और पान के पत्ताें की तरह हाेती है। रतालू स्वाद में मीठा, तासीर में ठंडा हाेता है। आयुर्वेद में इसका सेवन वात, पित्त और कफ काे संतुलित करने के लिए किया जाता है। चलिए डॉक्टर आर.पी.पराशर से जानते हैं रतालू खाने के स्वास्थ्य लाभ-

Ratalu benefits

रतालू में पाेषक तत्व (Nutrients in Yam or Ratalu)

  • कार्बाेहाइड्रेट (Carbohydrate)
  • घुलनशील फाइबर (Fiber)
  • विटामिन बी1 (Vitamin B1)
  • विटामिन बी6 (Vitamin B6)
  • फाेलिक एसिड (Folic Acid)
  • नियासिन (Niacin)
  • विटामिन ए (Vitamin A)

रतालू पाेषक तत्वाें से भरपूर हाेता है। इसलिए इसे स्वास्थ्य की दृष्टि से बेहद लाभकारी माना जाता है। आयुर्वेद में रतालू का उपयाेग कई तरह के राेगाें काे दूर करने के लिए किया जाता है।

रतालू की सब्जी बनाने की रेसिपी (Ratalu or Yam Recipe)

  • सब्जी बनाने के लिए सबसे पहले इसे अच्छी तरह से छील लें।
  • इसके बाद इसे छाेटे-छाेटे टुकड़ाें में काट लें। आप चाहें ताे इसे काटटे समय हाथाें में तेल लगा सकते हैं।
  • अब कढ़ाई में थाेड़ी ज्यादा मात्रा में तेल डालें। इसे गरम हाेने दें, फिर कटे हुए रतालू काे इस तेल में डाल दें। रतालू काे अच्छी तरह से फ्राई कर लें, जब तक की यह पक न जाए। अब आपकाे कढ़ाई में 2 टेबल स्पून घी डालें।
  • इसमें लहसुन की 6-7 कलियां काटकर डालें। इसके बाद इसमें जीरा डाल दें।  
  • अब एक मीडियम साइज का प्याज काटकर डाल दें। 
  • प्याज भून जाने पर टमाटर डालें। 
  • इसके बाद स्वादानुसार नमक, मिर्च और हल्दी डालें। अब मसाले काे अच्छी तरह से पका लें।
  • इसके बाद आप इसमें फ्राइड रतालू डालें। आप चाहें ताे इसमें दही भी डाल सकते हैं।
  • तैयार रतालू की सब्जी काे आप राेटी के साथ खा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - 'मैदा लकड़ी' के इस्तेमाल से पाएं सूजन, दर्द, चोट जैसी इन 5 समस्याओं में तुरंत आराम, जानें प्रयोग का तरीका

रतालू के स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits of Ratalu or Yam)

रतालू का उपयाेग कई तरह के स्वास्थ्य लाभाें काे प्राप्त करने के लिए किया जाता है। आप इसकी सब्जी बनाकर खा सकते हैं। चाहें ताे उबालकर भी रतालू काे खाया जा सकता है। यह स्वाद में काफी अच्छा हाेता है, साथ ही इसकी सब्जी खाने से शरीर काे कई लाभ भी मिलते हैं।

1. शरीर से टॉक्सिंस निकालने में मददगार (Yam Helpful in Removing Toxins from Body)

शरीर अधिक तला-भुना, फ्राइड और प्राेसेस्ड फूड खाने काे अच्छी तरह से डायजेस्ट करने में असफल हाेता है। जिससे यह शरीर में ही जमा हाे जाता है और आम यानी टॉक्सिंस का रूप ले लेता है। टॉक्सिंस शरीर में कई तरह की बीमारियाें काे जन्म देता है, इसलिए इसे शरीर से बाहर निकालना बहुत जरूरी हाेता है। इसके लिए आप रात में रतालू की सब्जी का सेवन कर सकते हैं। इसमें फाइबर काफी अच्छी मात्रा में हाेता है, जाे शरीर से सारी गंदगी या टॉक्सिंस काे निकालने में मदद करता है। फाइबर इनटेक लेने से शरीर की सारी गंदगी मल-मूत्र के द्वारा बाहर निकल जाती है। इससे शरीर पूरी तरह से स्वस्थ रहता है। 

Yam Benefits for Piles

2. बवासीर में लाभदायक (Yam Benefits for Piles)

रतालू की सब्जी बवासीर की बीमारी या राेग का दूर करने में मददगार हाेता है। आजकल के गलत खानपान की वजह से अधिकतर लाेगाें काे कब्ज की समस्या रहती है। लंबे समय तक कब्ज बवासीर जैसे गंभीर राेग काे जन्म देता है। रतालू में घुलनशील फाइबर पाया जाता है, जिसके सेवन से कब्ज की समस्या दूर हाेती है। कब्ज ठीक हाेने पर बवासीर में भी राहत मिलती है। अगर आप हफ्ते में दाे बार इसका सेवन करते हैं, ताे काफी हद तक कब्ज से निजात मिल सकता है। 

3. डायबिटीज में फायदेमंद रतालू (Ratalu is Good for Diabetes)

आजकल के बढ़ते तनाव, चिंता और गलत खानपान की वजह से लाेगाें में डायबिटीज की समस्या बढ़ती जा रही है। डायबिटीज अन्य कई गंभीर राेगाें का भी कारण बन सकता है। यह किडनी और हृदय काे भी प्रभावित करता है। इसलिए इसे नियंत्रण में रखना बहुत जरूरी हाेता है। डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से परेशानी हाेती है। ऐसे में आप इसे कंट्राेल में रखने के लिए रतालू की सब्जी का सेवन कर सकते हैं। आप चाहें ताे इसका सेवन उबालकर भी कर सकते हैं। 

Ratalu Control  Cancer Cells

4. कैंसर सेल्स काे बढ़ने से राेके रतालू (Ratalu Control  Cancer Cells)

कैंसर एक गंभीर बीमारी है। देशभर में लाखाें लाेग इस बीमारी से अपनी जान गंवा देते हैं। इसलिए इससे बचना बहुत जरूरी हाेता है। रतालू की सब्जी कैंसर सेल काे बनने से राेकने में मदद करता है। इसकी सब्जी में मौजूद फाइबर शरीर से विषाक्त तत्वाें काे बाहर निकालता है और कैंसर सेल्स काे बनने से राेकता है। रतालू में विटामिन ए हाेता है, जाे फेफड़े और मुंह के कैंसर से सुरक्षा प्रदान करता है। इसमें कैंसरराेधी गुण हाेते हैं, जाे कैंसर की काेशिकाओं काे फैलने से राेकता है। 

5. थायरॉइड में फायदेमंद (Ralatu is Beneficial for Thyroid)

रतालू की सब्जी ही नहीं इसका कंद भी बेहद लाभकारी हाेता है। इसके कंद काे पीसकर गले में लगाने से गण्डमाला (थायरॉइड ग्लैंड के नीचे एक ग्लैंड हाेता है, जाे सूज जाता है) की सूजन काे कम करने में बेहद लाभकारी हाेता है। अगर आप थायरॉइड से परेशान हैं, ताे डॉक्टर की सलाह पर इसका उपयाेग कर सकते हैं। आजकल महिलाओं में थायरॉइड की समस्या बढ़ती जा रही है, ऐसे में इस समस्या काे ठीक करने या कम करने के लिए आप रतालू के कंद का उपयाेग कर सकते हैं। इससे थायरॉइड की समस्या से निजात पा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - बुखार, सूजन, अल्सर जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करती है 'धमासा' औषधी, जानें इसके अन्य लाभ

6. सेक्सुअल स्टैमिना बढ़ाए रतालू (Ratalu or Yam Increase Sexual Stamina)

अगर आप अपनी सेक्सुअल स्टैमिना बढ़ाना चाहते हैं, ताे इसके लिए नियमित रूप से रतालू की सब्जी का सेवन कर सकते हैं। रतालू यौन क्रिया से संबंधित सभी समस्याओं काे दूर करने में फायदेमंद हाेता है। इसका उपयाेग लैंगिक दुर्बलता काे दूर करने के लिए किया जा सकता है।

7. त्वचा के लिए फायदेमंद रतालू की सब्जी (Ratalu or Yam For Skin)

रतालू की सब्जी खाने से शरीर से सारी गंदगी या टॉक्सिंस मल-मूत्र के जरिए बाहर निकल जाते हैं। जिससे त्वचा राेग दूर हाेने में मदद मिलती है। विषाक्त तत्वाें के बाहर निकलने पर त्वचा में निखार आता है। इसमें फाइबर हाेता है, जाे त्वचा काे सुरक्षित और खूबसूरत बनाए रखने में मददगार हाेता है।

8. मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभकारी (Ratalu or Mental Health)

रतालू की सब्जी शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी बेहद फायदेमंद हाेता है। इसमें न्यूराेप्राेटेक्टिव गुण हाेता है, जाे मानसिक स्वास्थ्य काे बेहतर बनाए रखने में मददगार हाेता है। 

9. मेटाबॉलिज्म बढ़ाए रतालू (Ratalu or Yam Increase Metabolism)

रतालू के सेवन से मेटाबॉलिज्म या चयापचय सही तरीके से काम करती है। यह मेटाबॉलिज्म काे बढ़ाने में सहायक हाेता है। अगर आपका मेटाबॉलिज्म कमजाेर है, ताे आप रतालू की सब्जी का सेवन कर सकते हैं। इसके सेवन से चयापचय बढ़ेगा और मेटाबाेलिक डिसऑर्डर हाेने से राेकता है।

10. काेलेस्ट्रॉल लेवल कंट्राेल रखे (Ratalu for Cholesterol Level)

काेलेस्ट्रॉल लेवल अधिक हाेने पर रतालू का सेवन करना फायदेमंद हाे सकता है। यह काेलेस्ट्रॉल के लेवल काे नियंत्रित करने में सहायक हाेता है। इसलिए इस हृदय स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक माना जाता है। 

रतालू के प्रयाेग के अन्य तरीके (Uses of Ratalu or Yam)

  • सब्जी के रूप में
  • उबालकर
  • कंद काे पीसकर प्रभावित स्थान पर लगाना

आप भी रतालू का उपयाेग ऊपर बताए गए समस्याओं काे दूर करने के लिए कर सकते हैं। लेकिन अगर आपकाे काेई गंभीर बीमारी हाे ताे डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें। 

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer