शरीर में जमा गंदगी को इन आसान तरीकों से करें साफ, एक्सपर्ट से जानें Body Detox करने के आसान तरीके

शरीर में जमा गंदगी को साफ करना बहुत ही जरूरी है। आइए एक्सपर्ट से जानते हैं कब और कैसे शरीर को करें डिटॉक्स।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Dec 11, 2020Updated at: Dec 19, 2020
शरीर में जमा गंदगी को इन आसान तरीकों से करें साफ, एक्सपर्ट से जानें Body Detox करने के आसान तरीके

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए शरीर की गंदगी को समय-समय पर साफ (body Detox) करना बहुत ही जरूरी है। हम अपने शरीर के बाहारी आवरण  (स्किन की गंदगी) पर जमी गंदगी को आसानी से साफ कर लेते हैं, लेकिन अंदरुनी रूप से जमा गंदगी को साफ करने में काफी परेशानी होती है। अगर शरीर में किसी तरह की गंदगी होती है, तो साफ करना बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि शरीर में जमा गंदगी आपके सेहत पर सीधा असर डालती है। नोएडा स्थित डायट मांत्रा क्लीनिक की कामिनी कुमारी (Kamini Kumari) बताती हैं कि शरीर को डिटॉक्स (Body Detox) हम कई तरीकों से कर सकते हैं, लेकिन डिटॉक्सिफिकेशन (Detoxification) करने से पहले हमें बहुत सी बातों का ख्याल रखना होता है। कई तरह के खाद्य पदार्थों के सेवन से हमारे शरीर में हानिकारण तत्व एकत्रित हो जाते हैं। इन हानिकारक तत्वों को बाहर निकालना बहुत ही जरूरी होता है। अगर आप सही तरीके से  डिटॉक्सिफिकेशन करते हैं, तो इन गंदगियों को आसानी से बाहर निकाल सकते हैं। 

किस तरह कार्य करता है डिटॉक्सिफिकेशन (How Does Detoxification Work) 

डिटॉक्शिफिकेशन का अर्थ ब्लड में जमा गंदगी को साफ करना होता है। इस विधि के जरिए हम ब्लड में मौजूद जहरीले (Blood poisoning) और अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकालते हैं। इसके अलावा डिटॉक्सिफिकेशन के जिरए हम गुर्दे, आंत, फेफड़ों, स्किन (Skin) और लसिका प्रणाली में मौजूद गंदगी को साफ कर सकते हैं। डिटॉक्‍स एक ऐसी विधि है, जिसके जरिए हम शरीर की अंदरुनी गंदगी को शरीर से बाहर निकालते हैं। पहले के समय में व्रत रखकर शरीर को डिटॉक्स किया जाता था, लेकिन बदलते दौर में डिटॉक्सिफिकेशन विधि में काफी बदलाव आया है। आज के समय में लोग घरेलू उपायों से अपने शरीर के अंदर मौजूद गंदगी को साफ करते हैं। 

इसे भी पढ़ें - सर्दियों में पिएं ये 5 डिटॉक्स वॉटर, पेट की थुलथुली चर्बी होगी गायब

कब करें शरीर को डिटॉक्सिफाई (When to detox the body)

नियमित रूप से समय-समय पर शरीर के सभी अंगों की सफाई करनी जरूरी होती है। लेकिन कभी-कभी हम शरीर को डिटॉक्स करना भूल जाते हैं, क्योंकि हमें समझ नहीं आता है कि शरीर को कब और कैसे डिटॉक्स करें। आखिर कब शरीर को डिटॉक्स करने की जरूरत पड़ती है? कामिनी बताती हैं कि शरीर के पूरे अंगों को साल में कम से कम 2 से 3 बार डिटॉक्स करना बहुत ही जरूरी होता है। हालांकि, छोटे बच्चों, कैंसर रोगी और हाल ही में बनी मांओं को डॉक्टर की सलाहनुसार ही शरीर को डिटॉक्सिफाई करना चाहिए। इसके अलावा कुछ ऐसे लक्षण हैं, जिससे समझ जाएं कि आपको अपने शरीर को डिटॉक्स करने की जरूर है।

  • बिना वजह पुूरे दिन थकान महसूस करना। 
  • सुस्ती और आलस भरा दिन
  • स्किन में खुलजी और हमेशा पेट भरा-भरा लगना।
  • जननांगों में संक्रमण होना।
  • आंखों के नीचे कालापन और आंखें लाल होना।
  • पीरियड्स में समस्याएं होना।
  • बिना बात के स्ट्रेस होना। 

शरीर में इस तरह के बदलाव नजर आने पर समझ जाएं कि आपको डिटॉक्सिफिकेशन की जरूरत है। एक्सपर्ट की सलाह लेने के बाद अपने शरीर को डिटॉक्स करने की कोशिश करें।

शरीर को डिटॉक्सिफाई करना क्यों है जरूरी (Why is Necessary to Exclude Toxins from Body) 

हमें शरीर में जमा गंदगी को बाहर निकालना आवश्‍यक है क्‍योंकि यह गंदगी धीरे-धीरे हमारे शरीर को संक्रमित कर सकती है। हमारे शरीर में जमा विषाक्‍त पदार्थ हानिकारक बैक्‍टीरिया के लिए अनुकूल होते हैं। इसलिए शरीर को कई प्रकार की स्वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से बचाने के लिए बॉडी डिटॉक्‍स किया जाता है। 

प्राकृतिक तरीके से कैसे करें शरीर को डिटॉक्स (How To Natural Cleanliness Of The Body)

शरीर को डिटॉक्सिफाई करने से  पहले हमें अपने लाइफस्टाइल में कुछ विशेष बदलाव करने की जरूरत होती है। खासतौर पर ऐसे, जो हमारी गलत आदतों में शामिल होता है। अगर आप अपने शरीर के अंदर जमा गंदगी को साफ करना चाहते हैं, तो सबसे पहले चाय, कॉफी, जंक फूड्स, शराब, धूम्रपान, फैटी डाइट इत्यादि चीजों से परहेज करें। ये सभी चीजें आपके शरीर को साफ करने के बजाय और अधिक गंदा कर सकती हैं। इन चीजों के कारण डिटॉक्सिफाई करने में परेशानी आ सकती है। इसलिए इन चीजों का सेवन कम कर दें। इसके असावा स्ट्रेस लेने से भी आपके डिटॉक्सिफिकेशन में परेशानी आ सकती है। 

इसे भी पढ़ें- सर्दियों की डाइट में जरूर शामिल करें रागी, डायटीशियन से जानें रागी खाने से मिलने वाले 6 फायदे

इन चीजों को छोड़ने के बाद अपने एक्सपर्ट से डिटॉक्सिफिकेशन की सलाह ले सकते हैं। बिना एक्सपर्ट की सलाह लेने से शरीर को डिटॉक्स करना आपके लिए घातक भी हो सकता है। क्योंकि हमें अपने शरीर और सेहत के हिसाब से पता नहीं होता कि कौन सी चीजें किस मात्रा में लेनी चाहिए।  

किस तरह कर सकते हैं शरीर को डिटॉक्सिफाई  (Ways To Help Your Body Detoxify) 

शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए बहुत से लोग डिटॉक्स वॉटर (Detox Water) का सेवन करते हैं। इसके अलावा कई अन्य उपाय भी अपनाते हैं। लेकिन शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिए हमें अपने डेली रुटीन में कुछ बदलाव की जरूरत है। इन बदलावों से आप प्राकृतिक रूप से शरीर को डिटॉक्सिफाई कर सकते हैं। आइए जानते हैं उन बदलावों के बारे में-

पूर दिनभर में लें 7 से 8 घंटे की नींद 

शरीर में मौजूद गंदगी को प्राकृतिक (Natural Detox Tips) रूप से साफ करने के लिए भरपूर नींद की आवश्यकता होती है। कामकाज में व्यस्त होने के चलते अगर आप पूरी नींद नहीं ले पा रहे हैं, तो यह आपके लिए घातक हो सकता है। अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए रात को भरपूर नींद लें। रात में कम से कम 7 से 8 घंटे सोएं। भरपूर नींद लेने से कोर्टिसोल हार्मोन का स्तर कंट्रोल रहता है। 

सुबह खाली पेट पिएं गुनगुना पानी (Drink Warm water in the morning) 

प्राकृतिक रूप से शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए सुबह-सुबह खाली पेट 1 गिलास गुनगुना पानी पिएं। इसके साथ ही सोने से कुछ समय पहले और पूरे दिन भी पर्याप्त रूप से पानी पिएं। दिन में कम से कम 8 से 10 गिलास यानी 2 से 3 लीटर पानी का सेवन करें। इसे आपकी बॉडी हाइड्रेट रहेगी साथ ही पानी पीने से मल त्‍याग के दौरान शरीर में जमा विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाता है।  

इसे भी पढ़ें - वजन घटाने के लिए अपनाएं ये खास तरीका, डाइट में करें इन 5 चीजों को बैलेंस

डिटॉक्स के लिए करें स्‍ट्रेच एक्‍सरसाइज (Stretch Exercises to Detox Body)

अपने डेली रुटीन से सिर्फ 5 मिनट निकालकर स्ट्रेच एक्सरसाइज करें। इस एक्सरसाइझ से आपके शरीर में जमा गंदगी साफ होगी। आपको जब भी समय मिले, तो अंगड़ाई लें या फिर अपने बॉडी को स्ट्रेच करें। ऐसा करने से आपके शरीर की थकान दूर होती है। साथ ही मांसपेशियों में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। 

कम खाएं चीनी (lessen your sugar intake)

शरीर में शुगर की मात्रा हाई होने से आपको कई तरह की परेशानी हो सकती है। शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए अपने आहार में शुगर की मात्रा कम कर दें। हाई शुगर से इंसुलिन के स्तर पर प्रभाव पड़ता है, जिससे डायबिटीज होने का खतरा काफी ज्यादा रहता है। इसके अलावा भोजन में कम शर्करायुक्त आहार को शामिल करें।

इन प्राकृतिक तरीकों के अलावा डिटॉक्स ड्रिंक्स, लहसुन और कई अन्य घरेलू उपायों से आप अपने बॉडी को डिटॉक्सिफाई कर सकते है। 

 

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer