पीरियड्स के दौरान क्यों होती है ब्लोटिंग की समस्या? एक्सपर्ट से जानिए इसके कारण और बचाव

कुछ महिलाओं को पीरियड्स के दौरान ब्लोटिंग यानी पेट फूलने की समस्या होती है। आइए एक्सपर्ट से जानते हैं इस बारे में। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Dec 10, 2020Updated at: Dec 10, 2020
पीरियड्स के दौरान क्यों होती है ब्लोटिंग की समस्या? एक्सपर्ट से जानिए इसके कारण और बचाव

पीरियड्स के दौरान या फिर पीरियड्स शुरू होने से पहले कुछ महिलाओं का रातों रात पेट फूल (Bloating Problem) जाता है। इस समय ऐसा महसूस होता है जैसे रातों-रात वजन काफी ज्यादा बढ़ गया है। पीरियड्स के दौरान पेट फूलना या पेट भारी सा लगना एक सामान्य लक्षण हैं। कुछ महिलाओं को इस दौरान काफी ज्यादा वजन बढ़ जाता है। यह प्रीमेंस्टुअल सिंड्रोम (premenstrual syndrome) के लक्षणों में से एक लक्षण है। लेकिन सवाल यह है कि आखिर पीरियड्स के दौरान महिलाओं का पेट क्यों फूलता है? और इस समस्या को किस तरह रोका जाए? अगर आपके मन में भी इस तरह का सवाल है, तो आइए गाजियाबाद स्थित अनायाज क्लीनिक की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर नीरा सिंह से जानते हैं इस बारे में-

डॉक्टर नीरा सिंह का कहना है कि हर महीने महिलाओं के शरीर में कई हार्मोनल बदलाव होते हैं। पीरियड्स शुरू होने से कुछ पहले प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजेन के लेवल में अचानक परिवर्तन होने लगता है। उनका कहना है कि पीरियड्स शुरू होने से करीब 1 सप्ताह पहले महिलाओं के शरीर में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का लेवल कम होने लगता है। प्रोजेस्टेरोन का लेवल कम होने के कारण यूटरस की परतें काफी ज्यादा फैलने लगती हैं, इसी वजह से ही पीरियड्स के दौरान महिलाओं को ब्लीडिंग होती है। इन हार्मोनल बदलाव के कारण आंतों की कार्य गति धीमी हो जाती है और इस कारण नमक और पानी को जमा होकर वाटर रिटेंशन बनने लगता है। इसी कारण पीरियड्स के दौरान ब्लोटिंग की समस्या  होती है और पेट भरा-भरा सा महसूस होने लगता है। अक्सर पीरियड्स के पहले दिन ब्लोटिंग (Bloating During Periods) की समस्या अधिक महसूस होती है। पेट फूलने के कारण महिलाओं के शरीर में सुस्ती और असहज महसूस होने लगता है। 

पीरियड्स में ब्लोटिंग के लक्षण (Symptoms of Bloating During Periods)

पीरियड्स के दौरान ब्लोटिंग होने पर पेट की समस्या होने लगती हैं। इस दौरान पेट फूला हुआ सा महसूस होता है। आइए जानते हैं इसके और भी लक्षण-

  • पेट में कड़ापन और खिंचाव महसूस होता है। 
  • कुछ महिलाओं का पेट भरा-भरा सा लगता है। 
  • खट्टी डकार 
  • गैस निकलना
  • पेट में जलन
  • मतली जैसा फील होना।
  • बहुत सी महिलाओं आंत पूरी तरह से भरा-भरा सा महसूस होता है।
  • खाने पीने में दिक्कत 

पीरियड्स में ब्लोटिंग के कारण (Causes of Bloating During Periods)

  • हार्मोंन्स में बदलाव पीरियड्स के दौरान ब्लोटिंग होने का सबसे बड़ा कारण है। 
  • आंत की प्रक्रिया धीमी होने की वजह से पेट में नमक और पानी एकत्र होने लगता है, इस कारण भी ब्लोटिंग की समस्या हो सकती है। 
  • आंत में सिकुड़न के कारण भी पीरियड्स में ब्लोटिंग की परेशानी हो सकती है। 

मासिक धर्म में पेट फूलने से बचने के उपाय (Prevention for Bloating During Periods)

  • नमक कम खाएं।
  • मैग्नीशियम और पोटैशियम युक्त आहार का सेवन करें। 
  • पीरियड्स के दौरान भी हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करें।
  • प्रोबायोटिक और प्रीबायोटिक सप्लीमेंट्स लें।
  • डॉक्टर की सलाह पर दवाइयां लें।
  • गर्म पानी पिएं।
  • धूम्रपान से बचें।
  • पैदल चलने की आदत डालें।
  • पीरियड्स के दौरान आलस ना करें।
  • खाने-पीने का ध्यान रखें।
  • तला-भुना और मसालेदार ना खाएं।
  • खाने को चबा-चबाकर खाएं।
  • पीरियड्स में स्ट्रेस ना लें।
  • प्रोटीन और वास युक्त चीजों से गैस बन सकती हैं।
  • चाय कॉफी का सेवन अधिक ना करें।
  • कार्बोनेटेड ड्रिंक्स का सेवन ना करें।

ब्लोटिंग से बचने के घरेलू उपाय (Home Remedies for Bloating)

गुनगुना नींबू पानी (Lemon Water)

नींबू में पेट की तमाम समस्याओं का इलाज छिपा होता है। इसमें साइट्रिक एसिड भरपूर रूप से होता है, जो पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मददगार साबित होता है। यदि आप ब्लोटिंग की समस्या से परेशान हैं, तो 1 गिलास गुनपुने पानी में 1 चम्मच नींबू का रस मिलाएं। इस पानी को पीने से ब्लोटिंग की समस्या दूर रहेगी।

फाइबरयुक्त आहार (Fiber)

पाचन संबंधी परेशानी को दूर करने के लिए फाइबरयुक्त आहार का सेवन करें। फाइबर में कब्ज की परेशानी को दूर करने का गुण होता है। हालांकि, जरूरत से ज्यादा फाइबरयुक्त आहार के सेवन से बचें। इससे आपको पेट से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें - क्या प्रेग्नेंसी में चीज (Cheese) खाना है सेहत के लिए सुरक्षित? जानिए क्या है सच्चाई

पर्याप्त पानी पिएं (More Water Intake for Bloating)

यदि आपको पेट फूलने की परेशानी होती है, तो अधिक से अधिक पानी पिएं। पानी पीने से पेट फूलने की समस्या से राहत मिलता है। हालांकि, कुल लोगों को पानी पीने के कारण पेट फूला हुआ सा या भरा हुआ सा महसूस होता है। लेकिन ऐसा नहीं है जरूरत से ज्यादा पानी पीने से आपको इस तरह की समस्या हो सकती है। 

जीरा और काले नमक का पाउडर (Cumin Black Salt Beneficial for Bloating)

यदि आपको हमेशा पेट फूलने की शिकायत रहती हैं, तो एक जीरा और नमक का पाउडर तैयार करें। इस पाउडर को गर्म पानी के साथ पीने से पेट फूलने की समस्या से राहत मिल सकता है। जीरा नमक का पाउडर तैयार करने के लिए 50 ग्राम जीरा और 50 ग्राम काला नमक लें। जीरे को अच्छी तरह तवे पर भूनें। अब नमक और जीरे को साथ में मिलाकर अच्छी तरह पीस लें। इसे एक शीशी में रखें। पेट फूलने पर गर्म पानी के साथ इसका सेवन करें। दिन में 2 से 3 बार इसका सेवन करने से पेट फूलने से राहत मिलेगा।

अजवाइन का पानी (Celery water)

अजवाइन का पानी भी पेट से जुड़ी समस्याओं से राहत दिला सकता है। इस पानी को तैयार करने के लिए 1 गिलास पानी लें। इस पानी में 1 चम्मच अजवाइन मिलाएं। अब इसमें 1 चुटकी काला नमक और हींग के 2-3 दाने डालें। अब पानी को अच्छी तरह उबलने दें। पानी उबालने के बाद इसे छानकर थोड़ा ठंडा करें और पी जाएं। इससे पेट की गैस और ब्लोटिंग से राहत मिलेगी।

इसे भी पढ़ें - महिलाओं के लिए फायदेमंद है अशोक के पेड़ की छाल, अनियमित पीरियड्स और वेजाइनल डिस्चार्ज से मिलेगी राहत

एलोवेरा है फायदेमंद (Aloe-vera)

पेट में गैस या फिर पेट फूलने की समस्या से राहत पाने के लिए आप एलोवेरा जूस का सेवन कर सकते हैं। यह अंदरुनी समस्याओं से राहत दिलाने में कारगर साबित हो सकता है। एलोवेरा के इस्तेमाल से पेट में पनप रहे संक्रमण और बैक्टीरिया की समस्याओं से बचा जा सकता है। ब्लोटिंग की परेशानी होने पर दिन में 2 से 3 बार एलोवेरा जूस जरूर पिएं।

नारियल पानी पिएं (Drink Coconut Water)

नारियल पानी में कई ऐसे विटामिंस और मिनरल्स होते हैं, जो ब्लोटिंग की परेशानी को दूर करने में फायदेमंद है। इसके साथ ही इसमें एंटीइंफ्लेमेरी गुण पाए जाते हैं, जो गैस की परेशानी को दूर करते हैं। इसलिए पीरियड्स के दिनों में नारियल पानी जरूर पिएं।

 

Read More Article On Women's Health In Hindi

 

Disclaimer