आप भी थाइराइड की समस्या से पाना चाहते हैं छुटकारा, तो इन घरेलू तरीकों का करें इस्तेमाल

थायराइड से संबंधित मामले अक्सर सामने आते हैं, लेकिन यह बीमारी अब लाइलाज नहीं है, बशर्ते इसे सही समय पर इसकी जांच कर ली जाए। कई बार उपचार के बाद भी यह

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Mar 02, 2013Updated at: Apr 21, 2020
आप भी थाइराइड की समस्या से पाना चाहते हैं छुटकारा, तो इन घरेलू तरीकों का करें इस्तेमाल

थायराइड हमारे गले में पाए जाने वाली एक ग्रंथि होती है, यह तितली के आकार की होती है। यही ग्रंथि शरीर की कई जरूरी गतिविधियों को नियंत्रित करती है। थाइराइड का काम हमारे शरीर में जाने वाले भोजन को एनर्जी में बदलने का काम करता है। थायराइड ग्रंथि टी3 यानी ट्राईआयोडोथायरोनिन और टी4 यानी थायरॉक्सिन हार्मोंन का निर्माण करती है। इसका सीधा असर हमारी सांस, ह्रदय गति, पाचन तंत्र और शरीर के तापमान पर पड़ता है। जब ये हार्मोंस असंतुलित हो जाते हैं, तो वजन कम या ज्यादा होने लगता है, इसे ही थायराइड की समस्या कहते हैं। आजकल देश में थाइराइड ता शिकार ज्यादातर लोग हो रहे हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि इसका इलाज नहीं है, थाइराइड का इलाज भी है और कई लोग इसे घरेलू उपचार की मदद से भी ठीक कर लेते हैं। आइए हम आपको इस लेख के जरिए बताते हैं कि थाइराइड के लक्षण क्या है और आप इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए किन घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

लक्षण

  • वजन का लगातार बढ़ना या कम होना।
  • पसीना कम आना।
  • ह्रदय गति का कम होना।
  • कब्ज।
  • थकावट।
  • तनाव।
  • रूखी त्वचा।
  • उच्च रक्तचाप।
  • जोड़ों में सूजन या दर्द।
  • पतले और रूखे-बेजान बाल।
  • याददाश्त कमजोर होना।
  • मासिक धर्म का असामान्य होना।
  • प्रजनन क्षमता में असंतुलन।
  • मांसपेशियों में दर्द
  • चेहरे पर सूजन नजर आना।
  • समय से पहले बालों का सफेद होना। 
  • बालों की अन्य समस्याएं। 

इसे भी पढ़ें: गले में बनने वाली गांठ हो सकती है थाइरॉइड कैंसर का संकेत, इन लक्षणों की मदद से करें पहचान

घरेलू उपचार 

अश्वगंधा

वजन कम करने से लेकर थाइराइड तक अश्वगंधा हमारे लिए बहुत ही मददगार साबित होता है। अश्वगंधा को एडापोजेनिक जड़ी-बूटियों की श्रेणी में रखा गया है। शोध में पाया गया है कि अश्वगंधा थाइराइड हार्मोन को बढ़ाने में मदद कर सकता है। वहीं, एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार अश्वगंधा हाइपो थायराइड के मरीजों के इलाज में काफी  मददगार साबित हो सकता है। इसके साथ ही इसका असर व्यक्ति के थाइराइड की स्थिति पर भी निर्भर करता है, इसलिए आपको कोशिश करनी चाहिए कि इसका इस्तेमाल करने से पहले आप डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। 
 

रोजमेरी और नारियल का तेल

 
थाइराइड को ठीक करने के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट का सहारा भी लिया जाता है, जिसकी मदद से आप आसानी से थाइराइड तो ठीक कर सकते हैं। इसके लिए आपको रोजमेरी और नारियल तेल का इस्तेमाल करना होगा। आप रोजमेरी तेल को नारियल तेल में मिक्स कर दें और फिर इस तेल को थायराइड के एक्यूप्रेशर पॉइंट पर लगाएं। ये पॉइंट गले, टांग के निचले हिस्से और पैर के नीचे होते हैं। आप उन पॉइंट्स के बारे में डॉक्टर से सलाह भी ले सकते हैं। आप इन पॉइंट्स पर रोजाना करीब दो मिनट तक मालिश करें। इसके साथ ही रोजमेरी तेल की कुछ बूंदें नहाने वाले पानी में डालकर 15 से 20 मिनट तक उसमें बैठ भी सकते हैं।
 

 

लहसुन

हमारे स्वास्थ्य के लिए लहसुन कितना फायदेमंद है ये तो आप सभी जानते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं थाइराइड के लिए भी लहसुन हमारी काफी मदद करता है। एक शोध के अनुसार, थायराइड में वृद्धि के खिलाफ लहसुन का सुरक्षात्मक प्रभाव देखा गया है। आपको बता दें कि लहसुन में एलिसिन और फ्लेवोनाइड जैसे कई तत्व पाए जाते हैं, जो थायराइड को ठीक करने के लिए कारगर माने जाते हैं। 
 

Read More Articl On Other Diseases In Hindi 

Disclaimer