पथरी, डायबिटीज, त्वचा संबंधी रोगों में फायदेमंद है इंद्र जौ, जानें प्रयोग का तरीका

इंद्र जौ के इस्‍तेमाल से पथरी, डायब‍िटीज, छाले आद‍ि समस्‍याएं दूर होती हैं, जानें इसके अन्‍य लाभ और इस्‍तेमाल का तरीका

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Aug 27, 2021Updated at: Aug 27, 2021
पथरी, डायबिटीज, त्वचा संबंधी रोगों में फायदेमंद है इंद्र जौ, जानें प्रयोग का तरीका

इंद्र जौ एक प्राचीन औषध‍ि है ज‍िसका इस्‍तेमाल कई रोगों को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है, इस पौधे की छाल, पत्‍ते, फूल, जड़ का इस्‍तेमाल शरीर और त्‍वचा के रोगों को दूर करने के लि‍ए क‍िया जाता है। इंद्र जौ का स्‍वाद कड़वा होता है। इंद्र जौ का सेवन करने से ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है, पेट से जुड़ी श‍िकायतें नहीं होतीं, त्‍वचा रोगों में भी आराम म‍िलता है। पील‍िया, दस्‍त, पथरी जैसी समस्‍याओं को दूर करने के लि‍ए भी इंद्र जौ फायदेमंद माना जाता है। इस लेख में हम इंद्र जौ के फायदे और उसे इस्‍तेमाल करने के तरीके पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

indra jau benefits

(image source:wikipedia)

1. त्‍वचा संबंध‍ित रोगों में फायदेमंद है इंद्र जौ (Indra jau cures skin related problems)

त्‍वचा में खुजली होना अगर आपकी परेशानी है तो आपको इंद्र जौ के छाल का पेस्‍ट इस्‍तेमाल करना चाह‍िए उससे खुजली, दर्द, सूजन जैसी श‍िकायत दूर होती है। अगर त्‍वचा में फफोले हो गए हैं तो भी आप छाल के पाउडर को प्रभाव‍ित ह‍िस्‍से में लगाकर समस्‍या से न‍िजात पा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- दांत दर्द, फुंसी, घाव जैसी इन 5 समस्याओं में फायदेमंद है सरफोंका (शरपुंखा), जानें प्रयोग का तरीका

2. पथरी की समस्‍या हो तो इस्‍तेमाल करें इंद्र जौ (Indra jau helps to get rid of pathri)

ज‍िन लोगों को पथरी की समस्‍या होती है उनके ल‍िए इंद्र जौ फायदेमंद माना जाता है। आप इंद्र जौ की छाल के चूरण से पथरी की समस्‍या से न‍िजात पा सकते हैं। इसके ल‍िए आपको इंद्र जौ की छाल लेनी है और उसको पीसकर पाउडर बना लेना है अब उसे दूध के साथ लें या आप उसे चावल के पानी के साथ भी ले सकते हैं। इससे पथरी गलकर शरीर से न‍िकल जाती है। आप इंद्र जौ की छाल के पाउडर को दही में म‍िलाकर भी पी सकते हैं, इससे पथरी न‍िकल जाएगी। 

3. पेट से जुड़ी समस्‍या दूर करता है इंद्र जौ (Indra jau cures stomach related problems)

indra jau uses

(image source:amazon)

पेट से जुड़ी समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए इंद्र जौ फायदेमंद माना जाता है। अगर आपको दस्‍त हो रहे हैं तो आप इंद्र जौ का सेवन करें, इंद्र जौ की छाल को पीस लें और चूरण बना लें अब उसे पानी के साथ लें तो दस्‍त की समस्‍या दूर हो जाएगी। अगर आपके पेट में ऐंठन तो भी इंद्र जौ का सेवन क‍िया जा सकता है, आप इंद्र जौ के बीज को गरम करके पानी में भ‍िगोएं और फ‍िर उस पानी को छानकर पी लें, इससे पेट की ऐंठन दूर होती है।

इसे भी पढ़ें- जोड़ों का दर्द, डायरिया, बुखार आदि समस्याओं को दूर करता है सोनापाठा, जानें प्रयोग

4. शुगर लेवल कंट्रोल करता है इंद्र जौ (Indra jau controls blood sugar level)

ज‍िन लोगों को डायब‍िटीज है वो भी इंद्र जौ का सेवन कर सकते हैं। इंद्र जो के सेवन से शुगर लेवल कंट्रोल रहता है। इंद्र जौ के फूलों का चूरण बना लें और उसे गुनगुने पानी के साथ म‍िलाकर लें। इससे ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है। ज‍िन लोगों को घाव हो जाता है उनके ल‍िए इंद्र जौ के फूल का चूरण फायदेमंद होता है, आप चोट या घाव को ठीक करने के ल‍िए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

5. मुंह के छाले ठीक करता है इंद्र जौ (Indra jau cures mouth ulcer)

मुंह में छाले हो गए हैं तो आप इंद्र जौ के फूल को पीस लें और उसे जीरे के साथ कूटकर चूरण बना लें, अब इसे द‍िन में दो बार लगाएं तो मुंह के छाले ठीक हो जाएंगे। ज‍िन लोगों के पेट में कीड़े हो जाते हैं वो भी इंद्र जौ का सेवन कर सकते हैं, आप इंद्र जौ की छाल को पीसकर द‍िन में दो बार इस्‍तेमाल करें तो पेट के कीड़े न‍िकल जाते हैं। पील‍िया रोग में भी इंद्र जौ फायदेमंद माना जाता है। आप इंद्र जौ के बीज का रस न‍िकालकर उसे हर द‍िन खाएं तो पील‍िया ठीक हो जाएगा। 

आप क‍िसी गंभीर रोग या बीमारी के मरीज हैं तो अपने डॉक्‍टर से सलाह लेकर ही इंद्र जौ औषध‍ि का सेवन करें। 

(main image source:amazon)

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer