मानसून में सूप पीने से शरीर को मिलते हैं ये 9 फायदे, दूर रहती हैं बीमारियां और वजन रहेगा कंट्रोल

मानसून में बीमारियों से बचने के लिए सूप पीना जरूरी है। सूप पीने से इम्युनिटी स्ट्रांग रहती है। इसलिए दिन में 1-2 कटोरी सूप पीया जा सकता हैं।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Jul 02, 2021Updated at: Jul 02, 2021
मानसून में सूप पीने से शरीर को मिलते हैं ये 9 फायदे, दूर रहती हैं बीमारियां और वजन रहेगा कंट्रोल

कोरोना अभी पूरी तरह से टला नहीं है। तीसरी लहर की भी आशंका जताई जा रही है। साथ ही मौसम भी बदल रहा है। बदलते मौसम में इम्युनिटी सिस्टम स्लो हो जाता है। इस वजह से लोग ज्यादा बीमार पड़ते हैं। तो इस मानसून में आप सेहतमंद रहें और ज्यादा बीमार न पड़ें, उसके लिए गर्मागर्म सूप का सेवन करें। मानसून में सर्दी, खांसी, जुकाम से लेकर पेट खराब होने जैसी बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। नमामी लाइफ में न्यूट्रीशनिस्ट डॉक्टर शैली तोमर का कहना है कि मानसून में सूप पीने से पाचन क्रिया ठीक रहती है। साथ ही शरीर हाइड्रेट भी रहता है। आज के इस लेख में हम न्यूट्रीशनिस्ट से जानेंगे कि मानसून में सूप पीने के स्वास्थ्य लाभ क्या हैं। 

Inside1_monsoonsoups

मानसून में सूप पीने के फायदे (Soup Benefits in Monsoon)

1. पचने में आसान

सूप पचने में आसान होता है। मानसून में ज्यादातर लोग अपच, अफरा, गैस और कब्ज जैसी परेशानियों से परेशान रहता है। सूप पचने में आसान होते हैं इसलिए पाचन सिस्टम के लिए अच्छे हैं। सूप पीने से गैस या ब्लोटिंग की परेशानी नहीं होती। न्यूट्रीशनिस्ट शैली तोमर का कहना है कि मानसून में अगर आप पालक और धनिया का सूप पीते हैं तो यह पाचन के लिए बहुत ही लाभकारी है। 

2. शरीर को रखे हाइड्रेट

मानसून चिपचिपा मौसम होता है। शरीर से बहुत पसीना निकलता है। इस वजह से शरीर से पानी निकल जाता है और शरीर में पानी की कमी हो जाती है। अगर आप इस मौसम में सूप पीते हैं तो इससे शरीर में पानी क मात्रा ठीक होती है। लौकी का सूप हाइड्रेशन के लिए भी बहुत अच्छा माना जाता है। 

Inside5_monsoonsoups

3. वजन नियंत्रण

सूप फाइबर में प्रचूर होता है। ज्यादातर सूप सब्जियों से बनते हैं, इसलिए इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है। फाइबर मानसून में शरीर को स्वस्थ रखता है। और वजन नियंत्रण भी करता है। सूप पीने से पाचन और कोलेस्ट्रोल लेवल ठीक रहते हैं। फाइबर रिच सूप ब्लड शुगर कंट्रोल करने का बेहतर विकल्प है। न्यूट्रीशनिस्ट शैली तोमर का कहना है कि हमें दिन में 25 ग्राम सूप की जरूरत पड़ती है। 1 कटोरी सूप से हमें 5-10 ग्राम फाइबर मिलता है। 

4. इम्युनिटी बूस्टर

कोरोना के समय में जरूरी है कि हमारी इम्युनिटी स्ट्रांग हो। हम कम बीमार पड़ें। दूसरा मानसून आते ही कई और बीमारियां आती हैं। इन बीमारियों से बचने के लिए मानसून सूप पीना सेहतमंद रहता है। वेजिटेबल सूप में विटामिन ए, बी, सी, ई, के आदि होते हैं और इनमें मिनरल्स जैसे आयरन, कैल्शियम, जिंक, फॉसफोरस, सिलेनियम और मैग्नेंशियम आदि होते हैं। यह इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं। चुकंदर का सूप ब्लड सर्कुलेशन में मददगार है। साथ ही बीटरूट जूस ब्लड प्रेशर को कम करने में भी मदद करता है। सूप में हल्दी मिलाने से इम्युनिटी बढ़ाने में सहायता मिलती है। 

Inside4_monsoonsoups

इसे भी पढ़ें : वजन कम करने के लिए रोज पिएं ये 4 वेट लॉस सूप, डायटीशियन से जानें इनकी रेसिपी और फायदे

5. मौसमी जुकाम और फ्लु करे दूर

मानसून में मौसम बदलता है। कभी गर्मी तो कभी ठंडी हवाएं। ऐसे में मौसम कभी शुष्क रहता है तो नमी युक्त। नमी की वजह से मानसून में बैक्टीरिया और वायरस से होने वाली बीमारियां बढ़ती है। इस बैक्टीरिया या वायरस की वजह से जुकाम, खांसी या गले में खराश जैसी परेशानियां हो सकती हैं। गर्म सूप में हल्दी या काली मिर्च डालने से सीजनल इंफेक्शन्स से बचा जा सकता है। 

Inside3_monsoonsoups

6. बालों का झड़ना रोके

मानसून में बालों के झड़ने की समस्या आम है। इस परेशानी से हम सभी रूबरू हैं। महिलाओं के बाल अधिक झड़ते हैं। मानसून में अधिक पसीना और ह्यूमिटि अधिक होने से बाल झड़ते हैं। इस मौसम में दाल का सूप जैसे मूंग दाल, मसूर दाल या काला चना का सूप पीने से शरीर को अच्छा प्रोटीन मिलता है। इससे बाल झड़ने की समस्या दूर रहती है और बालों की ग्रोथ ठीक होती है। 

7. त्वचा संबंधी परेशानियां रखे दूर

मानसून में एक्ने, पिंपल, ब्रेकआउट आदि त्वचा संबंधी परेशानियां बढ़ने लग जाती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस मौसम में पसीना और मौसम में नमी बढ़ जाती है। चेहरे पर oil secretion बढ़ जाता है जिससे रोम छिद्र बंद हो सकते हैं, लेकिन सूप पीने से त्वचा को वे सभी न्यूट्रीएंट्स मिलते हैं जो जरूरी हैं। साथ ही इन्हें पीने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है। सूप में फाइबर होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। इसे पीने से त्वचा स्वस्थ और चमकदार होती है। 

8. भूख को बढ़ाए

मानसून में ज्यादातर लोग भूख की समस्या से जूझते हैं। खासकर बच्चों को भूख कम लगती है। कभी भूख कम लगती है तो कभी लगती ही नहीं है। दोपहर का खाना या रात का खाना खाने से पहले सूप पीने से डाइजेस्टिव एंजाइम्स निकलते हैं और भूख को बेहतर करने का काम करते हैं। 

9. ऊर्जा का स्रोत

मानसून में हम आलसी और थके हुए महसूस करते हैं। लेकिन सूप पीने से तुरंत ऊर्जा मिलती है और शरीर भी स्वस्थ रहता है। आप चाहें तो सूप को संपूर्ण खाने की खा सकते हैं। हरी सब्जियों के सूप में आप ओट्स भी मिला सकते हैं। इससे आपकी मील पूरी हो जाएगी। इससे आपका डिनर भी हल्का रहेगा। आप शाम की चाय की जगह पर सूप पी सकते हैं। इससे आपको बेटर एनर्जी मिलेगी। 

इसे भी पढ़ें : इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए बेस्ट है लहसुन और अदरक का सूप, जानें इसकी रेसिपी और ढेर सारे फायदे

इन बातों का रखें ध्यान

  • दिन में 1-2 कटोरी सूप ही पीएं। सूप में नमक मिलाया जाता है। नमक से शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है। जिससे हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी हो सकती है। 
  • सूप को सलाद या पके हुए सब्जियों के साथ भी ले सकते हैं। सूप की फॉर्म में सब्जियों का सेवन मात्र से ही आपके पाचन के एंजाइम नहीं बनेंगे। इसलिए साथ में कुछ सलाद वगैरह चबाने के लिए भी रखें। 
  • सूप को छानकर न पीएं। इससे जरूरी न्यूट्रीएंट्स निकल जाएंगे। 
  • ज्यादा गर्म सूप न पीएं, ध्यान रखें कि सूप गुनगुना हो। 

मानसून में सूप का सेवन  करने से त्वचा से लेकर पाचन सिस्टम तक ठीक रहता है। पर ध्यान रहे कि ज्यादा  सूप का सेवन भी नुकसान करता है। इसलिए दिन में 1-2 कटोरी सूप ही पीएं। मानसून में सूप पीने से इम्युनिटी सिस्टम स्ट्रांग होता है जिस वजह से आप कम बीमार पड़ते हैं। इसलिए आज से ही सूप पीना शुरू कर सकते हैं।

Read more on Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer