उटंगन पौधे के सेवन से शरीर को मिलते हैं ढेर सारे लाभ, आयुर्वेदाचार्य से जानें इसके नुकसान और प्रयोग का तरीका

उटंगन के पौधे में ढेर सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसका सेवन सब्जी, काढ़े और चूर्ण के रूप में किया जा सकता है। जानें उटंगन पौधे के फायदे और नुकसान 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 20, 2021Updated at: Apr 20, 2021
उटंगन पौधे के सेवन से शरीर को मिलते हैं ढेर सारे लाभ, आयुर्वेदाचार्य से जानें इसके नुकसान और प्रयोग का तरीका

उटंगन के पौधे (Utangan Plant) का नाम आपने शायद ही सुना होगा। यह पौधा ज्यादातर ठंडी जगहों पर नदी के किनारे उगता है। आज हम आपको उटंगन के फायदे और इसके औषधीय गुणों के बारे में बताएंगे। यह स्किन में होने वाले फोड़े-फुंसियों और घाव को ठीक करने में मददगार होता है। उटंगन की सब्जी का सेवन करने से काफी अच्छी नींद आती है। इसमें ऐसे कई मेडिकल प्रोप्रटीज (Medical Properties) पाई जाती हैं, जो सांस संबंधी रोगों को दूर करने में लाभकारी होता है। इसका सेवन काढ़े के रूप में भी किया जा सकता है। इसकी जड़, पत्तियां, फूल, फल, तना और बीज को सूखाकर इन सबका काढ़ा बनाया जा सकता है। इन सबके पेस्ट को छाती पर लगाने से खांसी की समस्या ठीक होती है। डायबिटीज और ल्यूकोरिया की समस्या में भी उटंगन फायदेमंद होता है। उटंगन के बीज का सेवन करने से थकान को दूर किया जा सकता है। उटंगन के पत्तों का पेस्ट बनाकर लगाने से खुलजी की समस्या भी ठीक होती है। उटंगन का वानस्पतिक नाम ब्लेफेरिस इडुलिस (Blepharis Edulis) है। अंग्रेजी में इसे ब्लेफेरिस (Blepharis) के नाम से जाना जाता है। आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से जानें उटंगन पौधे के अन्य स्वास्थ्य लाभ और इसके प्रयोग के बारे में (Utangan Health Benefits and Uses)- 

utangan

कैसे करें उटंगन के पौधे की पहचान (How to Identify Utangan Plant)

उटंगन के पौधे ठंडी जगहों पर नदी के किनारे पर होते हैं। इसकी पत्तियां गुच्छों में उगती हैं। इसकी पत्तियां किनारों से कांटेदार होती हैं। इसके फूल नीले रंग के होते हैं। यह एक छोटा सा पौधा होता है। उटंगन के पत्तियां, फूल, जड़ और बीज सभी का इस्तेमाल औषधीय गुणों को प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है। इसकी पत्तियों की सब्जी बेहद सेहतमंद होती है, इसकी सब्जी खाने से काफी अच्छी नींद आती है। 

उटंगन के उपयोगी भाग (Useful Parts of Utangan)

  • - पत्तियां (Leaves)
  • - फूल (Flower)
  • - फल (Fruit)
  • - बीज (Seeds)

उटंगन के फायदे (Health Benefits of Utangan)

उटंगन के पौधे में ढेर सारे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जिससे शरीर को कई तरह के स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इसके फल, फूल और पत्तियों के सेवन से शरीर सेहतमंद रहता है और हम स्वस्थ रहते हैं। 

पित्त दोष दूर करे (Good for Pitta Dosha)

शरीर में अग्नि की मात्रा बढ़ने पर कई तरह के पित्त रोग जन्म लेने लगते हैं। ऐसे में पित्त को संतुलित करना बेहद जरूरी होता है। पित्त रोग के असंतुलन होने पर उटंगन का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। इसका काढ़ा और चूर्ण इस रोग को दूर करने में सहायक हो सकता है। अगर आपको भी गुस्सा आता है या त्वचा पर जलन और फोड़ें-फुंसी होती हैं, तो ये पित्त रोग के लक्षण होते हैं। ऐसे में आप इसका सेवन कर सकते हैं।

respiratory

श्वसन तंत्र से जुड़ी समस्याओं को करे ठीक (Respiratory Diseases)

आजकल के बढ़ते प्रदूषण की वजह से श्वसन तंत्र से जुड़ी समस्याएं बढ़ती जा रही हैं। ऐसे में उटंगन का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। यह श्वसन तंत्र से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है। इसका चूर्ण और काढ़े के सेवन से इन समस्याओं को ठीक करना बेहद आसान होता है। इसके अलावा उटंगन के बीजों को पीसकर इसका पेस्ट छाती पर लगाने से भी इसमें आराम मिलता है। इससे खांसी, जुकाम की समस्याएं भी ठीक होती हैं।

पीरियड्स के दर्द में दिलाए राहत (Relief in Periods Pain)

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को कई समस्याओं को सामना करना पड़ता है। इस दौरान वे पीरियड्स के तेज दर्द, ब्लीडिंग से परेशान रहती हैं। लेकिन ऐसे में उटंगन का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। आयुर्वेद में पीरियड्स के दौरान होने वाली समस्याओं को ठीक करने के लिए उटंगन का चूर्ण खाने को दिया जाता है।

यूटीआई में फायदेमंद उटंगन (Utangan Beneficial in UTI)

उटंगन यूटीआई में बेहद फायदेमंद होता है। यह पेशाब करने के दौरान होने वाले दर्द में भी राहत दिलाता है। अगर आपको भी यह समस्या रहती है तो आप इसके बीज के चूर्ण को मिश्री के साथ ले सकते हैं। कुछ दिनों तक नियमित रूप से इसके सेवन से यूटीआई की समस्या से छुटकारा मिल सकता है। 

घाव ठीक करे उटंगन (Wound Healing)

शरीर पर चोट लगने पर घाव बन जाता है। ऐसे में इसे ठीक करना बहुत जरूरी होता है, क्योंकि इस पर कई तरह के बैक्टीरिया जमा हो जाते हैं जो हमें नुकसान पहुंचाते हैं। उटंगन की पत्तियां ऐसे में लाभकारी हो सकती हैं। इसके लिए उटंगन की पत्तियों को पीसकर इस घाव पर लगाएं। इससे घाव धीरे-धीरे भरने लगता है और घाव के दर्द में भी आराम मिलता है।

diabetes

डायबिटीज को करे कंट्रोल (Good for Diabetes)

आजकल हर दूसरा व्यक्ति डायबिटीज रोग से पीड़ित हैं। डायबिटीज होने पर कई दूसरी बीमारियों अपने आप जन्म ले लेती हैं। ऐसे में ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) को कंट्रोल में रखना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए उटंगन का सेवन करना लाभकारी हो सकता है। उटंगन डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें - आयुर्वेद के अनुसार अतिबला (कंघी) का पौधा होता है कई रोगों में फायदेमंद, जानें इसके 7 फायदे और प्रयोग का तरीका

ये भी हैं उटंगन के फायदे (Other Benefits of Utangan)

  • - उटंगन के सेवन से अनियमित रक्तस्त्राव की समस्या ठीक होती है। इसके पत्तों का रस पीने से इसमें आराम मिलता है।
  • - यह त्वचा रोगों जैसे फोड़े-फुंसियों, खुजली की समस्या में भी राहत दिलाता है। खुजली होने पर इसका सेवन करने से कुछ ही दिनों में आपको आराम मिल सकता है।
  • - उटंगन थकान और शरीर की कमजोरी को दूर करने में भी फायदेमंद होता है। इसके चूर्ण का कुछ दिनों तक नियमित रूप से सेवन करने से शरीर की कमजोरी दूर होती है।
  • - उटंगन के पत्तियों की सब्जी बनाकर खाने से अनिद्रा की समस्या ठीक होती है। रात को इसकी सब्जी खाने से बहुत अच्छी नींद आती है।
  • - उटंगन ल्यूकोरिया में भी फायदेमंद होता है।

उटंगन के नुकसान (Side Effects of Utangan)

वैसे तो उटंगन खाने से कोई नुकसान नहीं होता है, यह एकदम सुरक्षित है। लेकिन संवेदनशील लोगों को इसका सेवन करने से बचना चाहए। जैसे गर्भवती महिलाओं और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को इसका सेवन बिना आयुर्वेदाचार्य की सलाह के नहीं करना चाहिए। गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, तो भी इसका सेवन अपने आप करने से बचें।  

उटंगन का सेवन सीमित मात्रा में किया जाना चाहिए। ज्यादा मात्रा में इसे लेने से बचें, क्योंकि इससे आपको इसके साइड इफेक्ट भी नजर आ सकते हैं। अगर आप किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं जो भी डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें। एलर्जी की समस्या पर भी बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन करने से बचना चाहिए। 

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer