बालों की सभी समस्याओं का इलाज है 'हस्त मुद्रा', जानें इसे करने का तरीका और अन्य फायदे

हस्त मुद्रा की खास बात ये है कि इन्हें करते ही आपको कुछ ही दिनों में इसका असर नजर आ सकता है। साथ ही आप इन्हें कहीं भी और कभी भी कर सकते हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 07, 2021Updated at: Sep 07, 2021
बालों की सभी समस्याओं का इलाज है 'हस्त मुद्रा', जानें इसे करने का तरीका और अन्य फायदे

आज क समय में बालों को स्वस्थ रखना एक मुश्किल काम है। इसके पीछे एक बड़ा कारण है हमारी लाइफस्टाइल और डाइट। साथ ही हमारे काज काज का स्केड्यूल इतना बिजी है कि हमारे पास अपने बालों के स्वस्थ रखने के लिए योग और एक्सरसाइज करने का समय भी नहीं है। लेकिन कुछ हस्त मुद्राएं आपकी मदद कर सकती हैं। दरअसल, हस्त मुद्राएं  एक तरह की योग मुद्राएं ही हैं पर इनमें सिर्फ आपकी हाथों का ही इस्तेमाल होता है। ये मुद्राएं बालों को फिर से उगाने और बालों के झड़ने में मदद कर सकते हैं। साथ ही इन मुद्राओं को लंबे समय तक करने से आप अपने बालों को समय से पहले सफेद होने से भी रोक सकते हैं। तो, आइए जानते हैं बालों के लिए हस्त मुद्रा (Hasta mudra for hair growth) के बारे में जो कि आपके बालों से जुड़ी कई समस्याओं का हल बन सकता है। पर उससे पहले जानते हैं हस्त मुद्रा क्यों है खास। 

Inside1stronghairs

 image credit: Maalaimalar

हस्त मुद्रा क्यों है खास? 

हस्त मुद्रा (Hasta mudra benefits) आपके मानसिक तनाव को कम करने के साथ ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मदद करता है। इन दोनों से आपके बालों का स्वास्थ्य भी जुड़ा हुआ है। दरअसल, खराब ब्लड सर्कुलेशन के कारण आपके बालों की जड़ें कमजोरी हो जाती है और आपके बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। साथ ही तनाव और चिंता ऑयली ग्लैंड्स को भी एक्टिव कर देती हैं जिससे हमारे स्कैल्प ऑयली रहते हैं, बालों में डैंड्रफ की समस्या होती, स्कैल्प इंफेक्शन होता है, बाल सफेद होते हैं और फिर बाल तेजी से झड़ने लगते हैं। हस्त मुद्रा करने में आप अपने हाथों की अलग-अलग उंगलियों और उनके प्वाइंट्स पर दबाव डालते हैं जिससे बालों की अलग-अलग समस्याएं कम हो सकती हैं। जैसे कि ये शरीर के कुछ तत्वों से जुड़े होते हैं जिनका हमारे बालों के स्वास्थ्य में एक बड़ा योगदान होता है। 

  • -अंगूठा : अग्नि 
  • -तर्जनी : वायु
  • -मध्यमा या बीच वाली उंगली : आकाश
  • -अनामिका : पृथ्वी
  • -कनिष्ठा या छोटी उंगली : जल

बालों के लिए हस्त मुद्रा- Hasta mudra for hair growth

1. काले बालों के लिए कफ- कारक और कफ नाशक मुद्रा 

कफ- कारक मुद्रा आपके बालों का काला करने में मदद कर सकता है। कफ मुद्रा बालों को मजबूत बनाने में मदद करती है और इसे झड़ने से रोकती है। वहीं  आयुर्वेद के अनुसार, कफ दोष नियंत्रित करते हैं कि पित्त हास्य बढ़ता है और शरीर में कफ हास्य कम होता है। पित्त शरीर की गर्मी और संचार प्रणाली में रुचि रखता है। इस मुद्रा से ये उत्तेजित और मजबूत होती हैं। इसलिए ये ब्लड सर्कुलेशन को सही रखता है। बालों तक सभी जरूरी तत्वों को पहुंचाता है और बालों को समय से पहले सफेद होने से बचाता है।  यह उन लोगों के लिए एक उत्कृष्ट मुद्रा है जिनके शरीर में अधिक कफ या पित्त की कमी है। कफ-नाशक मुद्रा के अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए 30 मिनट का नियमित अभ्यास जरूरी है। इस मुद्रा को आप किसी भी समय या कहीं भी कर सकते हैं। लेकिन सुबह के शुरुआती घंटों में या ध्यान करते समय बहुत प्रभावी होता है। इसे करने के लिए 

  • -अनामिका और छोटी उंगली को अंगूठे के आधार पर रखें और अंगूठे से दबाएं।
  • -अन्य अंगुलियों को सीधा रखें।
  • -हथेलियों को सामने या अपने घुटनों या जांघों पर रखें।
  • -अपनी रीढ़ और सिर को सीधा रखें, कंधों को आराम दें।
  • -दोनों हाथों से मुद्रा करें।
Inside3firstimage 

image credit: google images

2. ऑयली बालों के लिए वात-कारक मुद्राएं 

वात-कारक और पित्त-कारक मुद्रा ऑयली बालों को कम करने के लिए बहुत उपयोगी हैं। इसे व्यान मुद्रा भी कहा जाता है।  ये तंत्रिका तंत्र और विभिन्न शारीरिक गतिविधियों को नियंत्रित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह मुद्रा तंत्रिका तंत्र और ऑयल ग्लैंड्स का संतुलन सही रखने में मदद करता है। यह मुद्रा वात की कमी को दूर करने में मदद करती है। इस मुद्रा को आप किसी भी समय या किसी भी स्थिति में कर सकते हैं। इसे सुबह के शुरुआती घंटों में या ध्यान के दौरान करना पंसद किया जाता है। वात-कारक मुद्राएं करना बहुत आसान है।

  • -बस तर्जनी और मध्यमा उंगली को अंगूठे की नोक पर रखें।

 Inside2ndinsideimage

image credit: Fitsri

इसे भी पढ़ें : तुलासन करने के फायदे और सही तरीका

3.  ड्राई हेयर के लिए वायु-शामक मुद्रा

क्या आप सूखे बालों या अस्वस्थ बालों से पीड़ित हैं, तो आपको वायु-शामक मुद्रा करनी चाहिए । यह मुद्रा शरीर में वायु तत्व को कम करती है। इससे बेचैन और चिंतित मन को आप शांत कर सकते हैं। ये तंत्रिका तंत्र को शांत करें। अति सक्रिय अंतःस्रावी ग्रंथियों को नरम करता है। बालों के लिए ये खास ये इसलिए है क्योंकि ये शरीर में त्वचा और आर्टिकुलर कार्टिलेज को फिर से हाइड्रेट करता है और ड्राई हेयर की समस्या को कम करता है। इसे करने के लिए 

  • -सबसे पहले किसी भी आरामदायक पोजीशन में बैठ जाएं। 
  • -अपनी तर्जनी को अंगूठे के नीचे की ओर रखें।
  • -थोड़ा दबाव डालें।
  • -दोनों हाथों से अभ्यास करें।

 Inside3rdimage

iage credit: Styles At Life

इसी तरह आप ये सभी मुद्राएं करके बालों की कई समस्याओं से निजात पा सकते हैं। ये हाथ से की जाने वाली मुद्राएं तुरंत ही अपना असर करना शुरू कर देती हैं।  जिस हाथ में आप ये मुद्राएं बनाते हैं, शरीर के विपरीत हिस्से में उनका तुरंत असर होना शुरू हो जाता है। तो, बालों को स्वस्थ रखने के लिए ये मुद्राएं जरूर करें।  

Main image credit: Bellatory and Fitsri

Read more articles on Yoga in Hindi

Disclaimer