योग करने के पहले जान लें ये 13 जरूरी बातें, नहीं तो फायदे की जगह सेहत को हो सकते हैं कई नुकसान

यदि योग करने के पहले इन 13 सावधानियों को न बरता जाए तो होंगी मुश्किल, जानें इस बारे में एक्सपर्ट क्या कहते हैं।

Satish Singh
Written by: Satish SinghPublished at: Sep 07, 2021Updated at: Sep 07, 2021
योग करने के पहले जान लें ये 13 जरूरी बातें, नहीं तो फायदे की जगह सेहत को हो सकते हैं कई नुकसान

आज के दौर में फिट रहना बच्चों से लेकर बड़ों के लिए चुनौती है। योग स्वस्थ्य रहने का जरिया है, जिसे अपनाकर हम हेल्दी लाइफ जी सकते हैं। लेकिन योगासन करना इतना भी आसान नहीं है जितना हमें यह टीवी पर दिखता है। बिना किसी मार्गदर्शन और अपनी स्वास्थ्य समस्याओं को नजरअंदाज कर योग करें तो यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए आपको यह जानना जरूरी है कि किसे योग करना चाहिए, कब करना चाहिए, योग करने के पहले क्या करना चाहिए। किन-किन हेल्थ कंडीशन में इसे करना उचित है या नहीं। हरिद्वार में बाबा रामदेव के शिष्य रहे (प्रशिक्षण हासिल कर चुके) मगन लाल शर्मा जमशेदपुर व देश के सीआरपीएफ, रैफ के करीब 40 बटालियन के जवानों को योग सीखा चुके हैं और समय-समय पर ट्रेनिंग कैंप, योग शिविर लगा प्रशिक्षण देते हैं। इनसे जानते हैं कि योग के पहले क्या करें व क्या नहीं जानने के लिए पढ़ें यह आर्टिकल।

पांच साल से लेकर बुजुर्ग कर सकते हैं योग

मगन बताते हैं कि वैसे तो योग हर कोई कर सकता है। पांच साल के बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक। लेकिन कुछ खास बातों का ध्यान रखना जरूरी है। उन लोगों को योग नहीं करना चाहिए जिन्हें गंभीर बीमारी हो, हाल ही में सर्जरी करवाया हो। इसके लिए उन्हें एक्सपर्ट के मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। योग शरीर में ऊर्जा का संचार करता है। प्राणायाम, आसन, योग मुद्राएं आदि करने से व्यक्ति सामान्य की तुलना में ज्यादा ऑक्सीजन ले पाता है। ऐसे में शरीर स्वास्थ्य व तंदुरुस्त रहता है। योग करने वाले हर इंसान की आयु बढ़ती है और वो बीमारियों से दूर रहता है। हर किसी की कोशिश यही होनी चाहिए कि वो योग को एक्सपर्ट के मार्गदर्शन में ही करें। ताकि एक्सपर्ट लोगों की हेल्थ कंडीशन को ध्यान में रख उन्हें कैसे योग परफॉर्म करना है बता सकें। कठिन प्राणायाम व आसन को बिना एक्सपर्ट के मार्गदर्शन के नहीं करना चाहिए।

योग करने के पहले इन बातों का रखें ध्यान, नहीं होगी कोई दिक्कत

mistakes while yoga

1. शौच करने के बाद खाली पेट करें योग

योगा एक्सपर्ट मगन बताते हैं कि कभी भी खाना खाने के तुरंत बाद योग नहीं करना चाहिए। इसे करने का सबसे अच्छा समय सुबह और शाम होता है। सुबह शौच करने के बाद ही योगा करना चाहिए। शरीर में नाभि पावर हाउस की तरह है। शिशु के जन्म के समय वो खाना-पीना नाभि से ही करता है। जब हम कपालभाति करते हैं उस दौरान श्वास छोड़ने के क्रम में नाभि पर स्ट्रोक पड़ता है। यदि किसी व्यक्ति ने शौच नहीं किया है तो उसे दिक्कत हो सकती है। शौच करने के बाद योग करने से नाभि की ऊर्जा और मजबूत होती है। पेट खाली रहता है, आलस और नींद नहीं आती, एकाग्र होकर सिर्फ व सिर्फ योग पर फोकस कर सकते हैं, निर्णय लेने में सक्षम होते हैं और आत्मबल मजबूत होता है।

2. हमेशा भोजन करने के चार घंटे के बाद करें योग

कोशिश यही रहनी चाहिए कि खाने के चार घंटे के बाद योग करें। योगा एक्सपर्ट बताते हैं कि इतने समय में हमारा खाना पच जाता है और योग करने से फायदा होता है।

3. हार्ट, स्पाइन, हड्डियों के साथ सर्जरी करवाया हो तो न करें

यदि किसी व्यक्ति की हाल ही में सर्जरी हुई हो। हार्ट सर्जरी, स्पाइन सर्जरी, पैर-हाथ व जोड़ों की हड्डियों की सर्जरी हुई हो वैसे लोगों को डॉक्टर के कहे अनुसार डाइट व अन्य चीजें फॉलो करनी चाहिए। कोशिश करें कि छह से सात महीनों तक आप आराम करें। डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही योग करें। कठिन आसन न करें, एक्सपर्ट की सलाह लेकर व उनके मार्गदर्शन में ही योग करें। ऐसा करना उनकी सेहत के लिए लाभकारी होगा।

yoga after meal

4. हाई डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के मरीज न करें त्रिबंध योग

त्रिबंध योग जिसे त्रिबंधासन भी कहते हैं। इसे हाई डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को नहीं करना चाहिए। योगा एक्सपर्ट मगन के अनुसार इसे करते वक्त लंबी गहरी सांस लेकर, मल त्याग करने वाले जगह को संकुचित कर, पेट अंदर की ओर ले जाकर, ठुड्डी को कंठ से लॉक करते हैं। इस दौरान करीब 10 से 15 सेकेंड तक न तो सांस को छोड़ते और न ही लेते हैं। सांस को होल्ड कर रखते हैं। ऐसा करना डायबिटीज और ब्लड प्रेशर की बीमारी से ग्रसित मरीजों के लिए नुकसानदेह हो सकता है। क्योंकि इसमें श्वास लेने की प्रक्रिया में उसे कुछ समय तक रोकना पड़ता है। इससे ब्लड प्रेशर के मरीजों का बीपी बढ़ सकता है। डायबिटीज से ग्रसित लोगों का शुगर लेवल भी बढ़ सकता है। इसलिए हमेशा बिना एक्सपर्ट के योग नहीं करना चाहिए।

5. जिन्हें ब्लड प्रेशर की बीमारी है वो न करें शीर्षासन

योग एक्सपर्ट के अनुसार जिन लोगों को ब्लड प्रेशर की बीमारी है उन्हें शीर्षासन नहीं करना चाहिए। क्योंकि शीर्षासन में सिर जमीन से सटा होता है और पैर ऊपर की ओर होता है। ऐसा करने से शरीर का ब्लड फ्लो उल्टा प्रवाहित होता है। दीमाग में खून का फ्लो तेजी से होता है। इस बीमारी से पीड़ित लोग यदि यह आसन करें तो उन्हें ब्रेन हेमरेज हो सकता है।

6. नियमों के विपरित प्राणायाम करना है गलत

हर प्राणायाम को करने का अपना नियम है, इसके विपरित किया जाए तो स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। फायदे की बजाय नुकसान हो सकता है। एक्सपर्ट बताते हैं कि प्रकृति के अनुसार जब हम सांस लेते हैं तो छाती में सांस भरता है और अंदर की तरफ श्वास जाता है, जब छोड़ते हैं तो छाती बाहर की ओर जाता है। ठीक इसी प्रक्रिया को प्राणायाम में भी दोहराना है। चाहे पश्चिमोत्तानासन, हस्त पद्मासन सहित अन्य योग हो। जब भी कोई एक्सपर्ट के साथ में योग करता है और कहीं पर वो गलत तरीके से परफॉर्म करता है तो एक्सपर्ट उसे तुरंत सुधारते हैं। ऐसे में स्वास्थ्य संबंधी समस्या होने की संभावना कम होती है।

yoga and health

7. ठंड में नहीं करना चाहिए शीतली प्राणायाम

योगा एक्सपर्ट मगन बताते हैं कि शीतली प्राणायाम को शीतकारी प्राणायाम भी कहा जाता है। भारत के लोगों को इसे ठंड में कभी नहीं करना चाहिए। वैसे प्रदेश जहां सालभर ठंड रहती है वहां के लोगों को भी इसे परफॉर्म नहीं करना चाहिए। इस प्राणायाम को करने का सबसे सही समय गर्मियों का दिन है। इसे करने से शरीर ठंडा होता है। यदि कोई सर्दियों में इसे परफॉर्म करे तो उसे ठंड लग सकती है।

8. स्लिप डिस्क की समस्या से जूझने वाले न करें रीढ़ की हड्डी को मजबूत करने वाले आसन

योगा एक्सपर्ट बताते हैं कि वैसे लोगों को मेरुदंड योग नहीं करना चाहिए जो स्लिप डिस्क की समस्या-बीमारी या फिर रीढ़ की हड्डी से जुड़ी कोई अन्य बीमारी से जूझ रहे हो। मेरुदंड योग करने से उन्हें झुकना पड़े और रीढ़ की हड्डी की कोई नस दब जाए। इस समस्या से जूझ रहे लोगों को शलभासन, मकरासन जैसे आसन नहीं करना चाहिए। ऐसे लोग एक्सपर्ट की सलाह लेकर श्वास से जुड़े योग को लेटकर सकते हैं। वैसे इस बीमारी से पीड़ित लोगों को कोई भी योगा व आसन परफॉर्म करने की सलाह नहीं दी जाती है। क्योंकि इससे उनकी बीमारी बढ़ सकती है।

Yoga Practice

9. सर्वाइकल पेन से ग्रसित लोग क्या करें

एक्सपर्ट बताते हैं कि वैसे लोग जिन्हें सर्वाइकल पेन की समस्या है उन्हें भुजंगासन, आगे झुककर करने वाले आसन, मंडूकासनस सहित अन्य नहीं करना चाहिए। जानकारी के आभाव में उनकी बीमारी-समस्या बढ़ सकती है। ऐसे लोगों को हमेशा एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही योग करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : पेट में गैस ज्यादा बनती है तो रोज करें ये ये 3 योगासन, योग एक्सपर्ट से जानें करने का तरीका और फायदे

10. एक नजर में यह बरतें सावधानी

  • शौच करने के बाद करें योग
  • खाने के चार घंटों के बाद योग करें
  • समय फिक्स करें, उसी समय पर रोजाना योग करें, इससे लाभ ज्यादा होता है
  • लोगों में मिथ है कि योग से कुछ फायदा नहीं होता, यह गलत है
  • 40 साल के बाद के उम्र के लोगों को आहार में बदलाव लाना चाहिए, खाने में सादा भोजन, तेल-मसाला युक्त खाद्य पदार्थों का कम सेवन करें, अंकुरित चना खाएं, मैदा का सेवन कम करें, उबला खाना ज्यादा खाएं
  • कम से कम आठ घंटे की नींद जरूर लें
  • हमेशा एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही योग परफॉर्म करें

11. बुजुर्गों को इन बातों का रखना चाहिए ख्याल

एक्सपर्ट बताते हैं कि वैसे लोग जो चलने-फिरने में असमर्थ हैं या बुजुर्ग हैं वैसे लोगों को सूक्ष्म योगाभ्यास करना चाहिए। एक्सपर्ट की सलाह लेकर कपालभाति, अनुलोम-विलोम, भस्त्रिका प्राणायाम, उद्गीथ प्राणायाम करें। बुजुर्गों के लिए कोशिश यही रहनी चाहिए कि वो वैसे योग-आसन परफॉर्म न करें जिसको करने से उन्हें शारिरिक तौर पर दिक्क्त हो सकती है। योगा एक्सपर्ट के मार्गदर्शन में उन्हें योग करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : फैटी लिवर की समस्या में जरूर करें इन 4 योगासनों का अभ्यास, एक्सपर्ट से जानें फायदे

12. गर्भवती को ध्यान देने की जरूरत

बिना एक्सपर्ट के सलाह के गर्भवती महिलाओं को कभी भी योग-प्राणायाम नहीं करना चाहिए। इससे उनके सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। उनके स्वास्थ्य के साथ शिशु की जान तक को खतरा है। योगा एक्सपर्ट बताते हैं कि गर्भवती योग न करें एक्सपर्ट की सलाह लें और डॉक्टर की बताई बातों को फॉलो करें।

13. बिना एक्सपर्ट की मदद के न करें योग

हर व्यक्ति का शरीर अलग-अलग है। कई लोगों को विभिन्न प्रकार की बीमारियां भी हैं। ऐसे में वो यदि योग करना चाहे तो योगा एक्सपर्ट को अपनी समस्या बताए, उसके बाद उनके कहे अनुसार योग-आसन करें।

Inside Images Credits- Pixabay

Read More Articles on Diet or Yoga in Hindi

Disclaimer