बालों का स्टाइल, कलर और लुक बदलने का बेस्ट तरीका है 'हेयर रिबॉन्डिंग', जानें इसके फायदे, नुकसान और सावधानी

बालों के सौंदर्य और लुक्स के लिए आजकल हेयर रिबॉन्डिंग प्रचलन में है, इस प्रक्रिया से गुजरने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 17, 2021
बालों का स्टाइल, कलर और लुक बदलने का बेस्ट तरीका है 'हेयर रिबॉन्डिंग', जानें इसके फायदे, नुकसान और सावधानी

बालों का स्टाइल, कलर और लुक बदलने के लिए आजकल लड़कियों में हेयर रिबॉन्डिंग (Hair Rebonding) का चलन तेजी से बढ़ रहा है। हेयर रिबॉन्डिंग की मदद से बालों को स्ट्रेट, शाइनी और स्मूथ किया जाता है। मोटे, घुंघराले और कर्ली बालों के लिए यह ट्रीटमेंट फायदेमंद माना जाता है। यह एक ट्रीटमेंट है जिसमें तमाम केमिकल्स का प्रयोग कर बालों को नया लुक, स्टाइल और कलर दिया जाता है। इस प्रक्रिया को केमिकल स्ट्रेटनिंग भी कहते हैं। अधिकांश महिलाएं रेशमी, मुलायम और सीधे बालों के लिए इस ट्रीटमेंट का सहारा लेती हैं। हेयर रिबॉन्डिंग कैसे की जाती है? इसके फायदे और नुकसान क्या हैं और हेयर रिबॉन्डिंग के बाद बालों का ध्यान कैसे रखें? इस लेख में आइये जानते हैं इस सब सवालों के बारे में।

कैसे होती है हेयर रिबॉन्डिंग (Hair Rebonding Process)

तमाम रासायनिक उत्पादों का इस्तेमाल कर हेयर रिबॉन्डिंग की प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है। यह बालों को पतला, हल्का और सीधा करने की एक प्रक्रिया है। बाल प्रोटीन से बने होते हैं, ये डाइसल्फ़ाइड बॉन्ड से जुड़े होते हैं जिसकी वजह से बालों की संरचना बनती है जैसे सीधे या घुंघराले बाल। हेयर रीबॉन्डिंग एक ऐसी तकनीक है जिसके माध्यम से प्राकृतिक रूप से विकसित बालों को एक नयी संरचना दी जाती है। हेयर रिबॉन्डिंग करने के लिए स्टाइलिस्ट बालों को अच्छी तरह से धोते हैं और इसके बाद इसे अच्छी तरह से सुखाया जाता है। फिर ब्लो-ड्राई या हेयर डाई के इस्तेमाल से इस प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है। इस प्रक्रिया में इन चीजों का इस्तेमाल किया जाता है।

  • ब्लो ड्रायर (Blow Dryer)
  • भाप देने की मशीन (Steamer)
  • शैम्पू (Shampoo)
  • आयरन रॉड (Iron Rod)
  • न्यूट्रलाइजर (Neutralizer Machine)
hair-rebonding-process

हेयर रिबॉन्डिंग के फायदे (Benefits of Hair Rebonding)

हेयर रीबॉन्डिंग का सबसे प्रमुख लाभ यह होता है कि इसकी सहायता से आप अपने बालों को स्ट्रेट कर सकते हैं। बालों को सीधा यानि कि स्ट्रेट करने के लिए किये जाने वाले तमाम प्रक्रिया में से एक हेयर रिबॉन्डिंग अधिक समय तक फायदा देने वाली प्रक्रिया मानी जाती है। हेयर रिबॉन्डिंग से होने वाले कुछ प्रमुख लाभ या फायदे इस प्रकार से हैं।

  • बालों को स्ट्रेट करने में फायदेमंद।
  • रिबॉन्डिंग के बाद बाल चिकने और शाइनी दिखते हैं।
  • रिबॉन्डिंग के बाद बालों के स्टाइल को आसानी से बदला जा सकता है।
  • रिबॉन्डिंग लंबे समय तक फायदा देता है।

हेयर रिबॉन्डिंग से होने वाले नुकसान (Side Effects of Hair Rebonding)

side-effects-hair-rebonding

चूंकि हेयर रिबॉन्डिंग की प्रक्रिया में कई तरह के रासायनिक उत्पादों का इस्तेमाल किया जाता है इस वजह से इसके साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिलते हैं। बालों पर इन रसायनों के इस्तेमाल से बालों का टूटना, रूखा होना जैसे नुकसान हो सकते हैं। हेयर रिबॉन्डिंग के कुछ प्रमुख साइड इफेक्ट्स इस प्रकार से हैं।

  • - हेयर रिबॉन्डिंग से बालों के टूटने या झड़ने की समस्या शुरू हो सकती है। इस प्रक्रिया में इस्तेमाल होने वाले केमिकल स्कैल्प को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। 
  • - संवेदनशील त्वचा वाले लोगों में इसकी वजह से एलर्जी की समस्या शुरू हो सकती है।
  • - कुछ अध्ययन यह भी कहते हैं कि हेयर रिबॉन्डिंग ट्रीटमेंट कई बार लेने से स्तन कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • - कई तरह के बालों के लिए हेयर रीबॉन्डिंग अच्छा नहीं माना जाता। इस प्रक्रिया से पहले आपको अपने हेयर स्टाइलिस्ट से बात जरूर करनी चाहिए है। बालों की बनावट के हिसाब से ही इस प्रक्रिया को अपनाया जाता है।
  • - हेयर रिबॉन्डिंग के बाद बालों की बनावट और गुणवत्ता को बरकरार रखने के लिए नियमित रूप से टच-अप की जरूरत होती है।

हेयर रिबॉन्डिंग के दौरान इन बातो का जरूर रखें ध्यान (Precautions Before Getting Hair Rebonded)

हेयर रिबॉन्डिंग एक ट्रीटमेंट है जिसमें तमाम केमिकल युक्त उत्पादों का इस्तेमाल किया जाता है। हेयर रीबॉन्डिंग के दौरान कुछ बातों का ध्यान जरूर रखा जाना चाहिए।

  • - बालों की रिबॉन्डिंग से पहले कॉस्मेटोलॉजिस्ट से सलाह जरूर लेनी चाहिए।
  • - केमिकल युक्त उत्पादों की वजह से स्किन पर भी इसके नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं इसलिए रिबॉन्डिंग से पहले एलर्जी टेस्ट भी करना जरूरी माना जाता है।
  • - बालों की बनावट और संरचना के हिसाब से ही शैम्पू का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।
  • - नट्स और स्प्राउट्स से युक्त संतुलित, पौष्टिक आहार जरूर लेना चाहिए।
  • - इस प्रक्रिया के तुरंत बाद अपने बालों को कम से कम एक सप्ताह तक बांधना नहीं चाहिए।

हेयर रिबॉन्डिंग के बाद कैसे रखें बालों का ख्याल (How to Take Care of Rebonded Hair)

हेयर रिबॉन्डिंग के बाद बालों का अच्छी तरह ध्यान रखा जाना बेहद जरूरी होता है। हेयर रिबॉन्डिंग के साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए और रिबॉन्डिंग के बाद बालों को सुरक्षित रखने के लिए इन बातों को ध्यान में जरूर रखना चाहिए।

1. हेयर रिबॉन्डिंग के तुरंत बाद बालों को पानी से जरूर बचाना चाहिए। नहाते वक़्त बालों में वॉटरप्रूफ कैप का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। रिबॉन्डिंग के बाद तीन दिन तक बालों को पानी के संपर्क में आने से बचाना चाहिए।

2. रिबॉन्डिंग के बाद लगभग एक हफ्ते तक बालों में किसी भी प्रकार की क्लिप, जूड़ा या रबर बैंड भी नहीं लगाना चाहिए। इससे बालों के मुड़ने और ख़राब होने की संभावना होती है।

3. रिबोंडेड बालों को धूप और धूल से बचाना चाहिए। बालों की रिबॉन्डिंग के बाद धूप में आने से बालों पर पड़ने वाली अल्ट्रा वॉयलेट किरणें बालों को नुकसान पहुंचाती हैं। घर से बाहर निकलना यदि बेहद जरूरी है तो निकलने से पहले बालों में सीरम लगाएं और धूप में जाने से पहले बालों को जरूर ढकें।

4. रिबॉन्डिंग के तीन या चार दिन बाद बालों को धुलने के लिए बिना केमिकल वाले शैम्पू और कंडीशनर का ही इस्तेमाल करें। 

इसे भी पढ़ें : पुरुषों के लिए खास है ये 5 हेयर ऑयल, गर्मियों में भी बालों में नहीं होगी चिपचिपाहट

5. हेयर रिबॉन्डिंग के बाद कुछ दिनों तक बालों को कलर करने से बचना चाहिए। बालों को कलर करने वाले उत्पादों में पाए जाने वाले केमिकल बालों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

6. रिबॉन्डिंग के बाद कुछ दिनों तक बालों को साफ़ करने के लिए सिर्फ ठंढे पानी का ही इस्तेमाल करें। गर्म या गुनगुने पानी से बाल धोने की सलाह रिबॉन्डिंग के बाद नहीं दी जाती है।

7. रिबॉन्डिंग के बाद स्कैल्प्स को साफ़ रखना चाहिए, नियमित रूप से मालिश और साफ़-सफाई का ध्यान जरूर रखा जाना चाहिए।

8. बार-बार हेयर रिबॉन्डिंग ट्रीटमेंट से बचना चाहिए। हेयर रिबॉन्डिंग ट्रीटमेंट में तमाम रासायनिक तत्वों का इस्तेमाल किया जाता है जिसका बार-बार प्रयोग करने से बालों के टूटने या झड़ने की समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए बार-बार रिबॉन्डिंग करवाने से बचना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : अपने फ्रिजी हेयर्स से परेशान हैं? कॉस्मेटोलॉजिस्ट से जानें फ्रिजी फ्री हेयर्स के लिए जरूरी टिप्स

इस तरह से आप इन बातों को ध्यान में रखकर रिबॉन्डिंग के बाद अपने बालों का ख्याल रख सकते हैं। हमें उम्मीद है कि हेयर रिबॉन्डिंग के लेकर इस लेख में दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी। हेयर रिबॉन्डिंग से पहले और उसके बाद में जरूरी सावधानियों का पालन अवश्य करना चाहिए, ऐसा न करने पर इसके गंभीर दुष्परिणाम भी सामने आ सकते हैं। हेयर रिबॉन्डिंग से पहले विशेषज्ञ चिकित्सक या कॉस्मेटोलॉजिस्ट की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Read More Articles on Hair Care in Hindi

Disclaimer