आपकी इस एक गलती से पत्‍ता गोभी का सेवन हो सकता है जानलेवा, पकाने से पहले बरतें ये सावधानी

Cabbage Worms: अगर आप बंद गोभी या पत्‍ता गोभी की सब्‍जी खाना पसंद करते हैं तो पकाने से पहले इसे अच्‍छी तरह से जरूरी धोएं। 

 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Apr 18, 2020
आपकी इस एक गलती से पत्‍ता गोभी का सेवन हो सकता है जानलेवा, पकाने से पहले बरतें ये सावधानी

पत्‍ता गोभी या बंद गोभी (Cabbage) एक सब्‍जी है, जिसे अधिकांश लोग खाना पसंद करते हैं। कुछ लोग इसे सलाद के रूप में और चाउमीन और बर्गर के साथ भी खाया जाता है। लेकिन, कई बार हम इस बात से अंजान होते हैं कि पत्‍ता गोभी हमारी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है, बल्कि ये जानलेवा भी साबित हो सकता है। इस मुद्दे पर अक्‍सर बहस भी होती रही है कि क्‍या बंद गोभी वाकई हानिकारक हो सकता है? दरअसल, बंद गोभी में कई परत होती है, जिसे कीड़े छिपे हो सकते हैं, जो आंखों से दिखाई नहीं देते हैं। ये काफी सूक्ष्‍म होते हैं। ये एक प्रकार के परजीवी होते हैं जो दूसरों के शरीर के अंदर जीवित रह सकते हैं, जिन्‍हें टेपवर्म (Tapeworm) या फीताकृमि के नाम से जाता है।                                                                                                                                         

gobhi

बीबीसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि, बंद गोभी के पत्‍तों में टेपवर्म हो सकते हैं। फीताकृमि न सिर्फ बंद गोभी में बल्कि उन सब्जियों में भी हो सकते हैं, खासकर जो जमीन पर उगाई जाती हैं। ऐसे में टेपवर्म का खतरा इनमें अधिक होता है। इसीलिए गोभी और अन्‍य सब्जियों को अच्‍छी तरह से धोकर और पकाकर खाने की सलाह दी जाती है। अक्‍सर देखा गया है कि लोग सब्‍जी बनाने से पहले गोभी को साधारण पानी से धोते हैं।

इसे भी पढ़ेंः गर्मियों में इन 2 ड्राई फ्रूट का सेवन आपकी सेहत पर पड़ सकता है भारी, जानें इनके सेवन से होने वाली परेशानियां

गोभी कब हानिकारक हो जाती है? 

दरअसल, अगर गोभी में टेपवर्म मौजूद होते हैं और उन्‍हें बिना अच्‍छी तरह से धोए या अधपका खाते हैं तो शरीर में परजीवी के प्रवेश करने की संभावना बढ़ जाती है। जब टेपवर्म शरीर में पहुंचता है तो यहां तेजी से इनकी संख्‍या में वृद्धि होने लगती है, और ये आंतों को भेदते हुए ब्‍लड वेसेल्‍स में प्रवेश कर जाते हैं। इसके बाद ये खून के जरिए शरीर के अन्‍य अंगो तक इनका पहुंचना आसान हो जाता है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, यह कई बार हमारे मस्तिष्‍क और लिवर तक में पहुंच जाते हैं, जिसके कारण शरीर में कई लक्षण दिखाई देने लगते हैं, जिनमें उल्‍टी, दस्‍त, चक्‍कर आना, पेट दर्द और सांस फूलने जैसी तकलीफ देखने को मिलती है। 

phoolgobhi 

ऐसे में इससे बचने का एक मात्र तरीका यही हो सकता है कि आप पकाने से पहले अच्‍छी तरह से धोएं और खाने से पहले अच्‍छी तरह से पकाएं। हालांकि, टेपवर्म बारिश के मौसम में ज्‍यादा एक्टिव रहते हैं, मगर सावधानी के लिए जरूरी है कि आप हर मौसम में जब भी सब्‍जी को बनाएं उसे अच्‍छी तरह से जरूर धोएं। आमतौर पर टेपवर्म पत्ता गोभी के अलावा फूल गोभी, धनिया, पालक, मछली, पोर्क और बीफ आदि में पाया जाता है।

इसे भी पढ़ेंः टेस्टी और हेल्दी होने के साथ इन गंभीर बीमारियों को दूर करने का काम करते हैं ये 4 फूड, जानें होने वाले फायदे

बंदगोभी बनाने से पहले उसे कैसे धोएं: How to Wash Cabbage Before Cooking?

आमतौर पर गोभी के अंदर का हिस्सा साफ होता है क्योंकि बाहरी परत इसे बचाती हैं, फिर भी आप इसे साफ करना चाह सकते हैं तो मोटी रेशेदार बाहरी पत्तियों को हटा दें और गोभी को टुकड़ों में काट लें और फिर पानी से धोएं। यदि आपको कीड़े या परजीवी होने की संभावना दिखाई देती है, तो पहले 15-20 मिनट के लिए नमक पानी या सिरके के पानी में भिगोएं। इसकी विटामिन सी सामग्री को संरक्षित करने के लिए, गोभी को पकाने या खाने से ठीक पहले धो लें। चूंकि गोभी में फाइटोन्यूट्रिएंट्स कार्बन स्टील के साथ प्रतिक्रिया करते हैं और पत्तियों को काला करते हैं, काटने के लिए स्टेनलेस स्टील के चाकू का उपयोग करें।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer