नॉर्मल डिलिवरी के लिए जरूरी है वजाइना का फीट होना, जानें फैट वजाइना को फिट बनाने के 2 एक्सरसाइज

वजाइना की साइज और फैट को लेकर बहुत कम ही महिलाएं बात करती हैं, पर ये बातें जरूरी है क्योंकि ये हेल्थ से जुड़ी परेशानियां पैदा करती हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 01, 2020Updated at: Jul 19, 2021
नॉर्मल डिलिवरी के लिए जरूरी है वजाइना का फीट होना, जानें फैट वजाइना को फिट बनाने के 2 एक्सरसाइज

महिलाएं अपने वैजाइनल हेल्थ को लेकर बात करने में अक्सर हिचकिचाती हैं। वजाइनल फैट, महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़ा एक ऐसा ही मुद्दा है, जिसे लेकर अक्सर महिलाएं बात नहीं करती हैं। दरअसल महिलाओं का ध्यान वजाइनल साइज पर बहुत कम ही जाता है। उन्हें ये भी मालूम नहीं होता है कि वजाइनल एरिया का फैट बढ़ता भी है, जो आगे चलकर प्रेग्नेंसी के दौरान परेशान करता है।

Insidepregnancy

वास्तव में, वैजाइनल एरिया में उम्र बढ़ने के साथ धीमे-धीमे फैट जमा हो जाता है। वैसे तो ये कोई बड़ी परेशानी की बात नहीं लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान ये महिलाओं को परेशान कर सकता है। हाल ही में आए में रिपोर्ट की मानें, तो वजाइनल फैट के कारण नॉर्मल डिलिवरी होने में परेशानी आती है और 92% महिलाओं को इसके कारण सी-सेक्शन की मदद लेनी पड़ती है।

वैजाइनल फैट और सी-सेक्शन डिलीवरी 

सी-सेक्शन डिलीवरी के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन वजाइना में अधिक मात्रा में फैट जमा हो जाने से महिलाओं को नॉर्मल डिलिवरी में परेशानी आती है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि वजन का ज्यादा बढ़ जाना बर्थ केनाल में कई परेशानियां  पैदा करता है, जिससे यह संकरा हो जाता है। इसके कारण, बच्चे के लिए वजाइना से आमार से बाहर आना मुश्किल हो जाता है और डॉक्टरों को दूसरे ऑप्‍शन के रूप में सी-सेक्शन डिलीवरी  को चुनना पड़ता है । ऐसे में जरूरी हो जाता है कि अगर आप प्रेग्नेंसी प्लान कर रही हैं, तो आपको अपने वैजाइनल फैट पर भी एक नजर डालें। वहीं अगर से आपको ज्यादा लगता है, तो आप इस फैट को कम करने के लिए एक्सरसाइज और सही योगासन की मदद ले सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान कितना होना चाहिए वजन? जानें मां और शिशु के स्वास्थ्य के लिए 9 जरूरी पोषक तत्व

वैजाइनल फैट को कम करने की एक्सरसाइज

नियमित व्यायाम आपको वैजाइनल एरिया में भी वजन कम करने और मांसपेशियों को टोन करने में मदद कर सकता है। आपको यह जानकर आश्चर्य हो सकता है कि अगर आपका वजन कम होने लगे तो मॉन्स प्यूबिस का आकार स्वाभाविक रूप से कम हो जाता है। आप अपने निचले क्षेत्र को लक्षित करने वाले व्यायाम भी कर सकते हैं, जो कि यहां कि मांसपेशियों की टोनिंग करें, इसका निर्माण करे और मॉन्स प्यूबिस को ऊपर की ओर खींचने में मदद करे। इसके लिए आप इन एक्सरसाइज की मदद ले सकते हैं।

1. बटरफ्लाई पोज

  • -इसे करने के लिए अपनी पीठ पर लेट जाएं और पैरों के साथ V का शेप बनाएं।
  • -अपने पैरों को दोनों तरह फैला लें अपने पैर की उंगलियों को छूने की कोशिश करें।
  • -बार-बार इसी V शेप में  पैर की उंगलियों को छूने की कोशिश करते रहें।
  • -फिर पैरों को जमीन पर दोनों तरह फैला लें, तितली की तरह और फिर आगे-पीछे छूकते हुए एक्सरसाइज करें।
Insideexerciseforvaginlhealth

इसे भी पढ़ें : पीरियड्स के दर्द में ट्राई करें ये सेल्फ एक्युप्रेशर टिप्स, एब्डोमिनल पेन और मूड स्विंग्स से भी मिलेगी राहत

2. जंपिंग जैक

  • -जंपिंग जैक बहुत ही आसाना एक्सरसाइज है। इसे लगातार करने से ये पूरे शरीर की कैलोरी को कम करने में मदद कर सकता है।
  • -इसके लिए अपने दोनों पैरों को बाहर निकालें, कूदें और फिर अंदर ले लें।
  • -आप प्लैंक के साथ भी जंपिंग जैक कर सकती हैं।

वजन कम करने और मांसपेशियों के निर्माण में समय लगता है, इसलिए थोड़ा धैर्य रखें। इसी तरह वैजाइनल फैट को कम करना भी आसान नहीं है। आपको ये तीनों एक्सरसाइज लगातार करते रहना होगा और आप पाएंगी कि इससे आपके जांघों का फैट भी कम हो जाएगा और आपको हल्का भी महसूस होगा।

Read more articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer