मिल्‍खा सिंह जैसा धावक बनना चाहते हैं तो खाएं ये सब्‍जी

अगर आप भी एक अच्‍छा धावक बनना चाहते हैं तो अपने डाइट में परिवर्तन लाइए। वैज्ञानिक नजरिए से देखा जाए तो कुछ खान-पान ऐसे हैं जिसके सेवन से आप बहुत ही अच्‍छे धावक बन सकते हैं।

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
स्वस्थ आहारWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Nov 22, 2016
मिल्‍खा सिंह जैसा धावक बनना चाहते हैं तो खाएं ये सब्‍जी

अगर आप भी मिल्‍खा सिंह और उसैन बोल्‍ट जैसा धावक बनने का सपना देख रहे हैं तो आज ही अपने खान-पान को बदल दीजिए। जी हां, धावक बनने के लिए आप जो भी डाइट ले रहें उसके साथ चुकंदर खाना भी शुरू कर दीजिए या आप इसका जूस भी पी सकते हैं। इसके सेवन से आप इन महान खिलाडि़यों की तरह हवा में दौड़ते नजर आएंगें। एक शोध में वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि चुकंदर में पाए जाने वाले विटमिन्‍स और मिनरल्‍स दौड़ने की क्षमता में तेजी से वृद्धि करते करते हैं।

इसे भी पढ़ें : कौन सा चॉकलेट है हेल्‍दी ? वाइट, मिल्‍क या डार्क !

beet.

दरअसल, ब्रिटेन के एक्सेटर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अपने शोध में दावा किया है कि चुकंदर का रस पीने से 20 मीटर की दौर लगाने वाले धावकों के प्रदर्शन में दो फीसदी का सुधार आता है। यह देखने में बहुत कम लगे, लेकिन एथलेटिक्स जैसे प्रतिस्पर्धात्मक खेल में दो फीसदी का सुधार काफी मायने रखता है जहां जीत और हार में सिर्फ कुछ पलों का फासला होता है। चुकंदर खाने से खिलाड़ियों की दौड़ के साथ लंबी कूद और ऊंची कूद की क्षमता भी बढ़ती है।

शोधकर्ताओं की मानें तो चुकंदर में पाया जाने वाला नाइट्रेट मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। इससे खिलाड़ियों की सहनशक्ति तो बढ़ती ही है, उन्हें अधिक मेहनत करने की ऊर्जा भी मिलती है और प्रदर्शन में सुधार होता है। इस अध्ययन के मुख्य शोधकर्ता एंड्रयू जोन्स ने कहा कि यह शोध नाइट्रेट के कारण खिलाड़ियों के प्रदर्शन में सुधार का आकलन करने के लिए किया गया था।

इस शोध में शामिल लोगों को दो अलग-अलग समूहों में बांटा गया। दोनों समूह के लोगों को पहले 20 मीटर दौड़ाकर समय मापा गया। बाद में दोनों समूह के प्रतिभागियों को चुकंदर का जूस पिलाया गया। एक समूह को जो जूस दिया गया उसमें नाइट्रेट मौजूद था, जबकि दूसरे समूह के प्रतिभागियों को बिना नाइट्रेट के जूस दिया गया। इसके बाद दोनों समूहों को दौड़ने के लिए कहा गया, जिसमें देखा गया कि नाइट्रेटयुक्त जूस पीने वाले प्रतिभागियों के प्रदर्शन में दो फीसदी का सुधार आया।

बुजुर्गों के लिए है फायदेमंद

उम्र के साथ हड्डियां और मांसपेशियां दोनों कमजोर होने लगती है। ऐसे में बुजुर्ग ठीक तरह से चल फिर नही पाते हैं। पैर में कभी दर्द और कभी थकान महसूस होता है। ऐसे में अगर उन्‍हें भी चुकंदर का रस दिया जाए तो उन्‍हें भी इसका चम‍त्‍कारिक परिणाम मिलेगा।

Image Source : Getty
Read More Articales on Healthy Eating in Hindi

Disclaimer