बालों में केमिकल वाला हेयर कलर लगाने के होते हैं ये 5 नुकसान, जानें बचाव के उपाय

Disadvantages Of Applying Chemical Hair Color: बालों में केमिकल वाले हेयर कलर लगाने से शरीर को कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। 

Deepshikha Singh
Written by: Deepshikha SinghUpdated at: Nov 17, 2022 13:00 IST
बालों में केमिकल वाला हेयर कलर लगाने के होते हैं ये 5 नुकसान, जानें बचाव के उपाय

Disadvantages Of Applying Chemical Hair Color: अधिकतर लोग सफेद बालों को छिपाने और फैशन के लिए बालों में केमिकल वाले कलर करवाते हैं। आजकल बालों को कलर करवाना स्टाइल स्टेटमेंट बन गया हैं। कई बार जल्दी-जल्दी कलर करवाने से बालों के साथ स्किन को नुकसान होता हैं। इन हेयर कलर के इस्तेमाल से बाल ड्राई होने के साथ काफी ज्यादा झड़ने भी लगते हैं। ये केमिकल वाले हेयर कलर करवाने से बालों को नुकसान होने के साथ स्कैल्प को भी रूखा बनाते हैं। हेयर कलर लगाने से शरीर में कई तरह की बीमारियां होने का खतरा कई गुना बढ़ जाता हैं। वहीं केमिकल वाले हेयर कलर आंखों के लिए भी काफी नुकसानदायक होते हैं। आइए जानते हैं इस आर्टिकल में केमिकल वाले हेयर कलर करवाने के नुकसान के बारे में। 

सांस लेने में दिक्कत

अगर आपको अस्थमा की परेशानी हैं, तो आपको हरगिज केमिकल वाले हेयर कलर नहीं करना चाहिए। क्योंकि अस्थमा के मरीजों में केमिकल्स की वजह से सांस लेने में दिक्कत हो सकती हैं। हेयर कलर में पाए जाने वाला पर्सुल्फेट सांस लेने की परेशानी को बढ़ाता है।

आंखों के लिए नुकसानदायक

केमिकल वाले हेयर कलर के नियमित इस्तेमाल से आंखों को नुकसान हो सकता हैं। जब हम हेयर कलर लगाते हैं, तो वह आंखों में जा सकता हैं। जिससे आंखों की रोशनी पर असर पड़ सकता हैं। केमिकल वाले हेयर कलर में पाए जाने वाले रसायन रेटिना को सीधा नुकसान पहुंचाते हैं। 

बाल झड़ने की परेशानी

केमिकल वाले हेयर कलर के इस्तेमाल से बाल बहुत अधिक झड़ते हैं। हेयर कलर में पाए जाने वाला केमिकल बालों को नुकसान पहुंचाता हैं। जिससे काफी मात्रा में बाल झड़ते हैं। नियमित हेयर कलर लगाने से बालों की क्वालिटी भी प्रभावित होती है और स्कैल्प भी ड्राई होता है।

hair color

बालों की ग्रोथ होती हैं प्रभावित

बालों पर केमिकल हेयर कलर लगाने से बालों की ग्रोथ रोक जाती हैं। जिस कारण वो जल्दी बड़े नहीं होते है। हेयर कलर में मौजूद केमिकल्स बालों की ग्रोथ को बहुत प्रभावित करते हैं। हेयर कलर लगाने से बाल कमजोर भी होते हैं और रूखे और बेजान भी हो जाते हैं।

इसे भी पढ़ें- Winter Skin Care: सर्दियों में स्किन का कालापन दूर करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

स्किन एलर्जी

अगर आपको स्किन एलर्जी की परेशानी हैं, तो हेयर कलर लगाने से बचना चाहिए। हेयर कलर में मौजूद अमोनिया स्किन एलर्जी को बढ़ाता है। कई बार हेयर कलर लगाते समय वह गर्दन या स्किन पर गिर जाता हैं। ऐसे जगहों पर खुजली और लाल दानों की समस्या हो सकती हैं। अगर आपकी स्किन सेंसिटिव हैं, तो हेयर कलर लगाने से बचें।

केमिकल वाले हेयर कलर से बचाव के उपाय

अगर आप केमिकल वाले हेयर कलर का इस्तेमाल करते हैं और आपको त्वचा में दाने,रेडनेस और खुजली आदि की समस्या लगे, तो इस पर एलोवेरा जेल और शहद का इस्तेमाल किया जा सकता हैं। इनका इस्तेमाल करने से त्वचा में ठंडक और खुजली की समस्या दूर होगी। 

केमिकल वाले हेयर कलर शरीर को बहुत नुकसान पहुंचाते हैं। इसका इस्तेमाल करने से पहले ब्यूटी एक्सपर्ट की सलाह अवश्य लें। 

All Image Credit- Freepik

Disclaimer