चीनी की जगह खांड का इस्तेमाल है ज्यादा सेहतमंद, जानें इसके फायदे और बनाने की विधि

चीनी की जगह खांड का इस्तेमाल खाने में मिठास लाने के साथ-साथ सेहत के लिए बेहद उपयोगी होता है। ऐसे में जानते हैं इसके फायदे और बनाने की विधि...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jun 23, 2021Updated at: Jun 23, 2021
चीनी की जगह खांड का इस्तेमाल है ज्यादा सेहतमंद, जानें इसके फायदे और बनाने की विधि

कुछ लोग होते हैं, जिन्हें चाय या कॉफी में चीनी ना होने पर फर्क नहीं पड़ता लेकिन अधिकतर लोग चीनी की मिठास के बिना खाने पीने की चीजों को बेस्वाद मानते हैं। लेकिन चीनी के कारण होने वाले कुछ नुकसान उन्हें डाइट में चीनी की मात्रा को कम करने पर मजबूर कर देते हैं। ऐसे में यह लोग खांड का प्रयोग अपने आहार में कर सकते हैं। अब सवाल ये है कि खांड क्या है? पुराने समय में खांड के उपयोग से ही आहार में मिठास लाई जाती थी लेकिन चीनी के बाद से इसका इस्तेमाल कम होता चला गया। एक्सपर्ट की मानें तो खांड का इस्तेमाल चीनी की जगह किया जा सकता है। वहीं मधुमेह के रोगी भी इसका सेवन सीमित मात्रा में कर सकते हैं। चीनी की जगह पर खांड का प्रयोग खाने मैं स्वाद और मिठास दोनों डालता है। साथ ही यह सेहत के लिहाज से भी बेहद फायदेमंद है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि खांड के प्रयोग से सेहत को कैसे फायदा होता है। साथ ही इसे बनाने की विधि और चीनी की जगह पर किन चीजों का उपयोग मिठास के लिए किया जा सकता है, इस पर है। इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( wellness expert and nutritionist varun katyal) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

खांड के फायदे (Organic Sugar Benefits)

बता दें कि खांड के अंदर जरूरी मिनरल्स कैल्शियम, आयरन, फाइबर, मैग्नीशियम, एंटीऑक्सीडेंट तत्व, अनेक विटामिंस आदि मौजूद होते हैं। ऐसे में ये सेहत के लिए निम्न तरीकों से फादेमंद हैं-

1 - जोड़ों के दर्द से राहत- हड्डियों और दातों के लिए कैल्शियम बेहद जरूरी तत्व होता है। ऐसे में खांड के अंदर भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। इसके सेवन से जोड़ों का दर्द, अर्थराइटिस, हड्डियों की समस्या, दांतों की कमजोरी आदि समस्याओं को दूर रखा जा सकता है।

2 - पाचन क्रिया को बनाएं तंदुरुस्त- खांड के अंदर फाइबर भी पाया जाता है। ऐसे में इसके सेवन से पेट की सफाई, विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालना, पाचन क्रिया को तंदुरुस्त बनाना आदि आते हैं।

3 - मांसपेशियों और नसों के लिए - खांड के अंदर मैग्नीशियम पाया जाता है जो न केवल हड्डियों के लिए फायदेमंद है बल्कि ये मांसपेशियों और नसों के लिए भी जरूरी तत्व है। ऐसे में इंसुलिन के स्राव के लिए भी एक अच्छा विकल्प है।

4 - खून की कमी को करे पूरा - खांड के अंदर आयरन मौजूद होता है जो न केवल खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा बनाए रखता है बल्कि एनीमिया की कमी की समस्या से भी दूर रखता है। ऐसे में इसके सेवन से शरीर में खून की कमी को पूरा किया जा सकता है।

5 - नर्वस सिस्टम की सेहत के लिए बेहतर - खांड के अंदर पोटेशियम मौजूद होता है। पोटेशियम के उपयोग से शरीर में पानी का संतुलन बनाया जा सकता है साथ ही ये तत्व नर्वस सिस्टम को स्वस्थ रूप से काम करने में मदद करता है। बता दें कि दिल की सेहत और किडनी के लिए भी पोटेशियम बेहद महत्वपूर्ण स्रोत है।

इसे भी पढ़ें- गर्मी में चीनी की जगह इस्तेमाल करें ये 5 मीठी चीजें, डायबिटीज और मोटापा कंट्रोल करने में मिलेगी मदद

सेहत के लिए खांड कैसे है हेल्दी?

ध्यान दें कि देसी खांड भी चीनी की तरह गन्ने के रस से बनती है लेकिन चीनी को अधिक रिफाइन किया जाता है। ऐसे में चीनी के अंदर मौजूद फाइबर और पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। जबकि खांड को कम रिफाइन किया जाता है इसीलिए इसके पोषक तत्व सुरक्षित रहते हैं। वहीं खांड को बनाने के लिए किसी केमिकल का इस्तेमाल भी नहीं किया जाता है। इसीलिए खांड को चीनी से बेहतर कह सकते हैं। बता दें  कि चीनी को तैयार करने में अधिक प्रोसेसिंग और केमिकल का इस्तेमाल होता है वहीं खांड शरीर को ठंडक पहुंचाता है। खांड में चीनी के मुकाबले मिठास कम होती है। ऐसे में अधिक मिठास के लिए आपको अगर चीनी की एक चम्मच लेते हैं तो खांड की डेढ़ चम्मच ले सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- चीनी में भी शुगर होता है और फलों में भी, फिर फल फायदेमंद क्यों होते हैं और चीनी क्यों है नुकसानदायक?

कैसे तैयार होता है खांड?

गन्ने की रस को गर्म करने के बाद उसे मशीन के माध्यम से लगभग 3 दिनों तक लगातार चलाते हैं। अब पानी और दूध के जरिए इसका मैल अलग करें। आप गाय के दूध का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अब बने मिश्रण की देसी घी से घुटाई करते हैं और थोड़ी देर घुटाई करने के बाद खांड तैयार हो जाता है। अब खांड को सुखाएं और बने पाउडर का इस्तेमाल करें। खांड को ज्यादा रिफाइन नहीं किया जा सकता।

इसे भी पढ़ें- अधिक चीनी का सेवन पहुंचा सकता है सेहत को नुकसान, डायबिटीज के साथ-साथ बढ़ जाता है दिल की बीमारियों का खतरा

चीनी की जगह मिठास के लिए अन्य विकल्प कौन-से हैं?

1 - चीनी की जगह शहद का इस्तेमाल आप मिठास के लिए कर सकते हैं। शहद ना केवल दिल की सेहत के लिए अच्छा है बल्कि ये वजन कम करने के लिए भी बेहद उपयोगी है।

2 - चीनी की जगह ब्राउन शुगर का इस्तेमाल एक बेहतर विक्लप है। ब्राउन शुगर इम्यूनिटी को बढ़ाता है और शरीर को बीमारियों से शरीर को बचा सकता है।

3 - आप मिठास के लिए चीनी की जगह खजूर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं यह सेहत के लिए बेहद उपयोगी है मधुमेह के रोगी भी इसका सेवन कर सकते हैं ऐसे में आप छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर इसका सीरप तैयार करें और मिठास के लिए इस्तेमाल करें।

4 - मिठास के लिए देसी खांड के साथ-साथ मिश्री का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह भी पोषक तत्वों से भरपूर है।

5 - मिठास के तौर पर फलों का सत्व इस्तेमाल भी किया जा सकता है। प्राकृतिक मिठास के तौर पर इसका इस्तेमाल सेहत के लिए बेहद उपयोगी है।

6 - गुड़ का पाउडर भी मिठास के लिए एक बेहतर उपयोगी है। 

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि चीनी की जगह पर कुछ ऐसी चीजें हैं जिनका उपयोग मिठास को आहार में जोड़ने के लिए किया जा सकता है। लेकिन बता दें उनमें भी मिठास होती है साथ ही कैलोरीज की मात्रा भी पाई जाती है ऐसे में इन चीजों का भी अधिक मात्रा में सेवन नुकसानदेह हो सकता है। सबसे पहले इन चीजों को अपनी डाइट में शामिल करने के लिए सीमित मात्रा की जानकारी दें। उसके बाद आहार में जोड़ें। 

 ये लेख न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( wellness expert and nutritionist varun katyal) से बातचीत पर आधारित है।

Read More Articles on healthy diet in hindi

Disclaimer