राजधानी दिल्ली में डेंगू अलर्ट: इस साल 143 मामले दर्ज, जानें क्या कह रहा बीते 5 सालों का डेटा

राजधानी दिल्ली में बारिश का मौसम शुरू होते ही डेंगू अलर्ट शुरू हो जाता है, बीते कुछ सालों के आंकड़ों से समझते हैं दिल्ली में डेंगू का हाल।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 07, 2022Updated at: Jul 11, 2022
राजधानी दिल्ली में डेंगू अलर्ट: इस साल 143 मामले दर्ज, जानें क्या कह रहा बीते 5 सालों का डेटा

Dengue Alert in Delhi: बारिश का मौसम शुरू होते ही राजधानी दिल्ली के लोगों पर डेंगू बुखार का कहर शुरू हो जाता है। डेंगू एक गंभीर बीमारी है, जो एडीज इजिप्टी मच्छरों के काटने से होता है। इस बीमारी में मरीज को तेज बुखार और शरीर पर चकत्ते बनने लगते हैं। डेंगू के मच्छर गंदगी वाले इलाके और जलभराव के कारण तेजी से पनपते हैं। राजधानी दिल्ली में बारिश का मौसम शुरू होते ही डेंगू के हजारों मामले आने शुरू हो जाते हैं। सरकार की तरफ से डेंगू की बीमारी को लेकर कई अभियान चलाये जा रहे हैं, लेकिन लगातार हो रहे प्रयासों के बाद भी राजधानी दिल्ली के लोगों को डेंगू के कहर से छुटकारा नहीं मिल पाया है। दिल्ली में दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) मच्छर जनित बीमारियों को नियंत्रित करने के लिए एक नोडल एजेंसी के रूप में काम करती है। एमसीडी द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में इस साल जून महीने में डेंगू के 32 नए मामले दर्ज किये गए हैं। नए मामलों के दर्ज होने के बाद इस साल डेंगू के कुल 143 मरीज अब तक मिल चुके हैं। आइए जानते हैं राजधानी में डेंगू की स्थिति और बीते 5 सालों का रिकॉर्ड।

दिल्ली में डेंगू के मामले (Dengue Cases in Delhi)

राजधानी दिल्ली डेंगू की बीमारी के लिए एक हॉटस्पॉट बना हुआ है। बीते कई सालों से दिल्ली के लोगों को इस बीमारी के कहर से जूझना पड़ता है। डेंगू के मच्छरों को पनपने से रोकने के लिए सरकार ने कई कदम उठाए हैं, लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए उन्हें अधिक प्रभावी नहीं माना जा सकता। आइए पिछले साल 2015 से अब तक के आंकड़ों से समझने की कोशिश करते हैं राजधानी दिल्ली में डेंगू की स्थिति।

dengue fever outbreak cases in delhi

इसे भी पढ़ें: डेंगू और टाइफाइड के लक्षणों में अंतर: डॉक्टर से जानें इनके लक्षण और बचाव के टिप्स

2015 में डेंगू के मामले- सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक राजधानी दिल्ली में साल 2015 के दौरान डेंगू के कुल 15867 मामले दर्ज किये थे। इस साल दिल्ली में डेंगू बुखार के कारण कुल 60 लोगों की मौत भी हुई थी। 2015 में दिल्ली में डेंगू के मामलों ने कई सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया था। इस साल अकेले अक्टूबर के महीने में डेंगू के मामले 10 हजार से ज्यादा थे। साल 1996 के बाद दिल्ली में डेंगू का सबसे बड़ा आउटब्रेक 2015 में हुआ था।

2016 में डेंगू के मामले- राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 2016 के दौरान डेंगू के 4,431 मामले दर्ज किये गए थे, इस साल दिल्ली में डेंगू बुखार की वजह से 10 लोगों की मौत दर्ज की गयी थी। 

2017 में डेंगू के मामले- साल 2017 में राजधानी दिल्ली में डेंगू के मामलों में बढ़ोत्तरी देखने को मिली थी। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक इस साल राजधानी में डेंगू के 9,271 मामले दर्ज किये गए थे, और 10 लोगों की मौत दर्ज हुई थी।

2018 में डेंगू के मामले- साल 2018 में जारी आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक राजधानी दिल्ली में इस साल के दौरान डेंगू बुखार के 7136 मामले सामने आए थे, डेंगू बुखार से इस साल कुल 4 मरीजों की मौत दर्ज की गयी थी।

dengue fever data in delhi

2019 में डेंगू के मामले- आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक साल 2019 में डेंगू के मामले 5,077 थे और इसकी वजह से किसी भी मरीज की मौत दर्ज नहीं की गयी थी।

2020 में डेंगू के मामले- राजधानी दिल्ली में साल 2020 के दौरान डेंगू के सबसे कम मामले दर्ज किये गए थे। आंकड़ों के मुताबिक इस साल दिल्ली में डेंगू के 1,269 मामले सामने आए थे और किसी भी मरीज की मौत नहीं दर्ज हुई थी।

2021 में डेंगू के मामले- साल 2021 के दौरान दिल्ली में डेंगू के प्रकोप ने एक बार फिर रिकॉर्ड तोड़ दिया था। इस साल राजधानी दिल्ली में 13089 डेंगू के मामले दर्ज किये गए थे और 23 मरीजों की मौत हुई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली में साल 2021 के दौरान जनवरी (0), फरवरी (2), मार्च (5), अप्रैल (10) और मई (12), जून (7), जुलाई (16) और अगस्त (72) मामले सामने आए थे।

deaths due to dengue in delhi

इसे भी पढ़ें: बच्चों में डेंगू बुखार के हो सकते हैं ये 3 स्टेज, जानें इनके लक्षण

साल 2022 में अब तक डेंगू के मामले- आंकड़ों के मुताबिक राजधानी दिल्ली में अब तक कुल 143 मामले दर्ज किये गए हैं। इस ससाल जून महीने में ही डेंगू के 32 मामले दर्ज हुए हैं। मलेरिया रोधी अभियान (मुख्यालय) की एक रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली में जनवरी के महीने में डेंगू के 23 मामले, फरवरी महीने में 16, मार्च में 22, अप्रैल में 20 और मई में 30 मामले दर्ज किये गए हैं। 

साल 2015 से लेकर अब तक दर्ज किये गए आंकड़ों के मुताबिक राजधानी दिल्ली में डेंगू के प्रकोप से 123 लोगों की आधिकारिक मौत हुई है। इन सालों में राजधानी दिल्ली में डेंगू के 56,283 मामले सामने आए हैं। डेंगू के ये आंकड़े बेहद चौंकाने वाले हैं। बीते कुछ सालों से दिल्ली में डेंगू बुखार की वजह से हजारों जिंदगियां प्रभावित हो रही हैं।

डेंगू बुखार से बचाव के टिप्स- Dengue Fever Prevention Tips in Hindi

डेंगू बुखार से बचाव के लिए आप इन बातों को ध्यान में रखें-

  • डेंगू की रोकथाम के लिए जरुरी है कि डेंगू के मच्‍छरों के काटने से बचे और इन मच्‍छरों के फैलने पर नियंत्रण रखा जाए।
  • एडीज इजिप्टी नामक मच्छर के काटने से डेंगू फैलता है। डेंगू का मच्छर अधिकतर सुबह काटता है। 
  • डेंगू के मच्‍छरों को कंट्रोल करने के लिए उसके पनपने की जगहों को ही नष्ट कर देना चाहिए। 
  • यह मच्छर साफ रुके हुए पानी जैसे कूलर व पानी की टंकी आदि में पनपता है। जिन जगहों पर पानी के जमा होने की उम्मीद हैं वहां कीटनाशकों का उपयोग करें। 
  • रोजाना मच्छरदानी लगाकर सोएं और पूरे कपड़े पहनकर रहें। मच्‍छर ना काटें इसके लिए क्रीम लगाकर रखें। 
  • घर में और घर के आसपास साफ-सफाई रखें क्योंकि गंदगी में डेंगू के मच्छरों के पनपने की आशंका बढ़ जाती है। 
  • डेंगू के लक्षण दिखने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

राजधानी दिल्ली में बढ़ते डेंगू के मामले बेहद चिंताजनक हैं। सरकारें अपनी तरफ से डेंगू को नियंत्रित करने के कदम उठा रही हैं, लेकिन लोगों को भी डेंगू बुखार को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। घरों के आसपास सफाई और पानी न जमा होने देने से आप डेंगू बुखार को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer