महाराष्‍ट्र में 1 जनवरी से 730% बढ़े एक्टिव केस, अब कर्नाटक, गुजरात और पश्चिम बंगाल में कोरोना की तीसरी लहर

Covid 19 news update:गुजरात और कर्नाटक में अचानक से कोरोना के मामलों में तेजी आई है। ऐसे में इस हफ्ते के अंत तक यहां कोरोना पीक पर हो सकता है। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jan 19, 2022Updated at: Jan 19, 2022
महाराष्‍ट्र में 1 जनवरी से 730% बढ़े एक्टिव केस, अब कर्नाटक, गुजरात और पश्चिम बंगाल में कोरोना की तीसरी लहर

भारत में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। कुछ राज्यों में जहां कोरोना के मामले घटते नजर आ रहे हैं तो वहीं, कुछ राज्यों में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं।  भारत में 24 घंटों के भीतर 2,38,018 ताजा मामले सामने आए हैं और  310 मौतें दर्ज की गईं हैं।  इसके अलावा ओमीक्रोन के मामले भी बढ़ रहे हैं और देश में इसकी कुल संख्या  8,891 हो गई है। अच्छी खबर ये है कि पिछले  24 घंटों में अब तक करीब 1,51,740 लोग ठीक हो चुके हैं। हालांकि, आज आए कोरोना के मामले मंगलवार की तुलना में 7.8% तक कम हैं यानी कि एक दिन में 20,071 मामले कम आए हैं। वहीं एक्टिव केस लोड 17,36,628 हैं। इसी बीच चिंताजनक खबर ये है कि कर्नाटक, गुजरात और पश्चिम बंगाल जैसे रोज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। स्थिति ये है कि पश्चिम बंगाल में कोरोना के 10430 नए मामले सामने आए हैं। वहीं,  तेलंगाना में 24 घंटों में 2983 मामले रिकॉर्ड किए गए हैं। इसी तरह की स्थिति गुजरात और  कर्नाटक की भी है। तो, आइए जानते हैं कोरोना से जुड़े सभी अपडेट्स। 

Inside1covid-19

मुंबई, गुजरात और कर्नाटक की स्थिति है चिंताजनक 

महाराष्ट्र के मुंबई में जहां कोरोना की तीसरी लहर शांत होती दिख रही थी, वहीं राज्य के बाकी जिलों में संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। महाराष्ट्र के इन जिलों में 1 जनवरी की तुलना में में कोविड के ऐक्टिव मामले 730% बढोतरी हुई है। मुंबई में जहां 7 जनवरी को सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए थे वहीं अब तक इसमें 71% गिरावट देखी गई है। पीक के दौरान मुंबई में पॉजिटिविटी रेट 30% था वहीं,  फिलहाल पॉजिटिविटी रेट 12.5% पर आ गया है।

वहीं, गुजरात में कोरोना के मामलों ने अब तक के सारे रिकॉर्ड टूटते नजर आ रहे हैं। गुजरात में मंगलवार को कोरोना के 17,119 केस दर्ज किए गए थे, जो पिछले 24 घंटे के मुकाबले करीब 25 फीसदी ज्यादा हैं। गुजरात के स्वास्थ्य विभाग की मानें तो,  राज्य में कोरोना के कुल केस बढ़कर 9.56 लाख तक पहुंच गए हैं और पिछले 24 घंटों में 10 मरीजों की मौत हुई है। अब कुल मृतकों की संख्या भी 10,174 तक पहुंच गई है। इससे पता चलता है कि गुजरात की स्थिति फिलहाल कितनी चिंताजनक बनी हुई है और ये राज्य कोरोना की तीसरी लहर झेल रहा है। 

इसे भी पढ़ें : अच्छी खबर! भारत के बड़े शहरों में कम होने लगे हैं कोरोना के मामले, पॉजिटिविटी रेट गिरकर 14. 43 पर

इसी तरह कर्नाटक की स्थिति भी ज्यादा ठीक नहीं है। दरअसल, कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर ने ट्वीट किया कि राज्य में कोविड -19 मामलों में भारी वृद्धि दर्ज की गई है। कर्नाटक में मंगलवार को कोरोना के 41,457 मामले सामने आए और 20 लोगों की मौत हो गई है।  बता दें कि नए मामलों में 25,595 तो बेंगलुरु के हैं। वहीं राज्य की पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 22.30 प्रतिशत हो गई है। इन तमाम चीजों को देखते हुए कर्नाटक सरकार ने मंगलवार को राज्य में सख्ती बढ़ा दी है। साथ ही डॉक्टरों को मीडिया को महामारी के बारे में जानकारी देते समय सतर्क रहने को कहा है। सरकार ने अपने प्रेस नोट में कहा कि गलत सूचना या गैर-तथ्यात्मक डेटा को साझा करना अपराध माना जाएगा और आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 54 और कर्नाटक महामारी की धारा 4 (के) के अनुसार जरूरी कार्रवाई की जाएगी। 

इसे भी पढ़ें : अच्छी खबर: देश में बढ़ रहे कोरोना के मामले पर R-Value में दिखी गिरावट, जानें कोरोना से जुड़े सभी ताजा अपडेट्स

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के भारत के प्रतिनिधि रोडेरिको एच ओफ्रिन ने वैश्विक महामारी का मुकाबला करने के लिए  जोखिम आधारित दृष्टिकोण अपनाने को कहा है। रोडेरिको का कहना है कि लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध या यात्रा प्रतिबंध जैसे दृष्टिकोण भारत जैसे देश में कोविड से निपटने में उल्टा पड़ सकता है। हमें जीवन और आजीविका दोनों को देखते हुए फैसले लेने चाहिए। हमें सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र को बेहतर बनाते हुए लोगों की आजीविका पर  खास ध्यान देना होगा। 

Disclaimer