अमेरिका में मिला कोरोना का नया संक्रामक वैरिएंट R.1, एक्सपर्ट्स ने दी चेतावनी, जानें इसके लक्षण

कोरोना के खिलाफ तेजी से चल रहे टीकाकरण अभियान के बीच इसके नए वैरिएंट R.1 ने चिंता बढ़ा दी है, इसे अधिक खतरनाक माना जा रहा है। जानें इसके लक्षण।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Sep 28, 2021
अमेरिका में मिला कोरोना का नया संक्रामक वैरिएंट R.1, एक्सपर्ट्स ने दी चेतावनी, जानें इसके लक्षण

दुनिया भर में कोरोनावायरस का कहर अभी भी बरकरार है। कई देशों में कोरोना के नए मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। भारत में कोरोनावायरस संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए टीकाकरण अभियान पर जोर दिया जा रहा है। सरकार का लक्ष्य जल्द से जल्द देश की ज्यादा से ज्यादा आबादी को कोरोना का टीका लगाने का है। एक तरफ जहां कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सरकारें अपनी तरफ से पूरी इंतजाम की कोशिश कर रही हैं वहीं अमेरिका से कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर एक बुरी खबर सामने आई है। अमेरिका में कोरोनावायरस के नए वैरिएंट के बढ़ते मामले ने पूरे विश्व की चिंता बढ़ा दी है। अमेरिका में कोरोना का नया वैरिएंट  R.1 तेजी से फैल रहा है। वैज्ञानिकों और हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोविड का R.1 वैरिएंट अब तक का सबसे खतरनाक वैरिएंट है। यूएस समेत दुनिया के कई देशों में इन नए वैरिएंट के मामले देखने को मिल रहे हैं। कोरोना के R.1 वैरिएंट को लेकर एक्सपर्ट्स ने लोगों को सावधान रहने की चेतावनी भी दी है। आइये विस्तार से जानते हैं कोविड के इस नए R.1 वैरिएंट के बारे में।

अधिक खतरनाक माना जा रहा है यह नया वैरिएंट

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने इस बात की पुष्टि की है कि अमेरिका में कोरोना का नया वैरिएंट R.1 तेजी से फैल रहा है। इससे पहले इस खतरनाक वायरस के डेल्टा वैरिएंट ने भारत समेत दुनिया के तमाम देशों में तबाही मचाई थी लेकिन अब R.1 वैरिएंट के खतरे को देखते हुए हेल्थ एक्सपर्ट्स ने चिंता जाहिर की है। माना जा रहा है कि कोरोना का यह स्ट्रेन SARS-CoV-2 से जुड़ा हुआ है और इस स्ट्रेन की संक्रमण क्षमता पिछले सभी वैरिएंट के मुकाबले अधिक है। हालांकि अभी R.1 वैरिएंट को लेकर तमाम अध्ययन जारी हैं। अमेरिका के तमाम स्वास्थ्य विशेषज्ञ कोरोना के इस नए वैरिएंट को लेकर चिंता जाहिर कर चुके हैं और उनका मानना है कि यह वैरिएंट डेल्टा वैरिएंट से अधिक खतरनाक साबित हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : कोरोना की वैक्सीन लगवाने के 20 दिन के भीतर दिखें ये लक्षण तो हो जाएं अलर्ट, खतरे का हैं संकेत

coronavirus-r1-variant-usa

(image source - freepik.com)

सबसे पहले जापान में मिला था R.1 वैरिएंट

दुनिया में सबसे पहले जापान में कोरोना वायरस संक्रमण के R.1 वैरिएंट के मामले देखे गए थे। जापान में पिछले साल इस वैरिएंट के मामलों की पुष्टि हुई थी जिसके बाद यह यह दुनिया के 35 देशों में फैल चुका है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इस वैरिएंट से अब तक कुल 10000 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। सीडीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना का यह नया वैरिएंट अमेरिका में अप्रैल 2021 से ही मौजूद है। इस वैरिएंट को लेकर की जा रही स्टडी अभी भी जारी है लेकिन अब तक सीडीसी ने इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न की श्रेणी में नहीं डाला है।

इसे भी पढ़ें : अक्टूबर-नवंबर में बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले, केंद्र सरकार ने राज्यों को दिया अल्टीमेटम

coronavirus-r1-variant-usa

(image source - freepik.com)

R.1 वैरिएंट के म्यूटेशन

सीडीसी की जानकारी के अनुसार कोरोना के नए R.1 वैरिएंट में स्पाइक प्रोटीन म्यूटेशन "E484K, D614G, G769V, और W152L मौजूद है। D614G म्यूटेशन इस वायरस के संक्रमण की क्षमता को व्यक्त करता है इसी से यह अनुमान लगाया जा रहा है कि यह वैरिएंट पिछले सभी वैरिएंट की तुलना में अधिक खतरनाक है। इस वैरिएंट के बारे में यह कहा जा रहा है कि यह एंटीबॉडी को निष्क्रिय कर सकता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस वैरिएंट के लेकर अगर लापरवाही बरती गयी तो यह और अधिक घातक हो सकता है। कई वैरिएंट के म्यूटेशन से बने इस R.1 वैरिएंट को इसलिए भी अधिक संक्रामक माना जा रहा है क्योंकि यह मोनोक्लोनल एंटीबॉडी पूरी तरह से खत्म करने में सक्षम है। ऐसे लोग जिन्होंने कोरोना की वैक्सीन के दोनों डोज ले लिए हैं उनके लिए भी यह म्यूटेशन खतरनाक साबित हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : बच्चों की वैक्सीन को लेकर सरकार का बड़ा ऐलान, अक्टूबर से लगेगी बच्चों को कोरोना वैक्सीन

coronavirus-r1-variant-usa

(image source - freepik.com)

कोरोना के R.1 वैरिएंट के लक्षण 

कोरोनावायरस संक्रमण के सभी वैरिएंट के लक्षण लगभग समान ही होते हैं। लेकिन अलग-अलग वैरिएंट से संक्रमित होने वाले लोगों में कुछ नए लक्षण भी देखने को मिलते हैं। R.1 वैरिएंट से संक्रमित होने पर मरीजों में विशेष रूप से उल्टी, दस्त और बुखार जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के प्रमुख लक्षण इस प्रकार से हैं।

भारत में कोरोनावायरस की स्थिति 

देश में पिछले 24 घंटों में आने वाले कोरोना के नए मामलों में गिरावट देखने को मिली है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किये गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के कुल नए 18,795 मामले सामने आये हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना से ठीक होने वाले कुल मरीजों की संख्या 26,030 है और इस घातक वायरस के कारण 179 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। देश में कोरोना के कुल एक्टिव मामलों की बात करें तो अब देश में 2,92,206 मामले एक्टिव हैं और इस वायरस की वजह से हुई कुल मौतों की संख्या 4,47,373 है। देश में तेजी से कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। पिछले 24 घंटे में सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 1,02,22,525 लोगों को वैक्सीन का डोज दिया गया है और अब तक कुल 87,07,08,636 (87.07 करोड़) वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं।

(main image source - freepik.com)

Disclaimer