किताब पढ़ने के शौकीन हैं तो जानें आंखों पर जोर दिए बगैर किताब पढ़ने का सही तरीका

क‍िताब पढ़ने के शौकीन हैं तो आपको अपनी आंखों का खयाल रखना चाह‍िए ताक‍ि नजर कमजोर न पड़ें, जानें कैसे रखें आंखों का खयाल

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 03, 2021Updated at: Sep 03, 2021
किताब पढ़ने के शौकीन हैं तो जानें आंखों पर जोर दिए बगैर किताब पढ़ने का सही तरीका

क्‍या आप भी क‍िताबी कीड़ा हैं तो आपको डॉक्‍टर से पढ़ने का सही तरीका जान लेना चाह‍िए। सही ड‍िस्‍टेंस न फॉलो कर पाने के कारण आपकी आंखें कमजोर हो सकती है, कुछ लोग अंधेरे में पढ़ते हैं ज‍िसका बुरा असर आपकी आंखों पर पड़ सकता है। समय के साथ आपने गलत तरीके से पढ़ने की आदत न छोड़ी तो आपकी आंखें समय के साथ और कमजोर हो जाएंगी। ज‍िन लोगों को पढ़ना पसंद है उन्‍हें अपनी आंखों का खयाल भी रखना चाह‍िए। इस लेख में हम क‍िताब पढ़ने का सही तरीका और आंखों को हेल्‍दी रखने के ट‍िप्‍स के बारे में चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

reading

(image source:immediate.co.uk)

1. पढ़ने का समय तय करें (Set your reading time)

आप चाहें लैपटॉप पर पढ़ें या क‍िताब पढ़ें आपको पढ़ने का समय सीम‍ित करना चाह‍िए। ज्‍यादा देर तक आप पढ़ते रहेंगे तो आंखें कमजोर हो सकती हैं। इसके साथ ही आपको ई बुक्‍स पढ़ना अवॉइड करना चाह‍िए, अगर पढ़ रहे हैं तो ब्‍लू लाइट फ‍िल्‍टर ऑन करके पढ़ें इससे आंखों पर जोर नहीं पड़ेगा पर आपको बहुत समय के ल‍िए लैपटॉप या फोन पर पढ़ना अवॉइड करना चाह‍िए क्‍योंक‍ि ब्‍लू लाइट भी आंखों के ल‍िए पूरी तरह से सेफ नहीं मानी जाती है। आपको लगातार कई घंटों तक पढ़ने की आदत को भी छोड़ देना चाह‍िए, अगर आप आंखों को आराम नहीं देंगे तो आंखों की नसों पर जोर पड़ेगा। आपको क‍िताब पढ़ना पसंद है पर बीच-बीच में ब्रेक लेना भी जरूरी है। लगातार पढ़ते रहने से सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

2. सीधे बैठकर पढ़ने की कोश‍िश करें (Read while you sit upright)

आपको हमेशा सीधे बैठकर पढ़ना चाह‍िए। इससे आंखों पर जोर नहीं पड़ता। अगर आप उन लोगों में से हैं जो ज्‍यादातर समय बेड पर लेटकर या बैठकर क‍िताब पढ़ते हैं तो आपको बता दें क‍ि ये सही तरीका नहीं है। अगर आप बेड पर लेटकर या बैठकर पढ़ेंगे तो आंखों पर जोर पड़ने की समस्‍या आ सकती है इसल‍िए कोश‍िश करें की टेबल-चेयर पर बैठकर 90 ड‍िग्री का ऐंगल बनाकर पढ़ें। आपको अपनी आंखों को क‍िताब से कम से कम 15 इंच दूर रखना है। इस पोज‍िशन में क‍िताब पढ़ना ज्‍यादा आसान भी रहेगा और गर्दन में दर्द की समस्‍या भी नहीं होगी। अगर आप गलत ऐंगल में बैठकर पढ़ेंगे तो आंखें धीरे-धीरे कमजोर होने लगेगी। सही ऐंगल में बैठकर पढ़ने से आप ज्‍यादा देर फोकस कर सकेंगे।

इसे भी पढ़ें- आंखों की बीमारियों का कारण बनती हैं आपकी ये 5 गलतियां, जानें इनसे बचाव के उपाय

3. लाइट में पढ़ना क्‍यों जरूरी है (Importance of light for reading)

light for reading 

(image source:exactlywhatineeded.com)

कुछ लोग रात में बल्‍ब जलाकर पढ़ते हैं या चादर, कंबल के अंदर पढ़ते हैं पर ये आदत आपकी आंखों की सेहत के ल‍िए ठीक नहीं है। आपको लाइट में पढ़ना चाह‍िए इससे आंखों पर जोर नहीं पढ़ेगा। आपको सनलाइट में पढ़ना चाह‍िए या ऐसी जगह जहां लाइट की पर्याप्‍त मात्रा हो। आप क‍िसी ऐसी जगह हैं जहां पढ़ने के ल‍िए लाइट नहीं है तो आप नए ड‍िवाइस भी अपना सकते हैं ज‍िसमें बुकमार्क के तरीके से लाइट क‍िताब पर स्‍ट‍िक हो जाती है और आप आराम से पढ़ सकते हैं। आपको एक बात का ध्‍यान रखना है क‍ि लाइट क‍िताब के सामने से आनी चाह‍िए और न क‍ि आपके पीछे से। सही लाइट‍िंग में पढ़ने से आपको साफ नजर आएगा और आंखें कमजोर होने के लक्षण नजर नहीं आएंगे।

4. आंख और क‍िताब के बीच उच‍ित दूर बनाएं (Maintain eye distance from book) 

keep distance between eyes

(image source:wallpaperflare.com)

आपको क‍िताब से उच‍ित दूरी बनाकर रखना चाह‍िए। जो लोग बहुत नजदीक से क‍िताब पढ़ते हैं उनकी आंखों पर जोर पड़ता है और नजर भी वीक होने लगती है। आपको अपनी क‍िताब को कम से कम 12 से 15 इंच दूर रखना चाह‍िए। अगर आपकी दूर की नजर अच्‍छी है तो आप एक हाथ के ड‍िस्‍टेंस से भी पढ़ सकते हैं। रूल ऑफ थंब के मुताब‍िक कोई भी ओबजेक्‍ट अगर 14 इंच से आपको धुंधली द‍िख रही है तो मतलब आपको चश्‍मा लगाने की जरूरत है। डॉ सीमा ने बताया क‍ि आपको 20-20-20 रूल फॉलो करना चाह‍िए ज‍िसमें आपको हर 20 म‍िनट में 20 सेकेंड का ब्रेक लेकर 20 फीट दूर ऑब्‍जेक्‍ट को देखना है, इस एक्‍सरसाइज को करने से आंखें हेल्‍दी रहती हैं।

कहीं पढ़ते समय आंखों पर जोर तो नहीं पड़ रहा? (Symptoms of eye strain while reading)

  • अगर आपकी उम्र ज्‍यादा है तो आपको पढ़ने में ज्‍यादा परेशानी आ सकती है क्‍योंक‍ि उम्र बढ़ने के साथ आंखें कमजोर होने लगती हैं, लेक‍िन ऐसा नहीं क‍ि आप क‍िताब नहीं पढ़ सकते पर आपको रीड‍िंग ग्‍लासेस का इस्‍तेमाल करना चाहि‍ए।
  • अगर आपको पढ़ते समय धुंधला नजर आ रहा है तो भी ये लक्षण है क‍ि आपकी आंखें कमजोर हो रही हैं, ऐसा महसूस होने पर आपकी आंखों का चेकअप करवाएं। 
  • अगर आंखें पढ़ते-पढ़ते चौंध‍िया जाती हैं तो भी आपको चेकअप करवाना चाह‍िए ये कैटरेक्‍ट के लक्षण हो सकते हैं। 
  • स‍िर में तेज दर्द होना भी इस बात का संकेत है क‍ि आपकी आंखों पर जोर पड़ रहा है, अगर पढ़ने के साथ स‍िर दर्द की समस्‍या होती है तो मतलब आपकी आंखों पर जोर पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें- बच्चों का आंख खोलकर सोना सही है या गलत? एक्सपर्ट से जानें इसके कारण और उपचार

पढ़ते समय आंखों को कमजोर होने से कैसे बचाएं? (How to prevent weak eye)

cleaning eyes

(image source:reliablesoftwares.com)

  • समय-समय पर अपनी आंखों में ठंडे पानी के छींटे मारते रहें, इससे आंखें फ्रेश फील करेंगी। 
  • हर दो से तीन महीनों में आंखों का चेकअप जरूर करवाएं, इससे आपकी आंखों की सेहत के बारे में आपको सही जानकारी म‍िलेगी।
  • हरी पत्‍तेदार सब्‍ज‍ियों का सेवन करें, इससे आपकी आंखें कमजोर नहीं होंगी, आपको पालक, एग योक जैसी चीजों को अपनी डाइट में शाम‍िल करना चाह‍िए।
  • कमरे में अच्‍छी लाइट का इस्‍तेमाल करें, अंधेरे में पढ़ने की आदत आपकी आंखों को कमजोर कर सकती है।
  • पढ़ते समय अपनी पलकों को झपकते रहें, इससे आपकी आंखों का मॉइश्‍चर बना रहेगा और ड्राय आई की समस्‍या नहीं होगी। 
  • क‍िताब को बहुत नजदीक लाकर न पढ़ें, अगर एक उच‍ित दूरी से नजर नहीं आ रहा है तो डॉक्‍टर से चश्‍मा बनवाएं और उन्‍हें लगाकर पढ़ें। 

आंखों में पढ़ते समय क‍िसी भी तरह की परेशानी होने पर आपको तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करना चाह‍िए, समय रहते इलाज करवाएंगे तो आंखों को बीमार‍ियों से बचा सकते हैं। 

(main image source:www.incimages.com,ldscdn.org)

Read more on Miscellaneous in Hindi  

Disclaimer