कोरोना की रफ्तार तेज लगातार तीसरे दिन आए 8 हजार से ज्यादा मामले, इन राज्यों की हालत गंभीर

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, बीते 24 घंटे में देश में कोरोना के 8 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
कोरोना की रफ्तार तेज लगातार तीसरे दिन आए 8 हजार से ज्यादा मामले, इन राज्यों की हालत गंभीर

देश में कोरोना वायरस के मामलों की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है, बीते तीन दिनों से लगातार सामने आ रहे नए मामले 8 हजार से ज्यादा बने हुए हैं। रोजाना तेजी से बढ़ रहे नए मामले डराने वाले हैं। देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले चौथी लहर की आशंका को बढ़ा रहे हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 8,084 नए मामले सामने आए हैं। देश में तेजी से सामने आ रहे नए मामलों के बीच कोरोना के एक्टिव मामले भी बढ़कर लगभग 48 हजार हो गए हैं। बीते 24 घंटे के दौरान देश में कोरोना संक्रमण के चलते 10 लोगों की मौत भी दर्ज की गयी है। देश के तीन राज्यों में कोरोना संक्रमण की स्थिति बेहद गंभीर बताई जा रही है, आंकड़ों के मुताबिक देश में महाराष्ट्र, केरल और दिल्ली में कोरोना के सबसे ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। सरकार द्वारा जारी कोरोना के आंकड़े ये बताते हैं है कि देश में बीते 24 घंटे में आए लगभग 70 फीसदी नए मामले इन्हीं 3 राज्यों से हैं। 

कोरोना से प्रभावित टॉप 3 राज्यों का हाल (Coronavirus Cases in India Statewise)

महाराष्ट्र - महाराष्ट्र में बीते कुछ दिनों से कोरोना के नए मामलों में बड़ी बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। बीते 24 घंटे में जारी आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र में कोरोना के 2,946 मामले दर्ज किये गए हैं, महाराष्ट्र में मिले नए मामलों में से अकेले मुंबई से 1,803 नए मामले हैं। अगर हम महाराष्ट्र बीते कुछ दिनों से सामने आ रहे कोरोना के नए मामलों की बात करें तो बीते हफ्ते महाराष्ट्र में कोरोना के कुल 7,253 नए मामले आये थे लेकिन इस सप्ताह में अचानक मामले 17,380 हो गए हैं। महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामले देश की चिंता बढ़ाने वाले हैं। बीते 24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के चलते 2 लोगों की मौत भी हुई है।

coronavirus cases in india

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस इन 5 अंगों को पहुंचाता है सबसे ज्यादा नुकसान, ऐसे पहचानें शरीर में वायरस के लक्षण

केरल - महाराष्ट्र के अलावा केरल में भी कोरोना संक्रमण के मामले तेज रफ्तार से बढ़ रहे हैं। सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक केरल में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,319 नए मामले दर्ज किये गए हैं और इस दौरान 3 मरीजों की मौत भी हुई है। केरल से सामने आ रह कोरोना वायरस संक्रमण के आंकड़ों पर गौर करें तो यह बात निकलकर सामने आती है कि राज्य में हफ्ते भर में ही कोरोना के नए मामलों की संख्या दोगुनी हो गयी है।केरल में कोरोना के मामले बीते हफ्ते से तेजी से बढ़ रहे हैं, केरल में कोरोना संक्रमण की दर 13 फीसदी हो गयी है।

दिल्ली - राजधानी दिल्ली में कोरोना के वायरस के मामले एक बार फिर से बढ़ने शुरू हो गए हैं। बीते दिन दिल्ली में कोरोना के 735 नए मामले सामने आए और इस दौरान 3 मरीजों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गयी है। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण की दर 4 फीसदी के आसपास पहुंच गयी है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के बाद केरल में 2 बच्चों में नोरोवायरस संक्रमण की पुष्टि, जानें कितना खतरनाक है यह वायरस

देश में तेजी से बढ़ रही पॉजिटिविटी दर (Covid 19 Positivity Rate in India)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना की ताजा स्थिति के आंकड़े जारी करते हुए बताया है कि देश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर 98.68 प्रतिशत है। आंकड़ों के मुताबिक देश में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण से 3,428 मरीज ठीक भी हुए हैं। देश में कोरोना वायरस संक्रमण की पॉजिटिविटी दर 3.24 प्रतिशत हो गयी है, बीते 4 महीने में कोरोना की पॉजिटिविटी दर अभी सबसे ज्यादा है। देश में कोरोना की साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 2.21 प्रतिशत है।

तेजी से बढ़ रहे मामलों पर एक्सपर्ट की राय (Expert Opinion on Covid in India)

देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर तमाम एक्सपर्ट्स चिंता व्यक्त कर रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को चौथी लहर की आहट माना जा रहा है। लेकिन देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले और मौजूदा स्थिति को लेकर कोविड वैक्सीनेशन पर बने नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप (NTAGI) के चेयरमैन डॉ. एनके अरोड़ा ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत करते हुए कहा है कि देश में ओमिक्रोन के BA.2 के साथ-साथ BA.4 और BA.5 सब वैरिएंट मौजूद हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर डॉ अरोड़ा ने कहा है कि गर्मी की छुट्टियों में लोग बाहर घूमने फिरने निकल रहे हैं और पाबंदियां भी कम हो गयी हैं इसकी वजह से मेट्रो शहरों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। कोरोना संक्रमण को लेकर घबराने की जरूरत नहीं है लेकिन सभी को कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

(All Image Source - Jagran.com)

 
Disclaimer