प्रेगनेंसी में आंख आने (Conjunctivitis) के होते हैं ये 7 कारण, जानें लक्षण और बचाव

गर्भावस्था के दौरान कंजंक्टिवाइटिस की समस्या कितनी आम है और कितनी गंभीर, इसके बारे में पता होना जरूरी है। जानते हैं लक्षण, कारण और बचाव...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Sep 24, 2021
प्रेगनेंसी में आंख आने (Conjunctivitis) के होते हैं ये 7 कारण, जानें लक्षण और बचाव

आंखों में कंजंक्टिवाइटिस (Conjunctivitis during Pregnancy) होना, इस समस्या को गुलाबी आंखों की समस्या के नाम से भी जाना जाता है। बता दें कि पलक के बाहरी परत में कंजंक्टिवा पारदर्शी उत्तक के रूप में चिपक जाते हैं, जिसके कारण आंखों में सूजन की समस्या या आंखों में लालिमा छा जाती है। यह समस्या किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती हैं लेकिन गर्भावस्था के दौरान कंजंक्टिवाइटिस होना कितना आम है और कितना गंभीर, इसके बारे में पता होना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि प्रेगनेंसी के दौरान कंजंक्टिवाइटिस की समस्या होने के पीछे क्या कारण (Conjunctivitis during Pregnancy causes) होते हैं। साथ ही इसके लक्षण (Conjunctivitis during Pregnancy symptoms) और उपाय के बारे में भी जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

 

बता दें कि आंख आने की स्थिति यदि 1 हफ्ते में ठीक हो जाए तो गर्भवती महिलाओं और उसके भ्रूण पर किसी भी प्रकार का नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन अगर कंजंक्टिवाइटिस समस्या किसी गंभीर बैक्टीरिया या वायरस के कारण फैला है तो इससे जन्म के बाद नवजात शिशु को भी कंजंक्टिवाइटिस होने की संभावना हो सकती है। बता दें कि शिशुओं में आंख आने की समस्या (कंजंक्टिवाइटिस) खतरनाक मानी जाती है। इससे संबंधित रिसर्च भी समने आई है। शिशुओं में कंजंक्टिवाइटिस से संबंधित रिसर्च पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

प्रेगनेंसी के दौरान कंजंक्टिवाइटिस होने के लक्षण (symptoms of Conjunctivitis during Pregnancy)

बता दें कि गर्भावस्था में कंजंक्टिवाइटिस के लक्षण आम व्यक्ति में दिखने वाले लक्षण जैसे ही होते हैं। लेकिन हां गर्भवती महिलाओं को इन लक्षणों के चलते ज्यादा समस्या का सामना करना पड़ सकता है। यह लक्षण इस प्रकार हैं-

1 - महिलाओं की आंखों में खुजली होने की समस्या होना।

2 - प्रेगनेंसी में आंखों का लाल हो जाना

3 - गर्भावस्था में आंखों में कुछ चुभना।

इसे भी पढ़ें- प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर से बदबू आने के हो सकते हैं ये 4 कारण, जानें बचाव के उपाय

4 - आंखों पर किसी भी तेज प्रकाश का पड़ने से दिक्कत महसूस करना।

5 - आंखों में सूजन महसूस करना।

6 - आंखों में दर्द हो जाना।

7 - सुबह उठकर पलकों पर पपड़ी जमा महसूस करना।

8 - महिलाओं की आंखों से पानी आना।

9 - महिलाओं की आंखों में जलन होना।

10 - गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को बिना कारण आंखों से आंसू आना। 

 

प्रेगनेंसी के दौरान आंखों में कंजंक्टिवाइटिस होने के कारण (causes of Conjunctivitis during Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान आंखों में कंजंक्टिवाइटिस होने के पीछे कई आम और गंभीर कारण हो सकते हैं। यह कारण निम्न प्रकार हैं-

1 - गर्भावस्था के दौरान कुछ ऐसे वायरस होते हैं जिनकी चपेट में महिलाएं आती हैं तो उन्हें आंख आने की समस्या हो जाती है। इन वायरस के कारण महिलाओं को वायरल कंजंक्टिवाइटिस होता है।

2 - बता दें कि कंजंक्टिवाइटिस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से फैल सकता है। ऐसे में यदि महिलाएं किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आती है जिसे पहले से ही कंजंक्टिवाइटिस है तो गर्भवती महिला संक्रमित व्यक्ति के कारण इसका शिकार हो सकती हैं।

3 - गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाएं यौन संचारित रोग क्लैमाइडिया ट्रेकोमैटिस (chlamydia bacteria infection) की चपेट में आ जाते हैं ऐसे में यह समस्या क्लैमाइडिया बैक्टीरिया की वजह से महिलाओं में होती है। जब कोई महिला संक्रमित व्यक्ति के साथ शारीरिक संबंध बनाती है तब यौन संचारित रोग हो जाता है। वहीं जो महिलाएं अपने आसपास साफ सफाई का ध्यान नहीं रखती हैं तब भी यौन संचारित रोग की चपेट में आ जाती हैं। इस दौरान भी उन्हें कंजंक्टिवाइटिस समस्या हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- एग फ्रीजिंग (Egg Freezing) क्यों की जाती है? फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट से जानें इसके फायदे और जरूरी बातें

4 - गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कुछ एलर्जी का सामना भी करना पड़ता है, जिसके कारण आंख आने की समस्या हो सकती है। इसे एलर्जी कंजंक्टिवाइटिस कहते हैं। जब महिलाओं कोये समस्या होती है तो आंखों में खुजली और आंखों से पानी आने जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

5 - अगर कोई महिला अस्थमा या किसी तरह की एलर्जी से लंबे समय तक परेशान है तो गर्भावस्था के दौरान वह वर्नल किरैटो कंजंक्टिवाइटिस (Vernal Keratoconjunctivitis) की समस्या से परेशान हो सकती हैं।

6 - यदि महिलाएं लंबे समय तक कॉन्टेक्ट लेंस पहन कर रखती हैं तब भी कंजंक्टिवाइटिस की समस्या हो सकती है।

7 - गर्भावस्था के दौरान जब आंखों के अंदर किसी प्रकार का केमिकल चला जाता है तो केमिकल कंजंक्टिवाइटिस की समस्या महिलाओं को हो सकती है। इसे टॉक्सिक कंजंक्टिवाइटिस के रूप में जाना जाता है। इस समस्या के होने पर महिलाओं को आंखों में सूखापन या सूजन जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

गर्भावस्था में आंख आने की समस्या से बचाव (Prevention of causes of Conjunctivitis during Pregnancy)

दिनचर्या में थोड़ा सा बचाव करके गर्भावस्था के दौरान कंजंक्टिवाइटिस की समस्या से बचा जा सकता है-

1 - गर्भवती महिलाएं जब भी बाहर जाएं तो अपनी आंखों पर धूप का चश्मा लगाएं। खासकर धूप में बाहर निकलते वक्त जरूर इस चश्मे का इस्तेमाल करें।

2 - गर्भवती महिलाएं लंबे समय तक कॉन्टैक्ट लेंस का प्रयोग ना करें। जब जरूरत हो तब ही इनका प्रयोग करें।

3 - गर्भवती महिलाएं आंखों पर बार-बार गंदे हाथ ना लगाएं।

4 - गर्भावस्था के दौरान अपनी आंखों को साफ पानी से समय-समय पर धोती रहें।

5 - यदि गर्भवती महिलाओं को अपनी आंख लाल नजर आए या आंखों में कोई कचरा दिखाई दें तो तुरंत अपनी आंखों को पानी से धोएं।

6 - आंखों में खुजली लगने पर आंखों को हाथों से ना मचलें। ऐसा करने से समसमया और बढ़ सकती है।

7 - महिलाएं अपनी आंखों को पूछने के लिए हाथों की बजाय किसी साफ कपड़े का इस्तेमाल करें।

8 - गर्भवती महिलाएं साफ वातावरण में रहें।

9 - प्रेगनेंसी के दौरान खांसते या छींकते वक्त आंखों को ना छुएं।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि यदि प्रेगनेंसी के दौरान कंजंक्टिवाइटिस एक हफ्ते में ठीक हो जाता है तो गंभीर बात नहीं है। लेकिन अगर यह समस्या लंबे समय तक हो रही है तो इससे भ्रूण के विकास पर भी असर पड़ सकता है। ऐसे में महिलाओं को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है। महिलाओं को कंजंक्टिवाइटिस जैसी समस्या से बचने के लिए इस लेख में बताए गए कारण, लक्षण और बचाव तीनों काम आ सकते हैं। 

इस लेख में फोटोज़ FREEPIK से ली गई हैं। 

Read More Articles on women health in hindi

Disclaimer