किस तरह के दर्द में कैसी सिंकाई करें? जानें अलग-अलग अंगों के लिए सिंकाई के खास तरीके

Sikayi Benefits In Hindi: सिकाई करने से शरीर के कई तरह के दर्द से राहत पाने में मदद मिलती है, जानें  किस दर्द में कौन सी सिकाई करें

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 25, 2022Updated at: Apr 25, 2022
किस तरह के दर्द में कैसी सिंकाई करें? जानें अलग-अलग अंगों के लिए सिंकाई के खास तरीके

जब शरीर के किसी भी अंग में दर्द होता है, तो ऐसे में सबसे ज्यादा एक्सपर्ट्स जिस चीज को करने की सलाह देते हैं वह है सिकाई। दर्द से राहत पाने के लिए सिकाई करना एक बेहतरीन उपाय है (Sikayi Karne Ke Fayde)। इससे सूजन कम होती है और दर्द से कुछ ही समय में आराम मिलता है। जब सिकाई की बात आती है तो आमतौर पर सिकाई दो तरीके से की जाती है पहला गर्म और दूसरा ठंडी सिकाई। लेकिन शरीर में कई तरह के दर्द होते हैं और किस दर्द में कौन सी सिकाई करना चाहिए इसको लेकर अक्सर लोग असमंजस में रहते हैं। एक्सपर्ट्स की मानें तो अगर आप दर्द में सही सिकाई नहीं करते हैं तो इससे आपका दर्द बढ़ सकता है। इस लेख में हम आपको इसके बारे में विस्तार से बता रहे हैं कि आपको शरीर के किस दर्द में कौन सी सिकाई करनी चाहिए (Sikayi Benefits For Body Pain In Hindi )।

शरीर के किस दर्द में कौन सी सिकाई करें (Sikayi Benefits For Body Pain In Hindi)

1. कमर या पीठ दर्द में कौन सी सिकाई करें

अगर किसी व्यक्ति को कमर या पीठ में दर्द हो रहा है तो ऐसे लोगों को गर्म पानी या हीटिंग पैड से सिकाई करने की सलाह दी जाती है। इसके लिए आप बाजार में मिलने वाली हीटिंग वॉटर बॉटल्स, हीटिंग पैड्स या फिर सूती कपड़े को तवे पर गर्म करके भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको बहुत जल्द दर्द से राहत मिलेगी।

2. जोड़ों में दर्द होने पर कौन सी सिकाई करें

जोड़ों में दर्द और सूजन होने पर ठंडी सिकाई करना ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। इस स्थिति में सिकाई के लिए बर्फ का इस्तेमाल करने से बहुत फायदा मिलता है। साथ ही मांसपेशियों में खिंचाव की समस्या भी दूर होती है। आप आइस पैड का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर आप एक कपड़े में बर्फ के कुछ टुकड़े डालकर भी सिकाई कर सकते हैं।

इसे भी पढें: रोज आंखों को ठंडे पानी से धोने से मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें समय-समय पर आंख धोना क्यों जरूरी है

3. आर्थराइटिस में कौन सी सिकाई करें

आर्थराइटिस बेहद गंभीर समस्या है। इस स्थिति में जोड़ों में जकड़न होने लगती है और जोडों में गंभीर दर्द होता है। इस स्थिति में गर्म पानी से सिकाई करने से दर्द में बहुत आराम मिलता है। इससे मांसपेशियां गर्म होती हैं, सूजन कम होती है और रक्त का संचार होता है। जब भी दर्द का अनुभव करें तो 20 मिनट के लिए गर्म पानी से सिकाई करें, आपको आराम महसूस होगा।

4. पीरियड्स के दर्द में कौन सी सिकाई करें

पीरियड्स के दौरान ऐंठन किसी भी महिला के लिए बेहद दर्दनाक समय होता है। सिकाई करना इसे कम करने में मदद मिलती है। पीरियड्स के दर्द लिए जब सिकाई की बात आती है, तो गर्म पानी या पैड से पेट और कमर की सिकाई करने की सलाह दी जाती है। इससे न सिर्फ दर्द से आराम मिलता है बल्कि पीरियड का फ्लो भी कम होता है।

5. सिरदर्द में कौन सी सिकाई करें

सिरदर्द होने पर ठंडी या बर्फ से सिकाई करना ज्यादा फायदेमंद है। इससे सिर को शांत करने और आराम देने में मदद मिलती है। सिरदर्द के लिए बर्फ से सिकाई करते समय आप आइस पैड और आइस क्यूब्स दोनों का इस्तेमाल कर सकते हैं बस इसे अपने सिर पर रखें और धीरे-धीरे सिकाई करें।

इसे भी पढें: बॉडी में हीमोग्लोबिन की कमी दूर करने के लिए ट्राई ये 3 रेसिपीज, एक्सपर्ट से जानें बनाने का तरीका

सिकाई करना शरीर के दर्द से छुटकारा पाने का बेहद कारगर उपाय है, लेकिन अगर आपको सिकाई से आराम नहीं मिलता है तो ऐसे में अपने डॉक्टर से संपर्क करें, जिससे कि वह इसके अंतर्निहित कारणों का पता लगा सकें।

Disclaimer