डेंगू होने पर शरीर में हो सकती हैं ये 6 दिक्कत, बिल्कुल न करें नजरअंदाज

Problems with Dengue Virus in Hindi: डेंगू होने पर व्यक्ति को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। जानें, डेंगू में क्या क्या दिक्कत होती है?

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Nov 01, 2022 11:07 IST
डेंगू होने पर शरीर में हो सकती हैं ये 6 दिक्कत, बिल्कुल न करें नजरअंदाज

Problems with Dengue Virus in Hindi: दिल्ली समेत देश के अन्य राज्यों में भी डेंगू के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। डेंगू बच्चों, युवाओं और बुजुर्गों किसी को भी हो सकता है। डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। यह चार वायरसों जैसे- डीईएनवी-1, डीईएनवी-2, डीईएनवी-3 और डीईएनवी-4 के कारण होता है। दरअसल, जब मच्छर संक्रमित व्यक्ति को काटता है, तो वायरस मच्छर के शरीर में प्रवेश कर जाता है। ऐसे में फिर जब यही मच्छर किसी व्यक्ति को काटता है, तो डेंगू वायरस व्यक्ति के रक्त या शरीर में चला जाता है। ऐसे में वायरस रक्तप्रवाह से पूरे शरीर में फैलने लगता है। संक्रमित मच्छर के काटने के 4 स 10 दिन बाद व्यक्ति में डेंगू के लक्षण दिखने शुरू हो सकते हैं। शुरुआत में डेंगू के हल्के लक्षण जैसे-खांसी, हल्का बुखार और शरीर में दर्द दिख सकते हैं। लेकिन जैसे-जैसे डेंगू की गंभीरता बढ़ती जाती है, इसके लक्षण और दिक्कते भी बढ़ती जाती हैं। ऐसे में आपको अपना खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर डेंगू में क्या क्या दिक्कत होती है? (Dengue Health Complications in Hindi)

डेंगू में क्या क्या दिक्कत होती है?- Problems with Dengue Virus in Hindi

1. तेज बुखार

बुखार डेंगू का सबसे आम लक्षण माना जाता है। संक्रमित मच्छर के काटने के 4 से 5 दिन बाद आपको बुखार महसूस हो सकता है। हल्का बुखार होने पर डेंगू के लक्षण घर पर ही ठीक हो सकते हैं। लेकिन अगर तेज बुखार है, तो इस स्थिति में आपको अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ सकती है। डेंगू होने पर आपको 104 एफ तक बुखार हो सकता है। इस स्थिति में आपको कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। जब डेंगू की वजह से आपको सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द और जोड़ों में दर्द का भी सामना करना पड़ सकता है। 

इसे भी पढ़ें- इन 4 तरह के लोगों को ज्यादा रहता है डेंगू का खतरा, जानें कैसे करें बचाव

dengue fever

2. रक्त वाहिकाओं का डैमेज होना

डेंगू रक्त वाहिकाओं को भी डैमेज कर सकता है। दरअसल, जब संक्रमित मच्छर के काटने पर गंभीर डेंगू होता है, तो आपकी रक्त वाहिकाएं डैमेज हो सकती हैं। इस स्थिति में रक्तप्रवाह में थक्का बनाने वाली कोशिकाओं यानी प्लेटलेट्स की संख्या भी कम होने लगती है। इस स्थिति में व्यक्ति को इंटरनल ब्लीडिंग हो सकती है। जब डेंगू के मरीजों में प्लेटलेट्स कम होने लगती हैं, तो व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ सकती है। 

3. गंभीर पेट दर्द

संक्रमित मच्छर के काटने के बाद आपको बुखार के साथ ही पेट में दर्द का भी सामना करना पड़ सकता है। डेंगू के बाद अगर आपको बुखार हो रहा है, तो बुखार ठीक होने के बाद पेट में दर्द हो सकता है। इसके साथ ही आपको लगातार उल्टी का सामना भी करना पड़ सकता है। गंभीर पेट दर्द आपको परेशान कर सकता है।

4. रक्तस्त्राव

डेंगू में रक्तस्त्राव की भी दिक्कत हो सकती है। जब डेंगू गंभीर रूप लेता है, तो आपको मसूड़ों या नाक से खून निकल सकता है। इतना ही नहीं डेंगू के कुछ मामलों में उल्टी के साथ रक्तस्त्राव हो सकता है। मल, मूत्र में भी खून बह सकता है। इसके साथ ही अगर आपको डेंगू होता है, तो हल्की चोट लगने पर भी रक्तस्त्राव हो सकता है। गंभीर डेंगू आंतरिक रक्तस्राव और अंग क्षति का कारण बन सकता है। ये दिक्कते व्यक्ति में गंभीरता पैदा कर सकते हैं और उन्हें अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत पड़ सकती है। 

इसे भी पढ़ें- डेंगू बुखार होने पर नजरअंदाज न करें ये 6 लक्षण, बढ़ सकती है परेशानी

dengue fever

5. थकान और कमजोरी

डेंगू होने पर आपको गंभीर थकान और कमजोरी महसूस हो सकती है। इस स्थिति में आपको अपने दैनिक कार्यों को करने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। थकान और कमजोरी व्यक्ति के जीवन को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है। आपको सांस लेने में भी दिक्कत हो सकती है, बेचैनी महसूस हो सकती है।

6. लो ब्लड प्रेशर

डेंगू के मरीजों को लो ब्लड प्रेशर की दिक्कत भी हो सकती है। इस स्थिति में व्यक्ति का ब्लड प्रेशर काफी हद तक कम हो सकता है। कुछ मामलों में तो यह मौत का कारण तक बन जाता है।

प्रेगनेंसी में डेंगू की वजह से होने वाली समस्याएं

जिन महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान डेंगू बुखार होता है, उन्हें बच्चे के जन्म के दौरान परेशानी हो सकती है। अगर किसी महिला को प्रेगनेंसी के दौरान डेंगू होता है, तो जन्म के दौरान उसके बच्चे में फैलने की संभावना बढ़ जाती है। जिन महिलाओं के बच्चों को गर्भावस्था के दौरान डेंगू बुखार होता है, वे समय से पहले बच्चों को जन्म दे सकती है। साथ ही बच्चे कम वजन के साथ जन्म ले सकते हैं। 

Problems with Dengue Virus in Hindi: डेंगू होने पर व्यक्ति को तेज बुखार, मांसपेशियों में दर्द, रक्तस्त्राव, लो ब्लड प्रेशर और गंभीर पेट दर्द का सामना करना पड़ सकता है।

Disclaimer