डायबिटीज की समस्या आज के दौर में ज्यादातर लोगों को परेशान करने लगी है। लेकिन आप घरेलू उपायों से इसे कंट्रोल कर सकते हैं।

"/>

डायबिटीज कंट्रोल के लिए दालचीनी का प्रयोग कैसे करें? जानें इसके फायदे

डायबिटीज की समस्या आज के दौर में ज्यादातर लोगों को परेशान करने लगी है। लेकिन आप घरेलू उपायों से इसे कंट्रोल कर सकते हैं।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Dec 18, 2022 09:00 IST
डायबिटीज कंट्रोल के लिए दालचीनी का प्रयोग कैसे करें? जानें इसके फायदे

इस समय दुनियाभर में डायबिटीज एक चिंता का विषय बना हुआ है। इस रोग से दुनियाभर के करोड़ों लोग प्रभावित हैं। डायबिटीज होने पर व्यक्ति को कई अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। हृदय संबंधी समस्याएं, किडनी के रोग और हाई बीपी की समस्‍या इससे संबंधित होती है। लेकिन घरेलू उपायों को अपनाकर डायबिटीज को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है। आगे आपको डायबिटीज में दालचीनी के उपयोग और उससे होने वाले फायदे के बारे में विस्तार से बताया गया है। 

दालचीनी कितने प्रकार की होती है? 

डायबिटीज को कंट्रोल करने में पारंपरिक जड़ी-बूटियां और मसाले फायदेमेंद होते हैं। ऐसा ही एक हेल्‍दी मसाला है दालचीनी यानी सिनेमन। ये अपने स्‍वाद और खुशबू के लिए जाना जाता है। दालचीनी की चाय का प्रयोग डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए किया जा सकता है। दालचीनी डायबिटीज के अलावा कई हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स से छुटकारा दिला सकती है। केसिया और सीलोन दालचीनी के दो मुख्य प्रकार हैं। दोनों का ही सेवन ब्लड शुगर (डायबिटीज) में फायदेमंद हो सकता है। लेकिन केसिया के मुकाबले सीलोन का सेवन अधिक सुरक्षित माना जाता है।

इसे भी पढ़ें : डायबिटीज के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं ये 4 अंग, जानें कैसे करें बचाव 

 dalchini for diabetes in hindi

दालचीनी की चाय डायबिटीज को कैसे कंट्रोल करती है?

दालचीनी में फ्लेवोनोइड्स, एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी-वायरल गुणों मौजूद होते हैं, जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में सहायक माने जाते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक दालचीनी टाइप 2 डायबिटीज और कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर को बेहतर बनाने में मदद करती है। ये हार्ट से संबंधित बीमारी से जुड़े जोखिमों को कम करने का काम करती है। दालचीनी को  ग्रीन टी के साथ मिला दिया जाए तो इसके फायदे दोगुने हो जाते हैं। दालचीनी के चाय के अलावा ग्रीन टी भी डायबिटीज में फायदेमंद होती है। 

दालचीनी अन्य गंभीर बीमारियों में भी है असरदार

दालचीनी एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है। जिसकी वजह से वह ऑक्सीडेंटिव स्ट्रेस को कम करने में भी सहायक होती है। इसका उपयोग अन्य बहुत सी गंभीर बीमारियों में भी फायदेमंद हो सकता है। यही नहीं दालचीनी की चाय का सेवन या दालचीनी का सेवन डायबिटीज से जुड़ी अन्य बीमारी जैसे अल्जाइमर, दिल की बीमारी आदि को कम करने में भी सहायक होता है।

इसे भी पढ़ें : डायबिटीज के मरीज नाश्ते में शामिल करें ये चीजें, जानें फायदे


दालचीनी की चाय कैसे बनाते हैं?

  • दालचीनी की चाय बनाने के लिए आपको एक चुटकी दालचीनी का पाउडर, आधा इंच दालचीनी का टुकड़ा और ग्रीन टी चाहिए। 
  • सबसे पहले दालचीनी के पाउडर और उसकी स्टीक को एक कप पानी में अच्‍छी तरह उबालें। 
  • फिर आंच बंद कर दें और उसमें ग्रीन टी मिलाकर 2 से 3 मिनट के लिए पानी को ढंक कर रख दें। 
  • इसके बाद चाय को छान लें। 
  • ध्‍यान रखें कि ग्रीन टी को कभी भी न उबालें।
  • दालचीनी की चाय को ब्रेकफास्‍ट सा मिड मॉर्निंग ड्रिंक के समय लिया जा सकता है। 
  • दालचीनी को डाइट में शामिल करने से पहले डॉक्‍टर की सलाह अवश्य लें।

अगर ब्लड शुगर लेवल (डायबिटीज) कम करना चाहते हैं तो केसिया के बजाय सीलोन का उपयोग करना सबसे अच्छा हो सकता है। लेकिन पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

Disclaimer