गर्मी के मौसम में शरीर को तरो-ताजा रखेगा चंदन का शरबत, जानें फायदे और बनाने का तरीका

गर्मी के मौसम में चंदन का शरबत शरीर को ठंडा रखता है और लू से बचाता है। गर्मी के कारण होने वाली पेट की समस्याओं को भी ये शरबत ठीक करता है। जानें चंदन का शरबत बनाने की विधि और इसके फायदे।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jun 11, 2019
गर्मी के मौसम में शरीर को तरो-ताजा रखेगा चंदन का शरबत, जानें फायदे और बनाने का तरीका

गर्मी के मौसम में शरीर को ठंडा रखने के लिए आप कई तरह के ड्रिंक्स पीते हैं। लस्सी, छाछ, गन्ने का जूस, बेल का जूस, आम का पना, नींबू-पानी आदि ऐसे ही ड्रिंक्स हैं, जिन्हें गर्मी में फायदेमंद माना जाता है। मगर क्या आपने चंदन के शरबत के बारे में सुना है? जी हां, चंदन का शरबत गर्मी के मौसम में आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। ये शरबत आपको लू और डिहाइड्रेशन से बचाता है। इसके अलावा गर्मी में होने वाली पेट की बीमारियों से भी ये शरबत आपको दूर रखेगा। चंदन का शरबत बनाना आसान है। आइए आपको बताते हैं इसे बनाने का तरीका और इसके फायदे।

शरीर को ठंडा रखे चंदन का शरबत

चंदन को इसकी सुंगध के साथ-साथ शीतलता के लिए भी जाना जाता है। चंदन के शरबत का सेवन गर्मी के मौसम में फायदेमंद होता है क्योंकि ये शरीर को ठंडा रखता है। गर्मी के मौसम में तापमान बढ़ने के कारण शरीर की तमाम क्रियाएं बाधित होती है, जिनमें पाचन और रक्त प्रवाह (ब्लड सर्कुलेशन) प्रमुख हैं। चंदन का शरबत पीने से शरीर ठंडा रहता है इसलिए इसका सेवन गर्मियों में किया जा सकता है।

लू से बचाएगा चंदन का शरबत

गर्मी के मौसम में लू एक बड़ी समस्या है। लू लगने के कारण व्यक्ति बीमार हो जाता है और कई बार तो मौत भी हो जाती है। लू से बचने के लिए ठंडे पदार्थों का सेवन और धूप से बचाव जरूरी है। चंदन की तासीर ठंडी होती है इसलिए ये लू से भी बचाता है। गर्मी के मौसम में आप कभी-कभार चंदन के शरबत का सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- अरबी खाने से घटता है कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर, जानें इसके 5 बड़े फायदे

चंदन का शरबत बनाने के लिए सामग्री

  • चीनी या मिश्री 1 किलो
  • पानी 3 लीटर
  • चंदन पाउडर 30 ग्राम
  • दूध आधा कप से कम (100 mL)
  • केवड़ा वाटर एसेंस (10-15 बूंद)
  • 2 नींबू का रस

चंदन का शरबत कैसे बनाएं?

  • चंदन का शरबत बनाने के लिए सबसे पहले चंदन का पाउडर लें और इसे एक सूती कपड़े में रखकर बांध लें, ताकि पोटली बन जाए।
  • एक बड़े बर्तन में पानी और चीनी डालकर इसे तेज आंच में रख दें।
  • जब पानी में उबाल आने लगे, तो इसमें दूध डाल दें।
  • दूध डालने के बाद भी 3-4 मिनट तक उबालें।
  • वैसे तो चंदन में स्वयं की सुगंध बहुत होती है, मगर यदि आप चाहें, तो केवड़ा वाटर भी इसमें मिला सकते हैं।
  • आखिरी में 2 चम्मच नींबू का रस मिला दें और देखें कि बर्तन के किनारों पर झाग जैसा आ गया हो।
  • देख लें कि पानी और चीनी अच्छी तरह घुलकर पतली चाशनी जैसा बन गए हों।
  • अब इसे आंच से उतार लें और तुरंत चंदन के पाउडर वाली पोटली इस पानी में डालकर डुबा दें।
  • ध्यान दें आपको चंदन पाउडर को सीधे पानी में नहीं मिलाना है।
  • इस पानी को रातभर यूं ही चंदन की पोटली के साथ रखा रहने दें।
  • सुबह पोटली को निकालकर पानी को अच्छी तरह मिलाएं और फिर छान लें।
  • अब चंदन के शरबत के लिए चाशनी तैयार है। इसे फ्रीज में रखकर स्टोर कर सकते हैं।
  • अब जब आपको चंदन का शरबत तैयार करना हो, एक ग्लास ठंडे पानी में 5 चम्मच इस चाशनी को मिलाएं और आपका चंदन का शरबत तैयार है।

ध्यान दें

आमतौर पर चंदन की लकड़ी और इसके पाउडर का प्रयोग सौंदर्य के लिए किया जाता है। मगर आयुर्वेद में चंदन का बहुत थोड़ी मात्रा में सेवन सुरक्षित माना जाता है। चंदन के पाउडर का सीधा इस्तेमाल बहुत ज्यादा मात्रा में नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही यह भी हिदायत दी जाती है कि लंबे समय तक चंदन का सेवन न करें। किडनी के रोगियों को इस शरबत का सेवन नहीं करना चाहिए।

Read More Articles On Mind and Body in Hindi

Disclaimer