Doctor Verified

चक्रफूल का पानी पीने से सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें इसे बनाने का तरीका

चक्रफूल एक आयुर्वेदिक हर्ब है, इसका उपयोग कई समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। आप चक्रफूल का पानी भी पी सकते हैं। 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 25, 2022Updated at: Apr 25, 2022
चक्रफूल का पानी पीने से सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें इसे बनाने का तरीका

Benefits of Chakar Phool Water in Hindi: भारतीय रसोई में कई ऐसी जड़ी-बूटियां होती हैं, जिनका उपयोग मसाले के तौर पर किया जाता है। साथ ही ये सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होते हैं। चक्र फूल (star anise meaning in hindi) में इसमें से एक है। चक्रफूल एक ऐसा हर्ब है, जिसका इस्तेमाल मसाले और औषधि के रूप में किया जाता है। आयुर्वेद में चक्रफूल को औषधीय गुणों से भरपूर बताया गया है, इसकी तासीर गर्म होती है इसलिए इसे कई स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज में कारगर माना जाता है। 

चक्रफूल में एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण भरपूर होते हैं, जो शरीर को कई बीमारियों से बचाते हैं। इसके अलावा चक्रफूल में जोड़़ों के दर्द से भी राहत दिलाता है। वैसे तो आप चक्रफूल का उपयोग खाने में डालकर करते होंगे, लेकिन आप चाहें तो इसका पानी (Chakar Phool Water Bennefits) भी पी सकते हैं। चक्रफूल का पानी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। चलिए रामहंस चेरिटेबल हॉस्पिटल के आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से विस्तार से जानते हैं चक्रफूल का पानी पीने से सेहत को कौन-कौन से लाभ मिलते हैं।

joint pain

चक्रफूल के पानी में मौजूद तत्व

चक्रफूल में लिनालूल, क्वेरसेटिन, एनेथोल, शिकिमिक एसिड, गैलिक एसिड और लाइमोनीन जैसे तत्व पाए जाते हैं। इसके अलावा चक्रफूल एंटीऑक्सीडेंट का भी अच्छी सोर्स है। चक्रफूल में एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियलल गुण भी होते हैं। चक्रफूल के ये सभी तत्व सेहत को कई तरह से लाभ पहुंचाते हैं।

चक्रफूल का पानी पीने के फायदे (Star Anise Water Benefits in Hindi) 

1. जोड़ों के दर्द में आराम

चक्रफूल का पानी पीने से जोड़ों के दर्द में आराम मिल सकता है। इतना ही नहीं चक्रफूल में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण शरीर या जोड़ों की सूजन को भी कम करने में कारगर होता है। अगर आपको जोड़ों में दर्द, सूजन रहता है तो आप चक्रफूल के पानी को रेगुलर सेवन कर सकते हैं। इसका संतुलित मात्रा में सेवन करने से आपको दर्द में काफी आराम मिलेगा। हड्डियां, मासंपेशियां भी मजबूत बनेंगी, दर्द से राहत मिलेगी।

2. मौसमी बीमारियों से बचाव

चक्रफूल के पानी में एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल गुण होते हैं, जो बदलते मौसम के दौरान होने वाली बीमारियों से बचाते हैं। चक्रफूल का पानी पीने से आप फ्लू, मौसमी बीमारियों से अपना बचाव कर सकते हैं। इसके साथ ही चक्रफूल का पानी पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत बनती है, जो बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता है। चक्रफूल का पानी पीने से आप सर्दी-जुकाम, खांसी आदि से भी बच सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - त्वचा के लिए चक्र फूल के लाभ: एक्ने से हैं परेशान तो इन 5 तरीकों से इस्तेमाल करें चक्र फूल

chakar phool

3. अपच में फायदेमंद चक्रफूल

चक्रफूल का पानी पेट के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। इसे पीने से अपच की समस्या में आराम मिलता है। चक्रफूल एंटीएसिड का काम करता है, जो गैस और अपच से बचाता है। चक्रफूल का पानी पाचन क्रिया में सुधार करता है। पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए आपको चक्रफूल का पानी जरूर पीना चाहिए। चक्रफूल का पानी ब्लॉटिंग को भी रोकता है, पेट में भारीपन और सूजन को भी कम करने में कारगर होता है। पेट से जुड़े रोगों को दूर करने के लिए आप चक्रफूल का पानी पी सकते हैं।

4. फंगल इंफेक्शन से बचाए

चक्रफूल में एंटीफंगल गुण होते हैं, जो फंगल इंफेक्शन से बचाता है। अगर आप चक्रफूल का पानी पीते हैं, तो जल्दी से फंगल इंफेक्शन का शिकार होने से बचेंगे। चक्रफूल का पानी फंगल इंफेक्शन से बचाता है, साथ ही इसे कम करने में भी मदद करता है। अगर आपको फंगल इंफेक्शन हो जाता है, तो इसके पानी का उपयोग कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - चंद्र चक्र योग करने से मन और शरीर दोनों को मिलता है फायदा, जानें इसके अभ्यास का तरीका

5. उम्र बढ़ने के लक्षण रोके

चक्रफूल में एंटीऑक्सीडेंट्स गुण होते हैं, जो शरीर में फ्री रेडिकल्स को कंट्रोल करते हैं। इसके अलावा इसमें विटामिन ए और विटामिन सी भी होता है, जो त्वचा के लिए जरूरी होते हैं। चक्रफूल का पानी पीने से उम्र बढ़ने के लक्षणों को रोकने में मदद मिलती है।

चक्रफूल का पानी कैसे बनाएं? 

  • चक्रफूल का पानी बनाने के लिए पहले चक्र फूल लें। 
  • इसमें हल्का सा सोंठ, थोड़ा सा दालचीनी डालें। 
  • इन सभी को पानी में उबाल लें।
  • इसके बाद इस पानी को छाल लें, फिर इसका सेवन करें।

चक्रफूल के पानी की तासीर गर्म होती है, ऐसे में गर्मियों में इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार पित्त प्रकृति के लोगों को चक्रफूल का सेवन करने से बचना चाहिए। या फिर डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करना चाहिए। 

Disclaimer