कोरोना के मरीजों में क्यों हो सकता है सीने में दर्द? डॉक्टर से जानें संभावित कारण

सीने में दर्द होना कोरोना वायरस का एक लक्षण है। लेकिन कोरोना मरीजों को यह कई कारणों से हो सकता है। जानें इसके संभावित कारण

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 02, 2021
कोरोना के मरीजों में क्यों हो सकता है सीने में दर्द? डॉक्टर से जानें संभावित कारण

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus in India) के मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। दूसरी लहर (Covid Second Wave) में कोरोना के बदलते म्यूटेंट (Mutants) की वजह से इसके लक्षणों में भी काफी बदलाव देखने को मिले हैं। वैसे तो बुखार, खांसी, गले में खराब, कमजोरी और शरीर में दर्द कोरोना के आम लक्षण हैं। लेकिन इस बार कई मामलों में सीने में दर्द (Chest Pain in Covid Patients), सांस लेने में तकलीफ, उल्टी और डायरिया भी कोरोना के लक्षणों (Covid Symptoms) में देखने को मिले हैं। फेफड़ों में संक्रमण (Lungs Infection) की वजह से अकसर कोरोना मरीजों को सांस लेने में तकलीफ और सीने में दर्द की समस्या होती है। लेकिन कोरोना के मरीजों में सीने में दर्द होने के पीछे कई दूसरे कारण भी जिम्मेदार हो सकते हैं। फ्लोरेस हॉस्पिटल, गाजियाबाद के सीनियर फिजिशियन डॉक्टर एम.के.सिंह (Dr. M.K.Singh, Senior Physician at Flores Hospital, Ghaziabad) से जानते हैं, कोरोना के मरीजों में सीने में दर्द होने के संभावित कारण-

covid

1. फेफड़ों में संक्रमण (Lungs Infection)

कोरोना वायरस सबसे पहले और ज्यादा फेफड़ों को ही संक्रमित करता है। कोविड 19 से संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ों में संक्रमण होने पर उसे सीने में दर्द की समस्या हो सकती है। साथ ही अगर संक्रमण की वजह से फेफड़ों में सूजन होती है, तो भी उसे सीने में दर्द महसूस हो सकता है। ऐसे में अगर आपको आइसोलेशन के दौरान सीने में दर्द की समस्या हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। आपकी समस्या को जानने के बाद डॉक्टर आपको एक्स-रे या सीटी स्कैन (X-Ray or CT Scan) कराने की सलाह दे सकते हैं। इससे फेफड़े कितने संक्रमित हुए हैं, इसका पता चल सकेगा। 

इसे भी पढ़ें - क्या कोविड वैक्सीन की दो डोज के बाद भी हर 6 महीने में लगवानी पड़ेगी बूस्टर डोज? डॉक्टर से जानें जरूरी बातें

2. सूखी खांसी (Dry Cough)

लगातार सूखी खांसी कोरोना वायरस का एक सामान्य लक्षण है। अकसर खांसी या बुखार के बाद ही लोग कोरोना की जांच करवाते हैं। कोरोना मरीजों को लगातार खांसी होती रहती है। कई बार इसकी वजह से सीने की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं, जिससे कोरोना मरीजों को सीने में दर्द महसूस होता है। लंबे समय तक सूखी खांसी होने पर सांस लेने में भी तकलीफ हो सकती है। अगर आपको आइसोलेशन पीरियड में लगातार लंबे समय तक खांसी हो, तो इसे आम समस्या समझकर नजरअंदाज न करें। इससे बाद में आपकी समस्या बढ़ सकती है। इसलिए सूखी खांसी होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और उनके द्वारा प्रिस्क्राइब की गई दवाइयां लें।

covid

3. कोविड निमोनिया (Covid Pneumonia)

कोरोना मरीजों के सीने में दर्द (Chest Pain in Covid Patients) होने का एक कारण कोविड निमोनिया भी हो सकता है। कोरोना वायरस के संक्रमण के गंभीर होने पर कोविड निमोनिया होने का खतरा रहता है। देश में कोविड निमोनिया के ज्यादातर मामले दूसरी लहर में सामने आ रहे हैं। निमोनिया फेफड़ों में मौजूद वायु थैली में सूजन पैदा करता है, जिससे सीने में दर्द की समस्या हो सकती है। ऐसे में अगर आपको भी सीने में दर्द हो, तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इस स्थिति में डॉक्टर आपको कोविड निमोनिया की जांच के लिए कह सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - कोरोना काल में फ्रिज का ठंडा पानी पीना कितना नुकसानदायक? डॉक्टर से जानें ठंडा पानी पिएं या नहीं

4. पल्मोनरी एम्बोलिज्म (Pulmonary Embolism)

पल्मोनरी एम्बोलिज्म भी सीने में दर्द का एक कारण हो सकता है। यह एक हृदय रोग (Heart Disease) है, जिसमें फेफड़ों तक रक्त ले जाने वाली रक्तवाहिकाओं (Blood Vessels) में रक्त का थक्का (Blood Clot) जम जाता है। इसकी वजह से फेफड़ों में रक्त का प्रवाह (Blood Circulation) बाधित हो जाता है। जिससे सीने या छाती में दर्द महसूस हो सकता है। कोरोना से संक्रमित गंभीर मरीजों में यह समस्या देखने को मिल रही है। ऐसे में अगर आप कोरोना संक्रमित हैं और सीने में दर्द की समस्या हो रही है, तो इसे बिल्कुल भी अनदेखा न करें। इस दौरान आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत होती है। यह ज्यादातर हृदय रोगियों में देखने को मिलता है। 

अगर आप भी कोरोना से संक्रमित हैं, साथ ही सीने में दर्द की समस्या हो रही है तो इसके पीछे ऊपर बताए गए कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। इस स्थिति में आपको इस लक्षण को बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। सीने में लंबे समय तक दर्द होने पर सांस लेने में भी तकलीफ हो सकती है। लंबे समय तक इसे अनदेखा करने पर समस्याएं बढ़ सकती है।

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer