सर्दी में खाएं पहाड़ी भंगजीरा, सेहत को मिलेंगे गजब के फायदे

Bhangjeera Benefits in Hindi: भंगजीरा खाना सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। आप इसे अपनी विंटर डाइट में शामिल कर सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Dec 27, 2022 08:00 IST
सर्दी में खाएं पहाड़ी भंगजीरा, सेहत को मिलेंगे गजब के फायदे

Bhangjeera Health Benefits in Hindi: उत्तराखंड में कई ऐसी जड़ी-बूटियां हैं, जिनका उपयोग स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने के लिए किया जाता है। वहीं, उत्तराखंड में कई ऐसी चीजें भी पाई जाती हैं, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती हैं। इसमें भंगजीरा भी शामिल है। भंगजीरा का पहाड़ी इलाकों में काफी महत्व होता है। इसका वानस्पतिक नाम परिला फ्रूटीसेंस है। इसमें कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं। साथ ही भंगजीरा पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है। इसमें ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी पाया जाता है, जिन्हें स्वास्थ्य के लिए काफी जरूरी माना जाता है। आपको बता दें कि भंगजीरा एक पौधा होता है, इसका उपयोग कई तरह से किया जाता है। खासकर, पहाड़ी लोग भंगजीर के बीजों को अपने खाने में जरूर शामिल करते हैं। आपको बता दें कि भंगजीरा के बीजों में लगभग 30 से 40 फीसदी तेल होता है। कई लोग भंगजीर के तेल का भी उपयोग करते हैं। आप भी भंगजीरा के बीजों और तेल को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। तो चलिए, जानते हैं भंगजीरा खाने के फायदे क्या हैं? (Bhangira Khane ke Fayde)

भंगजीरा खाने के फायदे- Bhangjeera Health Benefits in Hindi

डेड स्किन सेल्स को रिमूव करे

भंगजीरा का तेल डेड स्किन सेल्स को रिमूव करने में असरदार साबित हो सकता है। अगर आप भंगजीरा के तेल से शरीर की मालिश करेंगे, तो इससे मृत त्वचा आसानी से निकल सकती है। इससे स्किन में निखार आ सकता है और त्वचा से जुड़ी समस्याओं में आराम मिल सकता है। भंगजीरा में एंटीऑक्सीडेंट्स गुण पाए जाते हैं, इसलिए यह त्वचा को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से भी बचा सकता है। भंगजीरा का तेल स्किन एलर्जी को भी दूर करने में सहायक हो सकता है। 

bhangjira good for stomach

पेट के लिए उपयोगी

भंगजीरा पेट के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकता है। भंगजीरा को डाइट में शामिल करने से गैस, कब्ज और एसिडिटी से आराम  मिल सकता है। इसलिए भंगजीरा को पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। आप पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए भंगजीरा का सेवन कर सकते हैं। 

एंटीऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूरण

भंगजीरा में एंटीऑक्सीडेंट्स काफी अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। ऐसे में अगर आप भंगजीरा के बीज या तेल का सेवन करेंगे, तो इससे आप फ्री रेडिकल्स से बच सकते हैं। भंगजीरा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स स्किन के साथ ही सेहत के लिए भी लाभकारी हो सकते हैं। भंगजीरा खाने से कैंसर, हृदय रोगों से बचाव हो सकता है। लेकिन याद रखें कि भंगजीरा किसी भी गंभीर बीमारी का इलाज नहीं कर सकता है।

इसे भी पढ़ें- सर्दियों में इस पहाड़ी दाल को खाने से सेहत को मिलेंगे कई फायदे, जानें इसे खाने के 3 तरीके

सूजन कम करे

भंगजीरा शरीर या त्वचा की सूजन को भी कम कनरे में मदद कर सकता है। दरअसल, भंगजीरा में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। ऐसे में अगर आप भंगजीरा के बीजों का सेवन करेंगे या फिर भंगजीरा के तेल से शरीर की मालिश करेंगे, तो इससे आपके शरीर की सूजन में आराम मिल सकता है। भंगजीरा के तेल से मालिश करने से जोड़ों के दर्द और सूजन से राहत मिल सकती है।

पोषक तत्वों से भरपूर

भंगजीरा के बीजों में विटामिन्स और मिनरल्स अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए आप स्वस्थ रहने के लिए भंगजीरा को अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं। भंगजीरा में प्रोटीन, कार्ब्स, विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। इसके अलावा भंगजीरा में एंटीमाइक्रोबियल, एंटीएलर्जिक और एंटीऑक्सीडेंट्स गुण पाए जाते हैं।  

इसे भी पढ़ें- Pulses Health Benefits : सर्दियों में पहाड़ी ‘गहत की दाल’ खाना है फायदेमंद, जानें इसके 6 लाभ

bhangjira health benefits

भंगजीरा खाने के तरीके- How to Eat Bhangjira in Hindi

  • आप भंगजीरा को अपनी डाइट में कई तरीकों से शामिल कर सकते हैं। 
  • आप भंगजीरा के पत्तों की चटनी बनाकर खा सकते हैं।
  • आप भंगजीरा के बीजों की चटनी खा सकते हैं।
  • इसके अलावा आप भंगजीरा को अजवाइन की तरह पकौड़ों में भी डाल सकते हैं। 
  • आप भंगजीरा के बीजों को भूनकर चबा सकते हैं। 
  • भंगजीरा के तेल का उपयोग शरीर की मालिश करने के लिए किया जा सकता है।
  • भंगजीरा के तेल को आप अपनी डाइट में भी शामिल कर सकते हैं। 

अगर आप उत्तराखंड के रहने वाले हैं, तो आपने भंगजीरा का सेवन जरूर किया होगा। लेकिन अगर आप पहाड़ी नहीं है, तो भी आप मार्केट से भंगजीरा खरीदकर अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। भंगजीरा कई औषधीय गुणों से भरपूर होता है, ऐसे में अगर आप भंगजीरा का सेवन करेंगे तो इससे आप कई स्वास्थ्य समस्याओं से अपना बचाव कर सकते हैं।

Disclaimer