शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर करें इन 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का सेवन, हड्डियां बनेंगी मजबूत

Ayurvedic Herbs for Calcium: कैल्शियम शरीर के लिए बहुत जरूरी होता है। आप कुछ जड़ी-बूटियों के सेवन से भी कैल्शियम ले सकते हैं। 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 23, 2022Updated at: Apr 23, 2022
शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर करें इन 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का सेवन, हड्डियां बनेंगी मजबूत

What Herbs Are High in Calcium: अच्छे स्वास्थ्य के लिए शरीर में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम का होना बहुत जरूरी होता है। कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाता है, उन्हें कमजोर होने से बचाता है। इसके अलावा कैल्शियम दांतों के लिए भी जरूरी होता है। कैल्शियम हड्डियों के कमजोर होने और ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारियों को रोकने में मदद करता है। अधिकतर लोग कैल्शियम लेने के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करते हैं। आप चाहें तो शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर कुछ जड़ी-बूटियों का सेवन भी कर सकते हैं। चलिए विस्तार से जानते हैं कैल्शियम की कमी होने पर कौन-कौन से आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का सेवन किया जा सकता है।

guggul

1. गुग्गुल

गुग्गुल एक आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी है, यह शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करता है। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर आप गुग्गुल का सेवन कर सकते हैं। 250 मिग्रा. गुग्गुल में करीब 2 ग्राम कैल्शियम होता है। आयुर्वेद में जोड़ों में दर्द होने पर अक्सर गुग्गुल का सेवन करने की सलाह दी जाती है। 

इसे भी पढ़ें - दूध से एलर्जी है तो शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी करने के लिए खाएं ये 10 फूड्स

2. गिलोय

आयुर्वेद में गिलोय का उपयोग कई बीमारियों का इलाज करने के लिए किया जाता है। गिलोय कॉपर, आयरन, फॉस्फोरस, जिंक, कैल्शियम और मैग्नीशियम का बेहतर सोर्स होता है। गिलोय शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है, साथ ही हड्डियां भी मजबूत बनाता है। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर आप गिलोय का काढ़ा, गिलोय जूस या फिर गिलोय चूर्ण ले सकते हैं। 

tulsi

3. तुलसी

ताजा या सूखा तुलसी भी कैल्शियम का अच्छा सोर्स होता है। 1 चम्मच तुलसी में करीब 42 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। इसलिए अगर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है, तो आप तुलसी का सेवन कर सकते हैं। तुलसी में कैल्शियम के अलावा अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए जरूरी होते हैं। तुलसी इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही हड्डियों को भी मजबूत बनाता है। 

4. अजवाइन के बीज

अजवाइन भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। अजवाइन के बीज में कैल्शियम भरपूर होता है। 1 चम्मच अजवाइन के बीज में 115 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। आप अजवाइन के बीजों का उपयोग सूप आदि में कर सकते हैं। इसके अलावा सौंफ, जीरा और धनिया के बीज में भी कैल्शियम अच्छी मात्रा में होता है। कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए आप अपने आहार में इन बीजों को शामिल कर सकते हैं। 

इसके अलावा सूखे अजवाइन के फूल और डिल भी कैल्शियम के लिए बेस्ट जड़ी-बूटी है। प्रति चम्मच सूखे अजवाइन के फूल में करीब 45 मिग्रा कैल्शियम होता है। आप ग्रिल्ड फिश, भुनी हुई सब्जियों इसकी गार्निशिंग कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - थायराइड मरीजों के लिए क्यों जरूरी है कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर डाइट? डॉक्टर से जानें

5. दालचीनी

आयुर्वेद में दालचीनी को काफी फायदेमंद माना गया है। दालचीनी के उपयोग से कई शारीरिक समस्याएं दूर होती हैं। एक चम्मच दालचीनी में करीब 78 मिग्रा कैल्शियम होता है। आप दालचीनी पानी, दालचीनी काढ़ा पी सकते हैं। 

अगर आपको भी हड्डियों में दर्द रहता है या फिर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी है, तो आप इन आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का सेवन कर सकते हैं।

Disclaimer