डायबिटीज, मोटापा और हार्ट की बीमारियों से बचाव में मदद कर सकती है अर्जुन की छाल, जानें आयुर्वेदिक लाभ

आयुर्वेद में अर्जुन की छाल को कई बीमारियों के लिए फायदेमंद बताया गया है। जानें किन बीमारियों में इसका किस तरह इस्तेमाल करके आप लाभ पा सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 06, 2020Updated at: Mar 06, 2020
डायबिटीज, मोटापा और हार्ट की बीमारियों से बचाव में मदद कर सकती है अर्जुन की छाल, जानें आयुर्वेदिक लाभ

हमारी प्रकृति तमाम तरह के रहस्यों से भरी हुई है। प्रकृति ने हमें ऐसी बहुत सारी चीजें सौंपीं हैं, जो हमारे रोजमर्रा की समस्याओं को ठीक करने में मदद करती हैं और सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं। अर्जुन एक तरह का पेड़ है, जिसकी छाल का आयुर्वेद में बड़ा महत्व माना गया है। आयुर्वेद के अनुसार अर्जुन की छाल से कई बीमारियों को ठीक किया जा सकता है और रोका जा सकता है। इसके औषधीय गुणों के कारण ही इसकी छाल का पाउडर बनाकर इसे तमाम दवाओं में प्रयोग किया जाता है। आयुर्वेद की मानें तो अर्जुन की छाल के इस्तेमाल से डायबिटीज और मोटापे को कंट्रोल किया जा सकता है, तो दिल की बीमारियों के खतरे को कम किया जा सकता है। आइए आपको बताते हैं इसके कुछ स्वास्थ्य लाभ।

अर्जुन की छाल में होते हैं कई खास तत्व

अर्जुन के पेड़ की छाल में कई खास तत्व होते हैं, जिसके कारण इसे सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है। वैज्ञानिक शोधों के अनुसार इसमें कार्बॉक्सिलिक एसिड, ट्राईहाइड्रॉक्सी ट्राईटरपीन, इलेजिक एसिड और बीटा सिटोस्टिरोल जैसे खास एसिड्स पाए जाते हैं। इन्हीं के कारण इसकी छाल का इस्तेमाल कई रोगों को ठीक करने में किया जाता है। इनमें से कई एसिड्स ऐसे हैं, जो आपकी त्वचा के लिए भी फायदेमंद माने जाते हैं और आर्टिफिशियल फॉर्म में ब्यूटी प्रोडक्ट्स में मिलाए जाते हैं। यही कारण है कि आयुर्वेद में अर्जुन की छाल को त्वचा के लिए भी फायदेमंद माना गया है। कई सारी आयुर्वेदिक और ऑर्गेनिक ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इसकी छाल का इस्तेमाल भी किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: आयुर्वेद में कई समस्याओं के लिए फायदेमंद माना जाता है दगड़ फूल (पत्थर का फूल), जानें इसके लाभ

डायबिटीज में कैसे है फायदेमंद

डायबिटीज होने पर शरीर में ब्लड शुगर बढ़ने लगता है, जिसके कारण कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं और अंगों के डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है। मगर अर्जुन की छाल के प्रयोग से ब्लड शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है। इसके लिए अर्जुन की छाल को सूखे हुए जामुन के साथ बराबर मात्रा में मिलाकर पीस लें और इस चूर्ण का सेवन रोज रात में सोने से पहले करें। इससे आपके शरीर में इंसुलिन के बनने की प्रक्रिया भी सामान्य हो जाएगी।

200 ग्राम अर्जुन की छाल खरीदें 85% डिस्काउंट मूल्य पर: Maven and Bloom Pure Arjun Chhal Arjuna Bark - Arjun Ki Chaal - अर्जुन की छाल (200 GM) At Offer Price of: Rs. 149/-

मोटापा कम करने में मददगार

अर्जुन की छाल के इस्तेमाल से मोटापे को भी कंट्रोल किया जा सकता है। मोटापा इन दिनों एक बड़ी समस्या बन गया है और करोड़ों लोग इसके कारण गंभीर और जानलेवा बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। इसलिए आप मोटापे को कंट्रोल करने का आयुर्वेदिक तरीका ढूंढ रहे हैं, तो अर्जुन की छाल आपकी मदद कर सकता है। दरअसल अर्जुन के पेड़ की छाल का काढ़ा बनाकर इसका नियमित सेवन करने से आपका मेटाबॉलिज्म तेज होता है और पाचन बेहतर होता है। इसलिए इसके सेवन से शरीर में फैट बर्न करने की गति बढ़ जाती है और वजन घटने लगता है।

इसे भी पढ़ें: ये आयुर्वेदिक नुस्खे दिलाएंगे आपको वायरल इंफेक्शन से छुटकारा, बदलते मौसम में बढ़ जाता है वायरल

दिल की बीमारियों में फायदेमंद

दिल की बीमारियां यानी हार्ट अटैक, कार्डियक अरेस्ट, हार्ट फेल्योर आदि के कारण दुनियाभर में सबसे ज्यादा लोग मरते हैं। भारत में भी बड़ी संख्या में लोग हर साल इन बीमारियों का शिकार होते हैं। मगर दिल की बीमारियों के खतरे को अर्जुन की छाल के इस्तेमाल के द्वारा कम किया जा सकता है। इसकी छाल को पानी में उबालकर इसकी चाय बनाकर पीने से दिल की बीमारियों से बचाव होता है। इसके अलावा ये चाय आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मददगार होती है।

Watch Video: आयुर्वेद के अनुसार कैसे बनाएं त्रिदोष दूर करने वाली दाल, वीडियो में जानें तरीका

Read more articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer