हमेशा फिट रहने के लिए डाइट में जरूर शामिल करें एल्‍काइन फूड्स, भरपूर मात्रा में मिल सकेगी ऊर्जा

क्षारीय भोजन रक्‍त में पीएच का स्‍तर सही बनाये रखने में मदद करता है। अधिक अम्‍लीय भोजन शरीर के लिए हानिकारक होता है। ऐसे भोजन से सुस्‍ती और थकान हो सक

Vishal Singh
Written by: Vishal SinghUpdated at: May 27, 2020 12:43 IST
हमेशा फिट रहने के लिए डाइट में जरूर शामिल करें एल्‍काइन फूड्स, भरपूर मात्रा में मिल सकेगी ऊर्जा

पाचन की प्रक्रिया के दौरान, हमारा पेट गैस्ट्रिक एसिड बनाता है, जो हमारे भोजन को तोड़ने में मदद करता है। पेट में पीएच संतुलन होता है जो 2.0 से 3.5 के बीच होता है, जो काफी अम्लीय होता है लेकिन पाचन की प्रक्रिया के लिए बहुत जरूरी होता है। हालांकि, कभी-कभी अनियमित जीवनशैली और भोजन की आदतों के कारण शरीर में अम्लीय स्तर कम हो जाता है, जिससे एसिडिटी, एसिड रिफ्लक्स और गैस्ट्रिक बीमारियां होती हैं। जो हमारी सेहत के लिए ठीक नहीं होती है। 

अगर आप अम्लीय खाद्य पदार्थ जैसे बर्गर, समोसा, पिज्जा, रोल, पनीर सैंडविच, सॉसेज, बेकन, कबाब, कोला, डोनट्स, पेस्ट्री, आदि का सेवन करते हैं, जो लंबे समय में पेट में अम्लीय संतुलन को बाधित कर सकता है। इससे आपका स्वास्थ्य भी बिगड़ सकता है। इससे बचने के लिए आपको क्षारीय फूड (Alkaline Foods) का सेवन करना चाहिए। यह ध्यान रखना जरूरी है कि शरीर में एक घटक एसिड या क्षारीय भोजन के पीएच से कोई लेना-देना नहीं है। आपको बता दें कि खट्टे फल प्रकृति में अम्लीय होते हैं, लेकिन साइट्रिक एसिड वास्तव में हमारे शरीर में एक क्षारीय प्रभाव होता है। आइए आपको बताते हैं कि आपको अपनी डाइट में किन क्षारीय आहार को शामिल करना चाहिए। 

healthy diet

खट्टे फल (Citrus Fruits)

नींबू, चूना और संतरे विटामिन सी से भरे हुए हैं और एसिडिटी और हार्ट बर्न से राहत प्रदान करने के साथ आपके शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करने के लिए जाने जाते हैं। आपको अपनी डाइट में खट्टे फलों को जरूर शामिल करना चाहिए। 

समुद्री आहार (Seaweed Foods)

क्या आप जानते हैं कि समुद्री सब्जियों में जमीन पर उगाए जाने वाले पदार्थों की तुलना में 10 से 12 गुना ज्यादा खनिज पाया जाता है। इसके साथ ही उन्हें अत्यधिक क्षारीय खाद्य स्रोत भी माना जाता है और शरीर के लिए अलग-अलग फायदों के लिए भी जाना जाता है। आप नोरी या केल्प में अपने सूप या हलचल-फ्राइज़ के कटोरे में टिप कर सकते हैं या घर पर सुशी बना सकते हैं। 
 

जड़ वाली सब्जियां (Root Vegetables) 

जड़ वाली सब्जियां आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है, शकरकंद, जड़ो, कमल की जड़, बीट और गाजर जैसी जड़ वाली सब्जियाँ क्षारीय आहार के काफी अच्छे स्रोत हैं। मसाले और अन्य मसाला के थोड़ा छिड़काव के साथ भुने जाने पर वे और भी अच्छे लगने लगते हैं। 

नट्स (Nuts)

नट्स का नियमित रूप से सेवन करना आपकी सेहत के लिए अच्छा होता है, ये अच्छे वसा का स्त्रोत के अलावा शरीर में एक क्षारीय प्रभाव भी पैदा करते हैं। हालांकि, वे कैलोरी में उच्च हैं, इसलिए नट्स का सेवन सीमित मात्रा में होना चाहिए। आपको अपने रोजाना के भोजन की योजना में काजू, बादाम और बादाम शामिल करने चाहिए।
 

हरी पत्तेदार सब्जियां (Green Leafy Vegetables)

ज्यादातर हरी पत्तेदार सब्जियों को हमारे सिस्टम में एक क्षारीय (Alkaline Foods) प्रभाव कहा जाता है। यह बिना कारण नहीं है कि हमारे बुजुर्ग और स्वास्थ्य विशेषज्ञ हमेशा हमें अपने दैनिक आहार में साग को शामिल करने की सलाह देते हैं। इनमें कुछ जरूरी खनिज होते हैं जो शरीर के लिए अलग-अलग कामों के लिए जरूरी होते हैं। इसके लिए आपको अपने भोजन में पालक, केल, अजवाइन, अजमोद, अर्गुला और सरसों का साग शामिल करने चाहिए।

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer