हार्ट के मरीज एयर ट्रैवल करते समय ध्यान रखें ये 7 बातें, डॉक्टर से जानें जरूरी सावधानियां

दिल से जुड़ी बीमारियों के मरीजों (हार्ट पेशेंट) को सुरक्षित तरीके से एयर ट्रेवल करने के लिए कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है, जानें इनके बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Sep 10, 2021Updated at: Sep 10, 2021
हार्ट के मरीज एयर ट्रैवल करते समय ध्यान रखें ये 7 बातें, डॉक्टर से जानें जरूरी सावधानियां

आधुनिक जीवनशैली और खानपान के कारण आज के समय में तमाम लोग हार्ट डिजीज के शिकार हो रहे हैं। आज के समय में दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियां युवावस्था में भी लोगों को हो रही हैं। हार्ट डिजीज से जूझ रहे लोगों को लाइफस्टाइल और खानपान को लेकर बहुत सावधानी बरतनी चाहिए। डॉक्टर्स भी मरीजों को तमाम सावधानियों के बारे में जरूर बताते हैं। दिल से जुड़ी बीमारियों में खानपान से जुड़ी आदतों में गड़बड़ी, जीवनशैली में बदलाव और नींद आदि की कमी बहुत बुरा असर डालते हैं। दिल से जुड़ी कुछ गंभीर बीमारियों में मरीज को सिर्फ खानपान ही नहीं बल्कि सभी तरह की गतिविधियों पर ध्यान देने की जरूरत होती है। अगर आप हार्ट के मरीज हैं और एयर ट्रेवल कर रहे हैं तो इस दौरान भी आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइये जानते हैं हार्ट के मरीजों के लिए एयर ट्रेवल टिप्स के बारे में।

दिल के मरीज एयर ट्रेवल करते समय रखें इन बातों का ध्यान (Air Travel Tips for Heart Patient)

Air-Travel-Tips-For-Heart-Patients

(image source - heart.org)

हाल ही में जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक हार्ट के मरीजों को एयर ट्रेवल करते समय कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। अगर आप हार्ट के मरीज हैं तो एयर ट्रेवल करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। कोरोनरी आर्टरी डिजीज, दिल की धड़कन में अनियमितता और हार्ट अटैक या हार्ट ट्रांसप्लांट जैसी स्थितियों में एयर ट्रेवल करते समय थोड़ी सावधानी भी बरतनी चाहिए। एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट के सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. तिलक सुवर्णा (Dr. Tilak Suvarna) से हमने इस विषय को लेकर बातचीत की, उन्होंने हमें बताया कि सामान्य रूप से दिल की बीमारियों से ग्रसित लोगों को एयर ट्रेवल के दौरान विशेष ध्यान रखने की जरुरत नहीं होती है। दिल से जुड़ी सामान्य बीमारियों के पेशेंट सुरक्षित तरीके से एयर ट्रेवल कर सकते हैं। लेकिन कुछ बातें हैं जिनको ध्यान में रखने से आप इस दौरान होने वाली समस्याओं से बच सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : दिल (हार्ट) के मरीजों को एक्सरसाइज करते समय जरूर ध्यान रखनी चाहिए ये 5 बातें, वरना हो सकती हैं कई समस्याएं

1. डॉ सुवर्णा ने हमें बताया कि हार्ट के मरीज जो एयर ट्रेवल कर रहे हैं उन्हें अपनी दवाएं अपने चेक इन लगेज यानी अपने साथ जरूर रखनी चाहिए। तमाम ऐसे मरीज होते हैं जिन्हें ब्लड प्रेशर, सीने में दर्द जैसी समस्याओं के लिए दवाओं का सेवन करना पड़ता है। ऐसे में अगर आप दिल के मरीज हैं और लंबी हवाई यात्रा कर रहे हैं तो इन दवाओं को अपने पास में जरूर रखें।

2. हार्ट के मरीज जो एयर ट्रेवल कर रहे हैं उन्हें अपने हाइड्रेशन का सही तरीके से ध्यान रखना चाहिए। समय-समय पर ऐसे मरीजों को पानी जरूर पीना चाहिए। क्योंकि ऐसे लोगों को अधिक ऊंचाई पर डिहाइड्रेशन होने के बाद क्लॉटिंग का डर रहता है इसलिए ऐसी स्थिति से बचने के लिए समय-समय पर पानी जरूर पीते रहना चाहिए।

Air-Travel-Tips-For-Heart-Patients

(image source - heart.org)

इसे भी पढ़ें : कार्डियक अस्थमा है हार्ट और फेफड़े से जुड़ी गंभीर बीमारी, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

3. हार्ट फेलियर के मरीज जिनका हार्ट पम्पिंग बहुत कमजोर है या उनके लंग प्रेशर बहुत ज्यादा हो तो ऐसे मरीजों को अधिक सावधानी रखनी चाहिए। डॉक्टर ऐसे मरीजों को समय-समय पर दवा लेने की सलाह देते हैं। ऐसे मरीजों को एयर ट्रेवल करने से पहले या उसके दौरान अपनी दवाओं के डोज मिस नहीं करने चाहिए। 

4. हार्ट के मरीजों को लंबी यात्रा के दौरान पूरे समय बैठे नहीं रहना चाहिए। दिल से जुड़ी बीमारियों के मरीज जो लंबी दूरी की हवाई यात्रा कर रहे हैं उन्हें बीच-बीच में उठकर थोड़ा चल लेना चाहिए। ऐसा करने से मरीजों के पैरों में क्लॉट बनने की संभावना नहीं रहेगी। लगातार काफी देर तक बैठे रहने से मरीज के पैरों में ब्लड क्लॉट बनने का खतरा रहता है जो हृदय तक पहुंच सकते हैं। कुछ मामलों में ये बहुत खतरनाक माना जाता है। इसकी वजह से मरीज की मौत भी हो सकती है। ऐसे मरीजों को हर दो से तीन घंटे में थोड़ी देर चलना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : दुखी होने पर आपके दिल (हार्ट) पर इसका कैसे असर पड़ता है? जानें गहरे दुख में कैसे रखें दिल की सेहत का खयाल

5. हार्ट अटैक के मरीजों को एयर ट्रेवल करते समय थोड़ी सावधानी रखनी चाहिए। ऐसे मरीज जिन्हें हाल ही में हार्ट अटैक आया है और उनका इलाज चल रहा है उन्हें अगर गंभीर समस्या है तो लंबी फ्लाइट लेने से बचना चाहिए। ऐसे मरीज जिनकी स्थिति गंभीर है उन्हें अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही ट्रेवल करना चाहिए।

6. ऐसे हार्ट पेशेंट जिनका हार्ट पम्पिंग कमजोर है या जिन्हें एंजाइना है या जिनकी बाईपास या एंजियोप्लास्टी नहीं हुई है, ऐसे मरीजों को भारी वजन उठाने से बचना चाहिए। ऐसे मरीजों में 5-7 किलोग्राम से अधिक वजन उठाने से बचना चाहिए।

7. ऐसे मरीज जिन्हें हार्ट अटैक हुआ है और गंभीर स्थिति में हैं उन्हें दौरा पड़ने के बाद दो सप्ताह से कम समय के भीतर हवाई यात्रा करने की सलाह नहीं दी जाती है। जिन मरीजों की हालत स्थिर है उन्हें दो सप्ताह के बाद एयर ट्रेवल करने की अनुमति होती है। लेकिन ऐसे मरीज जिनकी हालत नाजुक है या जिन्हें दोबारा दिल का दौरा पड़ने की संभावना है ऐसे लोगों को अपने डॉक्टर से सलाह पर ही एयर ट्रेवल करना चाहिए। गंभीर स्थिति वाले मरीजों द्वारा तुरंत एयर ट्रेवल करने से जोखिम अधिक हो जाता है। इन स्थितियों में बिना डॉक्टर की सलाह के यात्रा नहीं करनी चाहिए।

Air-Travel-Tips-For-Heart-Patients

(image source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : जानें क्‍या होते हैं हार्ट अटैक के लक्षण और कैसे क‍रें बचाव?

डॉक्टर्स यह सलाह देते हैं कि हार्ट के मरीज जिनकी स्थिति सामान्य नहीं है उन्हें एयर ट्रेवल करने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह जरूर लेनी चाहिए। इस दौरान लापरवाही आप पर भारी पड़ सकती है। एयर ट्रेवल करते समय आप एक्सपर्ट डॉक्टर द्वारा बताई गयी इन बातों का ध्यान रख सकते हैं। इसके अलावा ट्रेवल करने के दौरान कुछ नियम और गाइडलाइन्स का पालन करना होता है जिसके बारे में आप अपने सेवन प्रदाता से पूछ सकते हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हम किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह या उपचार के बारे में नहीं बता रहे हैं। अगर आपको इस विषय से जुड़ी कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप अपने सवाल हमें भेज सकते हैं। हम आपके सवालों के जवाब मेडिकल एक्सर्ट्स द्वारा देने की पूरी कोशिश करेंगे।

(main image source - heart.org)

Read More Articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer