क्या आपके बच्चे को भी जिम करना चाहिए, जानें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 22, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बच्‍चों के लिए जिम से ज्‍यादा व्‍यायाम जरूरी है।
  • जिम जाने से पहले कुछ बातों का ध्‍यान रखना चाहिए।
  • व्‍यायाम स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है।

ज्‍यादातर लोग यही सोचते हैं कि जिम और व्‍यायाम जैसी चीजें केवल युवाओं या फिर अधिक उम्र के लोगों के लिए ही बना है। लेकिन ऐसा बिल्‍कुल भी नही है। सही मायने में तो जिम हर किसी के लिए है। हालांकि आज हम बच्‍चों की बात करेंगे। क्‍या बच्‍चों को जिम या व्‍यायाम करना चाहिए या नही। इसका सीधा सा जवाब है कि बच्‍चों को भी एक्‍सरसाइज करना जरूरी होता है। बच्चों और बड़ों के लिये अलग-अलग तरह के व्यायाम बताये गये हैं। आज के समय में बच्चों को एक्सरसाइज करवाना इसलिये भी ज़रूरी हो गया है क्योंकि आजकल बच्चे अपना ज्‍यादातर समय कंप्यूटर पर गेम खेलते हुये बिताते हैं और बाहर खेले जाने खेलों में कम शामिल होते हैं।

इसे भी पढ़ें : इन 3 कारणों से रात में भी करें वर्कआउट

BABAY

जरूरत के मुताबिक हो जिम  

हर किसी की शारीरिक बनावट अलग होती है और उसकी शारीरिक जरूरतें भी, इसलिए यह गौर करना बेहद आवश्यक होता है कि आपके शरीर को जिम की जरूरत क्यों है। यह बात किशोरों के लिए अधिक महत्वपूर्ण हो जाती है, क्योंकि उस समय उनके शरीर का विकास हो रहा होता है और जिम में वर्कआउट उनके शरीर की रचना को प्रभावित करता है। यह जरूरी है कि वे अपने शरीर की रचना प्रक्रिया के अनुसार ही व्यायाम करें।

इसे भी पढ़ें : आंखों को स्वस्थ रखने के लिए करें ये एक्सरसाइज

आपको जिम में वजन कम करना है, लम्बाई बढ़ानी है, वजन बढ़ाना है, बॉडी बिल्डिंग के लिए जाना है या सिक्स पैक एब्स की चाह है, इन सभी के वर्कआउट की प्रक्रिया अलग-अलग होती है। इसलिए जिम जाने का उद्देश्य तय कर उसी के अनुसार उससे संबंधित उचित निर्देश, मार्गदर्शन और आहार को अपनाएं।

बच्‍चों के लिए जिम जरूरी है या व्‍यायाम

हम यहां 12 साल से कम उम्र के बच्‍चों की बात कर रहे हैं। इस उम्र में सबसे ज्यादा फोकस मूवमेंट स्किल और बॉडी कंट्रोल पर देना चाहिये। इसलिए बच्चे को फ्री रनिंग, हाथों से किये जाने वाले काम, एरोबिक्स, और साधारण खेल जैसे की दौड़ना, बॉल कैच करना इत्यादि में व्यस्त रहने दें। इस तरह के व्यायाम बच्चे की हड्डियों को मजबूत बनाते हैं, साथ ही मसल्स मास को बेहतर करते हैं। वहीं जिम जाने की सही उम्र को लेकर सबके अलग अलग विचार है।

इसे भी पढ़ें : जिम जाने से पहले जरूर पढ़ें ये जरूरी बात

आमतौर पर भारत में अधिकतर लोग 14 साल की आयु तक ही अपने बच्चों को जिम भेजते हैं। जिम में 13-14 साल के बच्चे भी आते हैं। 18 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए वेट ट्रेनिंग की बजाय दूसरे व्यायाम करने चाहिए। वेट ट्रेनिंग की जगह कार्डियो, ट्रेडमिल वॉक, सिटअप्स, पुशअप्स करने चाहिए। वेट ट्रेनिंग और पावर लिफ्टिंग से बच्चों को आंतरिक चोट लग सकती है और इससे उनकी लंबाई कम रह सकती है।


ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Image Source: shutterstock
Read More Article on Sports & Fitness In Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES2585 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर