खुलासा! इन चीजों में छिपा है पुरूषों के फिटनेस का राज, जानें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 20, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आहार फिटनेस के लिए सबसे जरूरी चीज है
  • सही व्‍यायाम यानी तन दुरुस्‍त और मन तंदुरुस्‍त
  • मूड रहे फिट तो हर चीज रहे फिट

 

फिटनेस पाना आपकी चाहत तो होती है, लेकिन क्‍या आप उसके लिए मेहनत भी करते हैं। जानिए कैसे पुरुष कुछ आसान तरीकों को अपनाकर फिटनेस का खजाना हासिल कर सकते हैं। फिटनेस को लेकर हमारे समाज में जागरुकता का अभाव साफ देखा जा सकता है। किसी के लिए फिटनेस का अर्थ जिम जाकर बॉडी बनाना होता है, तो किसी के लिए फिटनेस का अर्थ बस किसी तरह मोटापे की गिरफ्त से दूर रहना भर ही होता है। इस लेख के जरिये हम जानेंगे कि आखिर फिटनेस है क्‍या और पुरुष कैसे इस फिटनेस को हासिल कर सकते हैं। फिटनेस का अर्थ अच्‍छी बॉडी होना भर ही नहीं है। फिटनेस शारीरिक और मानसिक दोनों पैमानों पर परखी जानी चाहिए। बेशक किसी का शरीर पतला हो, लेकिन अगर वह रोगमुक्‍त है और मानसिक रूप से शांत है, तो उसे अनफिट तो नहीं कहा जा सकता।

इसे भी पढ़ें : भांग का नशा पुरूषों के लिए बन सकता है सजा

Fitness in Hindi

आहार है आधार

फिटनेस के लिए जरूरी है कि आहार और व्‍यायाम के बीच सही संतुलन बनाया जाए। आहार ऐसा होना चाहिए जिससे आपको पूरा पोषण मिले। आहार आपके तन मन को ऊर्जा प्रदान करने वाला होना चाहिए। हृदयघात के खतरे को कम करने के लिए एक्सरसाइज के साथ ही आप अपने खान–पान के तौर–तरीके को भी बदले। भोजन में सेचूरेटेड फैट, अधिक मात्रा में नमक और फैटी डेयरी प्रोडक्ट का प्रयोग कम कर दे। इसके बदले में अपने भोजन में प्रचूर मात्रा में फल, हरी सब्जियां, साबुत अनाज और कम वसा वाले दुग्ध उत्पादों का सेवन करे।

 

व्‍यायाम रखे बीमारियों से दूर

व्‍यायाम व्‍यक्ति को कई बीमारियों से दूर रखता है। नियमित तौर पर व्‍यायाम करने से हृदय रोग और स्‍मरण शक्ति ह्रास से बचा जा सकता है। इसके साथ व्‍यायाम डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, हदृयघात, कॉलोन कैंसर और तनाव को भी नियंत्रित करता है। कई शोध इस बात को प्रामाणित कर चुके हैं कि नियमित व्‍यायाम करने वाले लोगों को बीमारियों का खतरा कम रहता है। वहीं शारीरिक रूप से कम सक्रिय रहने वाले लोगों को रोगग्रस्‍त होने की आशंका अधिक होती है।

 

आदतें सुधारें फिट रहें

धूम्रपान और एल्‍कोहल का सेवन भी आपकी सेहत के लिए काफी नुकसानदेह होता है। 45 वर्ष की आयु के बाद व्‍यक्ति को डायबिटीज और हृदय रोग होने का खतरा अधिक होता है। इसके साथ ही उम्र के इस पड़ाव में रक्‍तचाप भी व्‍यक्ति को अधिक प्रभावित करता है। ऐसे में आपको चाहिए कि एल्‍कोहल और धूम्रपान से दूर रहें। ऐसा करके आप स्‍वयं को कई बीमारियों के संभावित खतरे से दूर रख सकते हैं।

 

मोटापा बड़ा खतरनाक

दुनिया भर में अब मोटापे को बीमारी के रूप में देखा जाता है। और यह स्‍वयं भी कई बीमारियों के लिए जमीन तैयार करता है। मोटापा डायबिटीज, हृदय रोग और उच्‍च रक्‍तचाप जैसी बीमारियों की मुख्‍य वजह माना जाता है। ये सभी बीमारियां अन्‍य कई गंभीर बीमारियों को बढ़ावा देती हैं। मोटापे को दूर करने के लिए आपको अपने आहार पर ध्‍यान देना चाहिए। इसके साथ ही नियमित तौर पर व्‍यायाम करने से भी इस पर काबू किया जा सकता है। कई बार मोटापा अनुवांशिक होता है, ऐसे में आपको अधिक मेहनत करने की आवश्‍यकता होती है।


 

अच्‍छा मूड बनाए रखें

अगर आप स्‍वयं को भावनात्‍मक रूप से कमजोर महसूस कर रहे हैं, तो आप स्‍वयं को फिट नहीं कह सकते। तनाव मुक्‍त रहना फिटनेस के लिए बेहद जरूरी है। तनाव को दूर करने के लिए जिम में जाकर वर्कआउट किया जा सकता है। आप तीस मिनट पैदल चलकर भी तनाव से मुक्ति बनायी जा सकती है। शारीरिक गतिविधियों के जरिये मूड अच्‍छा रहता है साथ ही व्‍यक्ति स्‍वयं को प्रसन्‍नचित्त और तनावमुक्‍त महसूस करता है। नियमित एक्‍सरसाइज से व्‍यक्ति में आत्‍मविश्वास भी बढ़ता है। तनाव को दूर करने के लिए आप योग और ध्‍यान के जरिये भी तनाव को दूर करे अपने मूड को अच्‍छा बनाए रख सकते हैं।

 

Image Source : Getty

Read More Articles on Mens Health in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES110 Votes 22262 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर