गर्भपात की चिकित्‍सा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 24, 2009
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • दवाओं, सर्जरी या दोनों के संयोजन से गर्भपात होता है।  
  • दवाओं के साथ गर्भपात 9 सप्ताह से पहले किया जाता है।
  • दवा के साथ किया गर्भपात, चिकित्सा गर्भपात कहलाता है।
  • 24 सप्ताह की गर्भावस्था तक गर्भपात सर्जरी द्वारा किया जाता है।

डॉक्टरों द्वारा बताई गयी दवाओं, सर्जरी या दोनों के संयोजन का उपयोग करके गर्भपात किया जा सकता हैं। गर्भपात की विधि समय पर निर्भर करती है, कब आप गर्भपात करवा रही है, साथ ही आपकी चिकित्सा के इतिहास और प्राथमिकता के अनुसार होता है।

गर्भपात, दवाओं के साथ सुरक्षित रूप से जल्दी गर्भावस्था में 9 सप्ताह से पहले से किया जा सकता है। 9 से 14 हफ्तों के बीच के गर्भपात सर्जरी द्वारा किया जाता है, हालांकि नर्म तथा गर्भाशय ग्रीवा खोलने के लिए दवाओं की मदद ली जा सकती है। 14 सप्ताह के बाद, गर्भपात में इन दवाओं का उपयोग करके गर्भाशय संकुचन या सर्जरी के साथ किया जाता है।

Abortion pills in hindi

मेडिकल गर्भपात

दवा के साथ किया गया गर्भपात, चिकित्सा गर्भपात कहा जाता है, यह गर्भावस्था के प्रारंभ से 49 दिन के भीतर किया जाता है। गर्भावस्था आमतौर पर एक मासिक धर्म के दो सप्ताह के पहले दिन के बाद शुरू होता है, और यह पिछले मासिक धर्म की अवधि से नौ सप्ताह के लिए मेल खाती है।

इसमें पहले दौरे में एक गोली और दूसरे दौरे में चार गोलियां दी जाती है। ये गोलियां जारी गर्भावस्था को रोक कर गर्भ को गिरा देती है और गर्भाशय को गर्भ को बाहर निकालने के लिए उत्प्रेरित करती है। आपको सभी गोलियां लेनी चाहिए। गोली को लेने के बाद आपको भारी मात्रा में रक्तस्त्राव, ऐंठन और मिचली महसूस हो सकती है। और आमतौर पर आखिरी गोली लेने के 4 घंटे के भीतर गर्भ गिर जाते है। कभी-कभी इसमें गोलियां लेने के बाद एक या दो दिन लग सकते हैं और रक्तस्त्राव कुछ सप्ताह तक जारी रह सकता है। गर्भपात में यह दवाएं लेना शामिल होता हैं।

माइफपरिसटोन (माइफपरैक्स)

माइफपरिसटोन मौखिक रूप से एक गोली के रूप में ली जाती है। यूरोप और चीन में लगभग 3 लाख से अधिक महिलाएं इस दवा को गर्भपात के लिए प्रयोग में लाती है। इसके दुष्प्रभाव मिचली, उल्टी, योनि से खून बहना और श्रोणि का दर्द शामिल हैं। कई मामलों में भारी रक्तस्राव हो सकता है। माइफपरिसटोन अधिक प्रभावी होता है। जब एक अन्य दवा, मिसोपिरसटोल (साइटोटेक), 24 से 48 घंटे के बाद में लिया जाता है। माइफपरिसटोन या मिसोपिरसटोन का संयोजन लेने वाली लगभग  92 से 97 प्रतिशत महिलाओं में 2 हफ्तों के भीतर पूरा गर्भपात हो जाता है।

मिसोपिरसटोल (साइटोटेक)

गर्भपात के लिए, मिसोपिरसटोल को माइफपरिसटोन के संयोजन का इस्‍तेमाल किया जाता है। मिसोपिरसटोल का एक रूप मौखिक होता है और दूसरा योनि में डाला जाता है। योनि फार्म कम करने के लिए दस्त, मतली और उल्टी के कारण होने की संभावना होती है। हालांकि, योनि फार्म संक्रमण के उच्च जोखिम के साथ जुड़ा हुआ होता है। इसलिए संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए, कई डॉक्टर मिसोपिरसटोल के मौखिक रूप को पसंद करते है।

woman with doctor in hindi

मैथोटरै्कसेट

मैथोटरै्कसेट, अक्सर कम प्रयोग में आती है। लेकिन माइफपरिसटोन से एलर्जी या उपलब्ध नहीं होने पर कुछ महिलाएं मैथोटरै्कसेट का इस्‍तेमाल करती हैं। मैथोटरैकसेट आमतौर पर मांसपेशी में लगायी जाती है। मैथोटरै्कसेट का सबसे ज्‍यादा इस्तेमाल अस्थानिक गर्भधारण को खत्म करने के लिए किया जाता है। यह अस्थानिक गर्भधारण के टिशू को तेजी से मारता है।

 

सर्जरी द्वारा गर्भपात

24 सप्ताह की गर्भावस्था तक गर्भपात सर्जरी द्वारा किया जाता हैं। सर्जरी द्वारा गर्भपात करने के लिए गर्भाशय से गर्भ को हटाने के लिए कोमल सक्शन का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें लगभग 5-10 मिनट का समय लगता हैं। इसके बाद थोड़ा समय क्लीनिक में बिताने के बाद आप अपने घर जा सकती हैं।

Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles on Pregnancy in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES21 Votes 14464 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर