खाद्य पदार्थ जिनसे मधुमेह रोगी को दूर रहना चाहिए

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 02, 2016
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मधुमेह के रोगियों को खाने के लेकर सर्तक रहना चाहिए।
  • स्टार्च युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • पॉलीअनसेचुरेटेड वसा वाले दार्थों का सेवन करना चाहिए।
  • क्रीम निकाला हुआ दूध में उपयोग किया जा सकता है।

मधुमेह में मरीज के शरीर में रक्त शर्करा का स्तर बढ़ा रहता है और मरीज का शरीर बढ़े हुए ब्लड शुगर का उपयोग नहीं कर पाता जिसकी वजह से उसे कमजोरी महसूस होती रहती है। ऐसे में अगर वह मरीज उन खाद्य पदार्थों को खायेगा जिनमें शुगर होता हो तो इससे उसका ब्लड शुगर और बढ़ेगा जिसकी वजह से मरीज को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए कोई भी मीठा पदार्थ न खाएं या डॉक्टर की इजाजत  मिलने पर हीं अल्प मात्रा में उसका सेवन करें।

स्टार्च युक्त खाद्य पदार्थ

जिन खाद्य पदार्थों में स्टार्च होता है उनमें  कार्बोहाइड्रेट उच्च मात्रा में होता है।  कार्बोहाइड्रेट मरीज के शरीर में बहुत जल्द रक्त शर्करा या ग्लूकोज में परिवर्तित हो जाता है लेकिन मधुमेह में आपका शरीर इस बढ़े हुए रक्त शर्करा के स्तर का उपयोग नहीं कर पाता है जिसकी वजह से कई जटिलताएं पैदा होने लगती हैं।  इसलिए सफेद चावल और परिष्कृत आटे से बनी रोटी जैसे खाद्य पदार्थ बहुत कम मात्रा में खाया जाना चाहिए।

वसायुक्त खाद्य पदार्थ

यह सर्विदित तथ्य है कि किसी भी इंसान के शारीर में अनावश्यक रूप से जमी हुई चर्बी मधुमेह को जन्म दती है। इसलिए मधुमेह के मरीजों  को यह सलाह एवं चेतावनी दी जाती कि वे उन खाद्य  पदार्थों का सेवन एकदम से न करें या कम से कम करें जिनमें वसा होती है जैसे पशुओं का मांस (मीट), घी से बने खाद्य पदार्थ, तेल में तले हुए खाद्य पदार्थ इत्यादि।

शराब

शराब बहुत हीं जल्द  रक्त शर्करा में परिवर्तित हो जाता है और इससे उत्पन्न स्थिति को संभालना  मधुमेह रोगियों के लिए बहुत मुश्किल हो सकता है।  इसके अलावा, शराब  रक्तचाप का स्तर भी ऊँचा करता है।  मधुमेह के मरीजों को शराब से बचना  चाहिए अगर वे जटिलताओं से बचना चाहते हैं।

प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ

मधुमेह के मरीजों को प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ के सेवन से, जहाँ तक संभव हो, दूर हीं रहना चाहिए।इस प्रकार के खाद्य पदार्थों में सोडियम यानि नमक एवं वसा की मात्रा बहुत ज्यादा रहती है। इनके अलावा इनमें कैलोरी भी बहुत ज्यादा रहता है। प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ की बजाये आप ताजे खाद्य पदार्थों का चयन करें


फ्रुक्टोस वाले खाद्य पदार्थ


सूखे खुबानी और किशमिश में फ्रुक्टोस विशेष रूप से उच्च मात्रा में रहते हैं। अतः मधुमेह के रोगियों को इनका सेवन न के बराबर करना चाहिए। बहुत सारे फल ऐसे होते हैं जिनमें - की मात्रा होती है जैसे पके आम, केला इत्यादि। मधुमेह के मरीजों को ऐसे मीठे फल बिलकुल नहीं खाना चाहिए।

आलू

आलू रक्त शर्करा को बहुत बढ़ाता है। बहुत ज्यादा आलू खाने से आम इंसान को मधुमेह होने की संभावना रहती है और अगर कोई पहले से हीं मधुमेह का मरीज है तो आलू खाने से उसकी हालत और बिगड़ती है । आप कभी कभार उबले हुए आलू भले हीं खा लें लेकिन आलू के चिप्स वगैरह कभी न खाएं।  लेकिन अगर आपका ब्लड शुगर बहुत ज्यादा बढ़ा हुआ हो तो उबले हुए आलू कभी कभार भी न खाएं। आलू के चिप्स की हीं तरह केले के चिप्स भी न खाया करें। या यूँ कहिये की आपको किसी भी प्रकार के चिप्स नहीं खाना चाहिए।

अनाज

मक्का, चावल, गेहूं, राई और जौ जैसे अनाज ज्यादातर लोगों के लिए स्वस्थ माना जाता है, लेकिन वे मधुमेह रोगियों के लिए हानिकारक हो सकते हैं। ब्रेड और पास्ता इस तरह के अनाज से बनाये गए उदाहरण   के लिए कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो खाने के बाद आपके शरीर में मौजूद रक्त शर्करा को बढ़ा सकते हैं। अनाज में पाया चीनी का एक रूप मल्टोस , मधुमेह रोगियों के लिए सबसे खराब मानी जाती है।

दूध से बने उत्पाद

दूध और दूध से बना पनीर जैसे डेयरी उत्पादों में  शुगर  लैक्टोज पाया जाता है। कम वसा वाले डेयरी उत्पादों को या क्रीम निकाला हुआ दूध थोड़े मात्रा में उपयोग किया जा सकता है लेकिन जिनमें वसा की मात्रा ज्यादा होती हैं उनसे पूरी तरह परहेज करना चाहिए।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES65 Votes 19317 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर