चिकुनगुनिया बुखार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 08, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!


chikungunya mosquitoचिकित्सा पद्वति में आज लगभग सभी रोगों पर जीत पाई जा चुकी है। कुछेक रोग ही ऐसे है जिनके लिए पूरी तरह से निजात पाना मुश्किल है, लेकिन उनके लिए भी निरंतर शोध प्रयासरत है। मानव आज हजारों बीमारियों के चंगुल में फंसा हुआ है ऐसे में चिकनगुनिया वायरस भी धीरे-धीरे अपने पैर पसारते हुए महामारी का रूप धारण कर रहा है। हालांकि चिकनगुनिया वायरस, डेंगू और मलेरिया की भांति घातक नहीं है लेकिन इसका सही समय पर पता नहीं लगाया जाए तो यह घातक हो सकता है। देखना होगा कि चिकनगुनिया वायरस मानव जाति के लिए कितना घातक हो सकता है।

 

  • चिकनगुनिया बुखार में प्‍लेटलेट्स की संख्‍या में धीरे-धीरे गिरती है और यह वायरस शरीर पर अचानक घातक प्रहार नहीं करता।
  • जब तक इस वायरस के बारे में पता चलता है तब तक एडीस मच्छर का जहर शरीर के अंगो खासकर जोड़ों में फैला चुका होता है।
  • जोड़ों में दर्द सिर दर्द, मिचली, उल्टियां, ठंड लगना, और चकत्ते आदि चिकनगुनिया के लक्षण हैं,लेकिन इन बीमारियों के साथ ही चिकनगुनिया किसी भी अन्य बीमारी से घातक बीमारी है।
  • यदि आप चिकनगुनिया के चंगुल से बचना चाहते हैं तो समय-समय पर एतिहायत बरतते हुए डॉक्टर्स से रूटीन चेकअप जरूर करवाएं।
  • ये वायरस वृद्ध लोगों के लिए एक बड़ा खतरा बन गया है। यह वृद्ध के न सिर्फ गुर्दे और यकृत में विकार पैदा करता है, बल्कि मस्तिष्क समस्याएं भी पैदा कर सकता है।
  • छोटे बच्चे इस तरह के वायरस का सामना करने के लिए सक्षम नहीं है ऐसे में उनकी जान पर भी बन सकती है।

 

शरीर को कमजोर, निर्बल बनाने में इस वायरस की महत्वपूर्ण भूमिका है। इस वायरस के दौरान रोगी कुछ भी काम करने में समर्थ नहीं रहता।जब कोई चिकनगुनिया संक्रमित मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है तो बीमारी के वायरस 'रेब्डो' व्यक्ति के शरीर में इंजेक्ट हो जाते हैं।- 'रेब्डो' वायरस शरीर में पहुंचकर अपनी संख्या बढ़ाते हैं। धीरे-धीरे संख्या काफी बढ़ जाती है। ये वायरस रक्त के जरिये शरीर में फैल जाते हैं और कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं। एक से बारह दिन के अंदर वायरस सक्रिय हो जाता है।

 

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 13179 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर