एंटीबॉयोटिक प्रतिरोध को रोकने के 5 तरीके

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 04, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एंटीबायोटिक्स रज़िस्टेंस कीटाणुओं और वायरस से करें बचाव।
  • एल्कोहॉल और ब्लीच भी एंटीबायोटिक्स रज़िस्टेंस नहीं बनते हैं।
  • एंटीबायोटिक दवाओं के सबसे छोटे कोर्स के बारे में जानकारी लें।
  • अपने आप ठीक हो सकने वाली बीमारियों में न लें एंटीबायोटिक्स।


आपका जिम हो या दफ्तर, घर हो या फिर प्ले ग्राउंड, किटाणु आपका इंतजार लगभग हर जगह ही कर रहे होते हैं। और अब तो दवा प्रतिरोधी (एंटीबायोटिक्स रज़िस्टेंस) कीटाणुओं और वायरस की एक नई पीढ़ी ने अपना अस्तित्व बनाना शुरू कर दिया है। आप ये अच्छी तरह से जानते हैं कि ये आपकी सेहत के लिये बिल्कुल अच्छे नहीं हैं। तो क्यों ना इन दवा प्रतिरोधी वायरस और काटाणुओं से बचाव की असरदार तैयारी ही कर ली जाए। चलिये जानें कैसे -   

 

Antibiotics Resistance in Hindi

 

सही से धोएं हाथ

यह एक चिंता का विषय है कि जीवाणुरोधी साबुन में मौजूद ट्रिक्लोसन (Triclosan) प्रतिरोध कर सकता है, और यह भी स्पष्ट नहीं कि ये नियमित रूप से साबुन और पानी से 30 सेकंड के लिए हाथ धोने वाले तरीके अधिक प्रभावी है या नहीं। एल्कोहॉल और ब्लीच भी प्रतिरोध नहीं बनते हैं और ये प्रभावी क्लीनर हैं। अतः इनका इस्तेमाल किया जा सकता है।

जैविक पदार्थ खरीदें

कुछ गैर जैविक फार्म के जानवरों की भोजन में एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल एंटीबायोटिक्स सज़िस्टेंस का कारण बन सकता है। तो अपने स्थानीय किसानों और बाजार में मौजूद खाद्य को जांचें और जैविक दूध और मांस के सबसे बेहतर विकल्प का चयन करें।

 

Antibiotics Resistance in Hindi

 

जब तक बहुत ज़रूरत न हो, एंटीबायोटिक न लें

लुई स्टोक्स क्लीवलैंड वीए मेडिकल सेंटर के प्रमुख और रेसिस्टेंट बग्स के विशेषज्ञ, डा. लुइस राइस के अनुसार 'हम शायद 70 प्रतिशत तक एंटीबायोटिक उपयोग में कटौती कर सकते हैं, यदि इनका प्रयोग तभी किया जाए, जब ये बेहद जरूरी ही हों।' कुछ बिमारियां, जोकि अपने आप ठीक हो सकती हैं, उनके लिये एंटिबायोटिक्स का उपयोग न करें।

एंटीबायोटिक दवाओं के सबसे छोटे कोर्स के बारे में पूछें

बकौल डा. लुइस राइस ज्यादातर बीमारियों के लिए एंटीबायोटिक उपयोग की अधिकतम समय सीमा को मौजूदा सिफारिशों से काफी कम किया जा सकता है।
उनके अनुसार लंबे चलने वाले एंटीबायोटिक्स कोर्स को तीन दिवसीय या सात दिन के कोर्स से ही पूरा किया जा सकता है। उदाहरण के लिये जब डॉक्टर मूत्र-पथ के संक्रमण के लिए उपचार का अध्ययन किया, तो पाया कि एंटीबायोटिक दवाओं की एक खुराक से ही 87 प्रतिशत ब्लोकेज खुल जाती है, और 94 प्रतिशतक तीन दिवसीय कोर्स के साथ ठीक हो जाती है।


लोगों को भी सरकार व स्वास्थ्य संस्थाओं व अध्यमियों को इस बात के लिये प्रेरित करना चाहिये कि एंटीबायोटिक प्रतिरोध और एंटीबायोटिक के लिए विकल्प की अधिक शोध के लिये फंड बनाएं और इस क्षेत्र में गंभीरता से काम करें।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES10 Votes 1870 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर