बच्‍चों को सिखाएं ये 5 एक्‍सरसाइज़, बढ़ेगी लंबाई-तेज होगा दिमाग

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 27, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एक्‍सरसाइज़ जिसकी सीख आप अपने बच्‍चों को दे सकते हैं
  • इससे उनका वजन सही रहेगा, लंबाई बढ़ेगी और दिमाग भी तेज होगा।
  • उनका मानसिक विकास तो होगा ही साथ ही उनका शारीरिक विकास बेहतर होगा।

आधुनिक लाइफ स्‍टाइल में बच्‍चों की परवरिश हर मात-पिता के लिए चुनौती बनती जा रही है, बच्‍चों को अच्‍छी लाइफस्‍टाइल देने के लिए उनकी दिनचर्या को संयमित करने की जरूरत है साथ ही साथ उनमें अच्‍छी आदतें भी सिखाने की अवश्‍यकता है, जैसे सुबह जल्‍दी उठकर ब्रश करने के बाद एक्‍सरसाइज़ करना। आज हम आपको कुछ ऐसी बेहतरीन एक्‍सरसाइज़ के बारे में बता रहे हैं जिसकी सीख आप अपने बच्‍चों को दे सकते हैं, इससे उनका वजन सही रहेगा, लंबाई बढ़ेगी और दिमाग भी तेज होगा। कुल मिलाकर इन कार्यों से उनका मानसिक विकास तो होगा ही साथ ही उनका शारीरिक विकास बेहतर होगा। आइए इस लेख के माध्‍यम से जानते हैं उन एक्‍टीविटीज के बारे में।

स्‍वीमिंग

आमतौर पर बच्‍चों को पानी में मस्‍ती करना अच्‍छा लगता है लेकिन कभी-कभी कुछ बच्‍चे पानी से दूर भी भागते हैं, लेकिन अगर बच्‍चों को स्‍वीमिंग की सीख दी जाए तो इससे बेहतर और कुछ भी नहीं हो सकता है। क्‍योंकि स्‍वीमिंग के कई फायदे हैं। स्‍वीमिंग से न सिर्फ बच्‍चों की मांसपेशियां मजबूत होती है, बल्कि उनका वजन भी नियंत्रित रहता है। इसके अलावा रक्‍त का प्रवाह भी बेहतर होता है, जिससे ह्रदय स्‍वस्‍थ रहता है। हालांकि बच्‍चों को स्‍वीमिंग किसी एक्‍सपर्ट की देखरेख में ही कराएं। स्‍वीमिंग पूल की गहराई ज्‍यादा नहीं होनी चाहिए।

साइकिलिंग

बच्‍चों की केयर करने का मतलब यह नहीं होता है कि उन्‍हें आलसी बना दिया जाए बल्कि उन्‍हें एक्टिव रखना चाहिए। इसके लिए साइकिलिंग अच्‍छा विकल्‍प है। स्‍वास्‍थ्‍य के नजरिये से सा‍इकिलिंग बहुत फायदेमंद है। साइकिल चलाने से मांसपेशियों को मजबूती मिलती है साथ ही यह जोड़ों के लिए भी फायदेमंद है। साइकिल चलाने से शरीर की अच्‍छी खासी एक्‍सरसाइज़ हो जाती है। यह ब्रीदिंग एक्‍सरसाइज का भी यह अच्‍छा विकल्‍प है। इससे स्‍टेमिना भी बढ़ता है। साइकिलिंग स्‍वस्‍थ रहने का अच्‍छा माध्‍यम हो सकता है।

जॉगिंग

सुबह-सुबह जॉगिंग करना न सिर्फ बड़ों के लिए फायदेमंद होता है बल्कि यह बच्‍चों के लिए भी बहुत ही जरूरी है। इससे वह दिनभर एक्टिव रहते हैं। थकान और आलसपन दिनभर दूर रहता है। जॉगिंग से फेफड़ों और ह्रदय को शुद्ध ऑक्‍सीजन प्राप्‍त होता है। जॉगिंग करने से पहले यह ध्‍यान रखें कि आपके कपड़े साफ-सुथरे होने चाहिए और शूज भी फिटिंग के होने चाहिए। इसलिए बच्‍चों को जॉगिंग के लिए रोजाना भेजिए।  

इसे भी पढ़ें: शिशु को कुछ खिलाना शुरू करें, उससे पहले जान लें ये 5 बातें

योगा

योग एक प्राचीन भारतीय जीवन-पद्धति है। जिसमें शरीर, मन और आत्मा को एक साथ लाने (योग) का काम होता है। योग के माध्यम से शरीर, मन और मस्तिष्क को पूर्ण रूप से स्वस्थ किया जा सकता है। तीनों के स्वस्थ रहने से आप स्‍वयं को स्वस्थ महसूस करते हैं। योग के जरिए न सिर्फ बीमारियों का निदान किया जाता है, बल्कि इसे अपनाकर कई शारीरिक और मानसिक तकलीफों को भी दूर किया जा सकता है। योग प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाकर जीवन में नव-ऊर्जा का संचार करता है। योगा शरीर को शक्तिशाली एवं लचीला बनाए रखता है साथ ही तनाव से भी छुटकारा दिलाता है जो रोजमर्रा की जि़न्दगी के लिए आवश्यक है। योग आसन और मुद्राएं तन और मन दोनों को क्रियाशील बनाए रखती हैं। इसे आप बच्‍चों को जरूर सिखाएं

इसे भी पढ़ें: अगर आपके शिशु का वजन सामान्य से कम है, तो हो सकते हैं ये कारण

स्‍पोर्ट्स

आपका पसंदीदा खेल आपको आजीवन फिट रखने में भी आपकी मदद करते हैं। खेलों में जीतने या हारने से ज्‍़यादा महत्व रखता है मनोरंजन। आज बच्चे घर के अंदर खेलने जाने वाले खेलों को पसंद करते हैं और अभिभावक भी इसे सुरक्षित मानते हैं, इन्हीं कारणों से वृद्धावस्था में होने वाली डायबिटीज़, अर्थराइटिस, दिल के रोग, अवसाद जैसी बीमारियां कम उम्र में भी फैल रही हैं। इसलिए जरूरी है कि आप बच्‍चों को बचपन से ही अपने पसंदीदा खेल खेलने की सीख दें। इससे उनका शारीरिक विकास अच्‍छे से होगा।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read more Articles On Parenting Tips In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES482 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर