बच्चों को खिलाएं जुकिनी, जानें इससे सेहत को होने वाले फायदे

Baccho ke liye Zucchini : जुकिनी कई सारे पोषक तत्वों से भरपूर सब्जी है। इसका सेवन करने से शरीर को कई बीमारियों से दूर रखा जा सकता है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Oct 02, 2022 12:00 IST
बच्चों को खिलाएं जुकिनी, जानें इससे सेहत को होने वाले फायदे

Zucchini Health Benefits for kids: बच्चे के 6 महीने पूरे होने के बाद डॉक्टर उन्हें हरी सब्जियां, अनाज और हल्का-फुल्का खिलाने की सलाह देते हैं। छोटे बच्चों को खाना खिलाते समय पेरेंट्स अक्सर इस बात को लेकर असमंजस में रहते हैं कि आखिरकार उन्हें ऐसा क्या खिलाया जाए, इससे उन्हें सही न्यूट्रिएंट्स मिल सके। क्योंकि बच्चे का सही मानसिक और शारीरिक विकास हो सके इसके लिए न्यूट्रिएंट्स बहुत जरूरी होते हैं। अगर आप भी छोटे बच्चे के खाने को लेकर परेशान हैं, तो जुकिनी का चुनाव कर सकते हैं। जुकिनी एक अमेरिकी सब्जी है, जिसका इस्तेमाल अब भारत में काफी समय से किया जा रहा है। आइए जानते हैं बच्चों को जुकिनी खिलाने के फायदे (Baccho ko Zucchini khilane ke fayde) क्या हैं और इसे कैसे खिलाना सही है।

जुकिनी के पोषक तत्व

जुकिनी में विटामिन सी, विटामिन ए, बीटा कैरोटीन, ल्यूटिन जैसे एंटीऑक्सीडेंट भरपूर रूप से होते हैं। यह आपके शरीर को फ्री रेडिकल्स से बचाते हैं। फ्री रेडिकल्स की मदद से शरीर की कई परेशानियां दूर रहती हैं। नियमित तौर पर जुकिनी का सेवन करने से शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मदद मिल सकती है।

इसे भी पढ़ेंः बालों में लगाएं अंडे का पीला हिस्सा, रुकेगा हेयर फॉल और बढ़ेंगे बाल

जुकिनी की न्यूट्रिशनल वैल्यू क्या है?

100 ग्राम जुकिनी में 124 ग्राम न्यूट्रिएंशन पाए जाते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक 100 ग्राम जुकिनी में कार्बोहाइड्रेट्स - 4.2 ग्राम, कैल्शियम- 18.6 मिलीग्राम, मैग्नीशियम-21.1 मिलीग्राम, प्रोटीन-1.5 ग्राम, डायटरी फाइबर-1.4 ग्राम, विटामिन ‘सी’-21.1 मिलीग्राम पाया जाता है। जुकिनी का सेवन शारीरिक और मानसिक विकास के लिए काफी फायदेमंद साबित होता है। 

बच्चों को कब देनी चाहिए जुकिनी

बच्चों को कोई भी सब्जी या ठोस आहार देते वक्त ध्यान दें कि क्या वो इसे खा पा रहा है। अगर आप 8 या 9 महीने के बच्चे के जुकिनी खिला रहे हैं, तो इसे उबालकर दें। आप चाहें तो जुकिनी की शोरबा और सूप भी बच्चे को पिला सकते हैं। बच्चे को पहले बार थोड़ी मात्रा में जुकिनी खिलाएं और देखें कि क्या उसे इसका रिएक्शन तो नहीं हो रहा। अगर बच्चा जुकिनी की थोड़ी मात्रा खाने के बाद ठीक रहता है, तो इसकी मात्रा को बढ़ाते रहें।

इसे भी पढ़ेंः युवा महिलाओं में बढ़ते पीठ दर्द का कारण, बचाव और उपाय

बच्चे को जुकिनी खिलाने के फायदे

जुकिनी में विटामिन सी, विटामिन ए, बीटा कैरोटीन जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। ये सभी पोषक तत्व बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए बहुत अच्छे माने जाते हैं।

कैल्शियम 

जुकिनी में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। कैल्शियम बच्चों के दांतों और हड्डियों के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि 1 से 3 साल की उम्र में बच्चे के शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाए, तो हड्डियां कमजोर हो जाती हैं।

फास्फोरस

छोटे बच्चों की इम्यूनिटी बड़ों के मुकाबले काफी कम होती है। छोटे बच्चे बार-बार बीमार पड़ते हैं। इसलिए भी बच्चों को जुकिनी खिलाने की सलाह दी जाती है। जुकिनी फास्फोरस भरपूर होता है जो बच्चे के शरीर के फंक्शन को ठीक करने में मदद कर सकता है।

मैग्नीशियम

बच्चों के मुंह, हड्डी और दांतों के विकास के लिए मैग्नीशियम बहुत ही महत्वपूर्ण घटक माना जाता है। जुकिनी में किसी अन्य खाद्य पदार्थ के मुकाबले अधिक मात्रा में मैग्निशियम पाया जाता है।

Disclaimer