Diwali Special: कितना हेल्दी है डायबिटीज में खोए की मिठाई खाना? एक्सपर्ट से जानें मिठाई के सबसे हेल्दी विकल्प

इस साल  World Diabetes Day 2020 और  Diwali 2020 एक ही दिन है। तो आइए जानते हैं कि दिवाली में खोए या मावा की मिठाई खाएं या नहीं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Nov 12, 2020Updated at: Nov 12, 2020
Diwali Special: कितना हेल्दी है डायबिटीज में खोए की मिठाई खाना? एक्सपर्ट से जानें मिठाई के सबसे हेल्दी विकल्प

डायबिटीज के मरीजों के लिए मीठा खाना एक परेशानी का सबब है। ऐसे में दिवाली (Diwali 2020) को देखते हुए डायबिटीज के मरीजों को अपना मन मारना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए कि दिवाली में बनाई गई तरह-तरह की मिठाईयों और पकवानों में मावा या खोए (diwali sweets) और चीनी का इस्तेमाल होता है। वहीं दिवाली का मौका देखते हुए कई बार लोग ये मिठाइयां खा भी लेते हैं। पर क्या आपने कभी सोचा है कि डायबिटीज में खोए या मावे की मिठाई खाना कितना सेहतमंद है (Is khoya good for diabetics)? नहीं न! पर 'ऑनली माय हेल्थ' ने आपकी सेहत के बारे में सोचते हुए डॉ. प्रियंका अग्रवाल से बात की, जो कि मैक्स मल्टी स्पेशलिटी सेंटर, नोएडा में डायटिक्स एंड न्यूट्रीशन विभाग में कार्यरत हैं।  

insidediwalimithayi

डायबिटीज में खोए की मिठाई (Is khoya good for diabetics)?

डॉ. प्रियंका अग्रवाल कहती है कि जब बात डायबिटीज मैनेजमेंट की आती है, तो लोग चीनी को अलविदा कहते हैं। पर वो नहीं जानते हैं कि चानी सिर्फ मीठे स्वाद वाली चीजों में ही नहीं होती, बल्कि ये ज्यादा उन चीजों में होती है जिनका स्वाद मीठा नहीं होता। खोए भी ऐसी ही एक चीज है। अगर आर इसके न्यूट्रिशनल वैल्यू को देखें, तो 1 चम्मच खोए में लगभग 67 कैलोरी होती है। जिसमें कि

  • -16 कैलोरी कार्ब्स होते हैं।
  • -12 कैलोरी प्रोटीन
  • -सबसे ज्यादा 39 कैलोरी फैट होता है।

इस तरीके से आप देखें, तो समझ जाएंगे कि खोया कितना अधिक फैट वाला है, जो कि आसानी से आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ा सकता है। वहीं जब आप इसकी मिठाई बनाते हैं, तो इसमें और भी चीजें डालते हैं, जो कि इसे और शुगर व फैट से भरपूर बना देता है। तो कुल मिला कर समझें, तो डायबिटीज में खोए की मिठाई खाना घाटे का सौदा है।

insidediabetes

इसे भी पढ़ें : दिवाली पर करें इस मिठाई का सेवन, नहीं बढ़ेगा आपका शुगर लेवल

डायबिटीज मरीज के लिए मिठाई के विकल्प  (What sweets are OK for diabetics)?

डॉ. प्रियंका अग्रवाल ये भी बताती हैं, कि मधुमेह रोगियों के लिए खोया समेत कोई भी ऐसी चीज नहीं खानी चाहिए, जिसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स हाई हो। ऐसा इसलिए कि ये शुगर को तुंरत बढ़ा देते हैं। इसलिए  मावे या खोए की जगह घर पर बनी मिठाइयों का सेवन करने की ही कोशिश करें। इसके लिए आप प्राकृतिक मिठास वाली चीजों का इस्तेमाल करके घर पर ही मिठाई तैयार करें। जैसे कि

  • - दाल के साथ सूखे मेवों से लड्डू बनाएं और मिठास के लिए इसमें खजूर पीस कर मिला लें।
  • - मिक्स सीड्स के साथ लड्डू बनाएं।
  • - फ्रूट कस्टर्ड
  • - ड्राई फ्रूट्स की मिठाई
  • -राजगिरा के लड्डू 
  • -गोंद के लड्डू
  • -बाजरे के लड्डू
  • -नारियल के लड्डू
  • -छुहारा के लड्डू
insidecustard

इसे भी पढ़ें : दिवाली के त्योहार पर डायबिटीज के मरीज मुंह का स्वाद बढ़ाने के लिए अपनाएं 3 हेल्दी रेसिपीज

डायबिटीज के मरीज अगर मावा या खोए की मिठाई की खा भी रहे हैं, तो आपको कोशिश करनी चाहिए कि आप अपने घर के दूध से खोए बनाएं और तब उसकी मिठाई तैयार करें। वहीं इस मावे या खोए को ज्यादा प्रोसेसड न बनाएं और बिना चीनी के ही मिठाई के रूप में ही तैयार करें। वहीं अगर आप किसी और पकवान के लिए मावा भर कर भी बना रहे हैं, तो उसमें शुगर फ्री मिला कर बनाने की कोशिश करें। वहीं इन मिठाईयों का सेवन एक सीमित मात्रा में ही करें। ऐसा इसलिए कि कभी-कभी मधुमेह से पीड़ित लोग शुगर फ्री मिठाई ले सकते हैं लेकिन इसके बाकी चीजें कोलेस्ट्रॉल और फैट को इफेक्ट करती है। वहीं त्योहार के दौरान अपने शुगर कंट्रोल और दवा और इंसुलिन की खुराक का ख्याल रखें और अपना ब्लड शुगर चेक करते रहें। तो इस दिवाली घर पर ही दिवाली मनाएं, हेल्दी और सुरक्षित रहें।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer