सर्दियों में क्यों बढ़ जाता है डिप्रेशन? एक्सपर्ट से जानें इसका कारण और बचाव के उपाय

क्या सर्दियों में आपका मन ज्यादा दुखी रहता है? ये सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर (SAD) के कारण होता है। आइए जानते हैं इसके कारणस लक्षण और उपाय। 

 
Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Nov 23, 2021 14:48 IST
सर्दियों में क्यों बढ़ जाता है डिप्रेशन? एक्सपर्ट से जानें इसका कारण और बचाव के उपाय

मौसम का प्रभाव हमारे मन पर भी पड़ता है। मौसम जैसे जैसे बदलता है आपका मन, मस्तिष्क की गतिविधियां और होर्मोन्स में बदलाव आते हैं। सर्दियां आने के साथ लोगों में उदासीनता बढ़ जाती है। ज्यादातर लोग लो फील करते हैं और उनके मूड स्विंग्स बढ़ जाते हैं। इसके अलावा ये डिप्रेशन के लक्षणों को भी बढ़ाता है। पर कभी आपने सोचा है कि ऐसा क्यों होता है (does winter cause depression)? डॉ. मनु तिवारी (Dr Manu Tiwari), सलाहकार, मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान, फोर्टिस अस्पताल नोएडा की मानें, तो सर्दियों में डिप्रेशन आमतौर पर उन देशों के लोगों को ज्यादा होता है जहां लंबे समय तक ठंड रहती है। पर आज कल के जीवन में जहां लोगों की दिनचर्या खराब है, स्ट्रेस ज्यादा है और लोग बंद घरों में रह रहे हैं वहां सर्दियों में डिप्रेशन के लक्षण लोगों में बढ़ने में लगते हैं। हालांकि, इसके पीछे कई और कारण भी हैं जिसके बारे में हमें डॉ. मनु तिवारी ने बताया। 

inside2depression

सर्दियों में क्यों बढ़ जाता है डिप्रेशन-Winter depression causes?

डॉ. मनु तिवारी (Dr Manu Tiwari) बताते हैं कि आमतौर पर ये सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर (SAD) के कारण हो सकते हैं। सर्दियों में पहले तो हमारा मेटाबोलिज्म प्रोसेस स्लो हो जाता है और इसका असर हमारे सेहत और मन दोनों को होता है। इसलिए हम आलसी होने लगते हैं, कमजोर हो जाते हैं और अकेला महसूस करने लगते हैं। हालांकि, यह अक्सर सर्दियों में सूर्य के प्रकाश की कम मात्रा से जुड़ा होता है। जो कि शरीर में कई चीजों को प्रभावित करता है। जैसे कि

  • -ये आपके शरीर की घड़ी को प्रभावित करता है। दरअसल, आपका शरीर आपकी नींद, भूख और मनोदशा को नियंत्रित करने के लिए सूर्य के प्रकाश का उपयोग करता है। सर्दियों में कम रोशनी का स्तर आपके शरीर की घड़ी को बाधित कर सकता है, जिससे अवसाद और थकान हो सकती है।
  • -मेलाटोनिन जो कि एक नींद हार्मोन है उसका स्तर बढ़ जाता है।
  • -साथ ही शरीर में कार्टिसोल हार्मोन का प्रोडक्शन भी बढ़ जाता है। इसकी वजह से सेरोटोनिन कम होने लगता है और डिप्रेशन के लक्षण बढ़ जाते हैं। 
  • -इसके अलावा कम धूप से सेरोटोनिन का स्तर कम हो सकता है, जिससे आप उदास महसूस करते हैं। 

इसे भी पढ़ें : स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी (SMA): ऐसी बीमारी जिसमें इलाज के लिए लगता है करोड़ों का एक इंजेक्शन

सर्दियों में होने वाले डिप्रेशन के लक्षण- Symptoms of Winter Depression

डॉ. मनु तिवारी (Dr Manu Tiwari) बताते हैं कि इस तरह के डिप्रेशन के लक्षणों को हम तीन तरीके से देख सकते हैं। जैसे कि 

1. इमोशनल लक्षण (Emotional Symptoms)

इसमें लोग उदासीन महसूस करते हैं। दरअसल, जिसे हम डिप्रेशन कहते हैं उसमें कई अलग-अलग लक्षण होते हैं।जैसे कि

  • -मन उदास रहता है
  • -चिढ़चिढ़ा रहते हैं आप
  • -किसी काम में मन नहीं लगता
  • -जो चीजें पहली अच्छी लगती थी वे अब अच्छी नहीं लगती हैं।
  • -अकेले रहने का मन होता है
  • -निराशा महूसूस होती है।

2. कॉग्नेटिव लक्षण (Cognitive symptoms)

कॉग्नेटिव लक्षणों में हमें आमतौर पर वे लक्षण नजर आते हैं, जो कि हमारी गतिविधियों में दिखते हैं। जैसे कि

3. बायोलोजिक लक्षण (Biological Symptoms)

बायोलॉजिकल लक्षणों में तीन चीजें आमतौर पर ज्यादा प्रभावित होती हैं जैसे कि भूख, नींद और यौन इच्छा। इनमें बदलाव आता है और किसी में ये बढ़ जाता है, तो कुछ लोगों में घट जाता है। ये सबकी अलग-अलग शारीरिक स्थितियों पर निर्भर करता है।

4. फिजिकल लक्षण (Physical Symptoms)

फिजिकल लक्षणों में हमारे शरीर में कई चीजें नजर आती हैं। जैसे कि

  • -सिर दर्द
  • -आखों का भारीपन
  • -सांस लेने में परेशानी
  • -गला सूखना
  • -ब्लॉटिंग और पेट में गैस
  • -थकान और कमजोरी

इसे भी पढ़ें : थायराइड में फायदेमंद होता है अखरोट का तेल, जानें इस्तेमाल का तरीका

सर्दियों में डिप्रेशन से बचाव के उपाय-Prevention tips for Winter depression

1. गर्म और ओमेगा-3 से भरपूर फूड्स लें

सर्दियों में डिप्रेशन से बचाव के लिए हमें गर्म चीजों का सेवन करना ताहिए। साथ ही हमें ओमेगा-3 भरपूर फूड्स का भी सेवन करना चाहिए। जैसे कि अंडे और अखरोट। इसके अलावा आप अन्य ड्राई फ्रूट्स का भी सेवन कर सकते हैं।

inside3exercise

2. एक्सरसाइज करें

एक्सरसाइज सेहत के लिए बेहद जरूरी है। ये हमारे शारीरिक सेहत को नहीं बल्कि, मानसिक सेहत के लिए भी अच्छा है। इससे मूड स्विंग्स कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है। इसलिए कोशिश करें कि एक्सरसाइज करें। साथ ही खुद को रोजाना 2 घंटे के लिए किसी ना किसी काम में जरूर लगाएं। 

इसके अलावा इस मौसम में डिप्रेशन से बचाव का सबसे आसान तरीका ये है कि आप रोजाना थोड़ी धूप लें। मौसमी चीजों को खाएं और खुद को अंदर से एनर्जेटिक और खुश रखें। कोशिश करें कि मन को शांत रखने के लिए योग और ध्यान करें।  

Main image credit: Serenity House Detox Houston

Inside image credit: freepik

Disclaimer