Winter Sleep: इन 5 कारणों से लोगों को सर्दियों में ज्यादा आती है नींद, जानें सर्दी में भी जल्दी उठने का उपाय

सर्दियों में ज्यादा नींद आने का कारण घटता तापमान और खराब लाइफस्टाइल भी है। साथ ही कुछ अन्य कारणों को कंट्रोल करके आप सुबह जल्दी उठ सकते हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Nov 25, 2020
Winter Sleep: इन 5 कारणों से लोगों को सर्दियों में ज्यादा आती है नींद, जानें सर्दी में भी जल्दी उठने का उपाय

सर्दियों में आमतौर पर लोग ज्यादा आलसी हो जाते हैं। सबसे ज्यादा परेशानी लोगों को सुबह उठने में होती है। जबकि सर्दियों के दिन छोटे और रात बड़े होते हैं पर फिर भी लोगों की नींद पूरी नहीं होती। इस आलस और नींद के पीछे जहां हमारी खराब होती लाइफस्टाइल का हाथ है, वहीं कुछ साइंस और बायोलॉजिकल रीजन भी हैं। जी हां, सर्दियों में ज्यादा नींद आने का एक बड़ा कारण दिन और लाइट (day and light) की प्राकृतिक स्थिति भी है।  इसी नेचुरल सेटअप से हमारी मानसिक और शारीरिक गतिविधियां भी जुड़ी हुई हैं, जिसके कारण हम ना चाह कर भी सर्दियों में बाकी मौसम की तुलना में ज्यादा सोते हैं।  तो, आइए आज विस्तार से समझते हैं कि सर्दियों में ज्यादा नींद आने का कारण (why we sleep more in winter) क्या है? फिर जानेंगे सुबह जल्दी उठने का उपाय  (ways to wake up early in winters)।

insidewintersleep

सर्दियों में ज्यादा नींद आने का कारण  (why we sleep more in winter)

1.सर्दियों में बढ़ जाता है मेलाटोनिन का स्तर

नींद को नियंत्रित करने में प्रकाश (light) और अंधेरे (dark) की भी एक जरूरी भूमिका होती है। प्रकाश के संपर्क में आने से मस्तिष्क का वो क्षेत्र उत्तेजित होता है जो,  मेलाटोनिन (melatonin),शरीर के तापमान (body temperature) और हार्मोन (hormones) को नियंत्रित करता है। ये तीनों ही शरीर में नींद की गतिविधि को प्रभावित करते हैं। मेलाटोनिन की बात करें, तो ये नींद बढ़ाती  (Melatonin increases sleepiness) है और सूर्य के अस्त होने के साथ इसका स्तर भी बढ़ता चला जाता है। इस तरह से जब सर्दियों में सूरज कम ही देर तक रहता है और इसकी रौशनी भी उतनी स्ट्रोंग नहीं होती, तो मेलाटोनिन बढ़ता है और नींद आती रहती है। 

2.तापमान में गिरावट

हमारे शरीर को वास्तव में सो जाने के लिए ठंडा करने की जरूरत होती है। जब गर्मियों में तापमान बढ़ जाता है, तो लोगों को सही से नींद नहीं आती है। इस दौरान लोग घुटन और गर्मी से जूझते रहते हैं। इससे उल्ट ठंडा वातावरण नींद को बढ़ाता है और सोने में मदद करता है। तो इसलिए जब सर्दी बढ़ती है, तो हमें ज्यादा अच्छी नींद आती है।

insidesleepymorning

इसे भी पढ़ें : वर्कआउट के बाद खाने के लिए सबसे अच्छा फल क्यों माना जाता है केला? जानें एक्सरसाइज के बाद केला खाने के 5 फायदे

3. हार्मोनल असंतुलन के कारण (hormonal imbalance)

सर्दियों में आस-पास का कम रोशनी वाला डिम माहौल हार्मोनल संतुलन (hormonal imbalance) को प्रभावित करता है। साथ ही लोग अपने घरों को बंद रखते हैं और आर्टिफिशयल इलेक्ट्रॉनिक लाइट्स का इस्तेमाल करते हैं, जो कि नेचुरल हार्मोनल संतुलन को बाधित करता है और नींद बढ़ाने वाले हार्मोन को ट्रिगर करता है। साथ ही ब्लू लाइट के कारण हमारी आंखें तो थक जाती हैं पर नींद सही से नहीं आ पाती। ये सब हमें सही से सोने नहीं देता और हम हर समय आलसी महसूस करते हैं।

4.सर्दियों का खान-पान (winter diet plan)

सर्दियों में हमारा खान-पान गर्मियों की तुलना में गर्म और ज्यादा एनर्जी भरा होता है। फिर जब टेंप्रेचर घटने के साथ शरीर को गर्म रखने के लिए हमें और ज्यादा गर्मी की जरूरत होती है, तो हम गर्मियों की तुलना और ज्यादा खाना खाते हैं। ये चीजें जैसे ही बॉडी में तापमान को संतुलित करती है, बॉडी आराम में आ जाती है और व्यक्ति को नींद आने लगती है। 

इसे भी पढ़ें : सर्दियों में सुबह की शुरुआत करें इन स्मूदी के साथ, दिनभर खुद को रख सकेंगे एक्टिव

5. गलत लाइफस्टाइल (unhealthy lifestyle habits)

सर्दियों में ज्यादातर लोग शारीरिक गतिविधियों को करने से बचते हैं। जितनी ज्यादा सर्दी बढ़ती है, उतना शरीर स्थिर होता जाता है। इसके कारण लोगों में ज्यादा फैट और कार्ब्स का संचय होता है, जो कि नींद बढ़ाने का काम करते हैं। साथ ही सुबह देर से उठना और रात में देर तक जगना नींद के संतुलन को और बिगाड़ देता है, जिसके कि हम खुद को दिन भर आलसी महसूस करते हैं।

insidewalking

सुबह जल्दी उठने का उपाय  (ways to wake up early in winters)

नेशनल स्लीप फाउंडेशन के अनुसार, कम से कम 10 मिनट एरोबिक एक्सरसाइज करना जैसे कि वॉकिंग और साइकिल चलाना आपको एक्टिव रखने में मदद कर सकता है। इसके अलावा सर्दियों की सुबह जल्दी उठने के लिए आप कई और चीजों की मदद ले सकते हैं। जैसे कि

  • - रात को सोने से पहले और सुबह उठते ही पानी पिएं, जिससे कि शरीर को जगाने में आसानी होती है।
  • -खुद को एक्टिव रखने के लिए एक्सरसाइज करें, जो कि बॉडी क्लॉक को सेट करने में मदद करेगा।
  • -बिस्तर से उठने के कुछ देर बाद ही नहा लें। ऐसा इसलिए कि पानी बॉडी के तापमान में बदलाव करेगा और आपको एक्टिव महसूस करवाएगा।
  • -हेल्दी और हल्का भोजन लेने की कोशिश करें, जो कि आलस पैदा न करे।
  • -अलॉर्म सेट करके जगने की जगह बॉडी क्लॉक को सेट करने की कोशिश करें। इसके लिए 10 दिन लगातार एक ही वक्त पर सोएं और जागें, ये आपके बॉडी क्लॉक को सेट कर देगा।

तो, अगर आपको सर्दियों में ज्यादा नींद आती है, तो परेशान न हो कि आपको कोई बीमारी हुई है या आपको कोई परेशानी है,  बस आप इसके सांइस को समझें। फिर सुबह उठने के लिए आप इन टिप्स की मदद लें और स्वस्थ रह कर सर्दियों को मजा लें। 

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer