बच्चों को अकसर क्यों सताता है पेट दर्द? डॉक्टर से जानें इसके कारण, इलाज और बचाव के टिप्स

 बच्चों में पेट दर्द की समस्या सामान्य है। वे अकसर ही पेट दर्द की शिकायत करते हैं। जानें इसके कारण, उपचार और बचाव के बारे में।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Mar 23, 2021Updated at: Mar 23, 2021
बच्चों को अकसर क्यों सताता है पेट दर्द? डॉक्टर से जानें इसके कारण, इलाज और बचाव के टिप्स

क्या आपका छोटा बच्चा भी अकसर पेट दर्द की शिकायत करता है? दरअसल, बच्चों का शरीर बहुत नाजुक होता है क्योंकि उनका शरीर विकसित हो रहा होता है, इसलिए पाचन तंत्र से लेकर दूसरे तंत्रों का विकास पूरी तरह से नहीं हुआ होता है। उनका इम्यून सिस्टम भी कमजोर होता है, इसलिए वो संक्रमण (Infection) से लेकर दूसरी स्वास्थ्य समस्याओं की चपेट में जल्दी आ जाते हैं। अकसर देखने में आता है कि बच्चों को पेट दर्द बहुत होता है। लेकिन अगर बच्चे को कभी-कभार पेट दर्द हो तो घबराने की जरूरत नहीं है, अगर पेट दर्द लगातार कई दिनों तक बना रहे या दर्द बहुत तेज हो तो तुरंत डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए। यह किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का संकेत भी हो सकता है या इसका कारण शरीर के दूसरे भागों में होने वाली कोई समस्या भी हो सकती है। फैमिली फिजिशियन ऑफ इंडिया, ग्रेटर नोएडा के अध्यक्ष डॉ. रमन कुमार से जानें बच्चों को होने वाले पेट दर्द के कारण उपचार और बचाव के बारे में- (Causes, Treatment and Prevention of Stomach Pain in Children)

बच्चों में पेट दर्द (Stomach Pain in Children)

stomach pain in children

सभी उम्र के बच्चों में पेट दर्द एक सामान्य समस्या होती हैं। इसका कारण सामान्य से लेकर गंभीर हो सकता है। दर्द पूरे पेट में या पेट के एक तरफ हो सकता है। पेट दर्द पाचन तंत्र (Digestive System) से जुड़ी समस्याओं के कारण भी हो सकता है। अगर पेट दर्द का कारण मामूली है, तो यह अपने आप ही थोड़े समय में ठीक हो जाता है। लेकिन अगर समस्या लंबे समय तक बनी रहे तो उपचार कराना जरूरी होता है। 

बच्चों में पेट दर्द के कारण (Causes of Stomach Pain in Children)

बच्चों में पेट दर्द कई कारणों से हो सकता है। अधिकतर इसका कोई गंभीर कारण नहीं होता है, लेकिन कई बार यह किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का संकेत भी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - बच्चों में अपच और उल्टी की समस्या हो तो इन 7 घरेलू नुस्खों से तुरंत मिलेगा आराम

बच्चों में पेट दर्द के सामान्य कारण (Common Causes of Stomach Pain)

  • - कब्ज (Constipation)
  • - गैस (Gas)
  • - लूज मोशन (Loose Motion)
  • - ओवर ईटिंग (Overeating)
  • - अपच (Indigestion)

बच्चों में पेट दर्द के गंभीर कारण (Severe Causes of Stomach Pain)

  • - डायरिया (Diarrhea)
  • - संक्रमण (Infection)
  • - अपेन्डिक्स (Appendix)
  • - गाल ब्लैडर स्टोन (Gaal Bladder Stone)
  • - गले का संक्रमण (Throat Infection)
  • - गैस्ट्रोएंटीराइटिस (Gastroenteritis)
  • - मिल्क और फूड एलर्जी (Milk and Food Alergy)
  • - पेट में अल्सर (Stomach Ulcer)
  • - इंफ्लेमेटरी बाउल डिसीज (Inflammatory Bowl Disease) 

पेट दर्द के कारणों का पता लगाने के लिए जरूरी टेस्ट (Tests Needed to find out the Cause of Atomach Pain )

पेट में दर्द कई कारणों से होता है, इसलिए दर्द के सही कारणों का पता लगाना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए कई तरह के टेस्ट किए जाते हैं। जानें इस टेस्ट के बारे में-

शारीरिक परीक्षण (Physical Examination)

शारीरिक परीरक्षण में डॉक्टर यह पता लगाने की कोशिश करते हैं कि दर्द कहां और क्यों हो रहा है। इसके बाद इलाज शुरू किया जाता है।

यूरीन टेस्ट (Urine Test)

यूरीन टेस्ट की मदद से भी पेट दर्द के कारण का पता लगाया जा सकता है। इसलिए जब बच्चों को कई दिनों तक पेट दर्द होता है तो डॉक्टर उसकी यूरीन जांच करने की सलाह देते हैं। इससे सं क्रमण का पता चलता है। 

स्टूल टेस्ट (Stool Test)

बैक्टीरिया (Bacteria), परजीवी (Parasite) या मल में रक्त की उपस्थिति जांचने के लिए स्टूल टेस्ट किया जाता है। इससे भी पेट दर्द के कारण का पता लगाया जा सकता है। 

ब्लड टेस्ट (Blood Test)

stomach pain in children blood test

पेट दर्द के कारण का पता लगाने के लिए खून की जांच भी की जा सकती है। इसके जरिए एमाइलेज और लाइपेज के स्तर (Amylase and Lipase Level) और अग्नाश्य की कार्यप्रणाली की जांच की जाती है। 

इमेजिंग टेस्ट (Imaging Test)

आंतरिक अंगों (Internal Organs) और ऊतकों (Tissues) में किसी तरह की गड़बड़ी का पता लगाने के लिए डॉक्टर एक्स-रे (X-Ray), अल्ट्रासाउंड (Ultrasound) या सीटी स्कैन (CT Scan) कराने को भी कह सकते हैं। 

पेट दर्द होने पर उपचार (Treatment of Stomach Pain)

पेट दर्द के कारणों के आधार पर पेट दर्द का उपचार किया जाता है। अगर दर्द संक्रमण की वजह से हो रहा है तो इसके लिए दवाईयां दी जाती हैं। अगर मिल्क एलर्जी है तो डॉक्टर बच्चे को दूध और दुग्ध उत्पाद देने से मना कर सकते हैं। अगर पेट दर्द के साथ दस्त और उल्टी हो रही हैं तो बच्चे को दवाईयों के साथ पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ (Liquid) देना जरूरी हो जाता है, जिससे बच्चे के शरीर में पानी की कमी न हो। जब तक बच्चा ठीक न हो जाए उसे हल्का और सुपाच्य भोजन (Digestible Food) दें। अगर किसी गंभीर समस्या के कारण पेट दर्द हो रहा है तो उस समस्या का उपचार किया जाता है।

ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर को दिखाएं (Concer to Doctor) 

कभी-कभी पेट में दर्द हो जाना, पेट साफ न होना या भूख न लगना जैसी समस्याएं हर किसी के साथ होती है, लेकिन अगर पेट से संबंधित समस्याएं लगातार बनी रहें तो इन्हें नजरअंदाज न करें। इस तरह की परेशानियां होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

  • - बच्चे का पेट फूलकर कड़ा हो गया हो
  • - पेट में दर्द अचानक और बहुत तेज हो
  • - मल या उल्टी में खून दिखाई दे
  • - कब्ज के कारण बच्चा मल पास न कर पाए
  • - नाभि में दर्द होना, उल्टी होना, साथ ही बुखार आना और भूख की कमी होने पर 
  • - पेट के निचले भाग में सूजन आने पर क्योंकि यह हर्निया के कारण हो सकता है।
  • - पेट के ऊपरी भाग में दाई तरफ दर्द होना। इसकी वजह पीलिया हो सकता है।
  • - लड़कियों में अचानक पेट के निचले भाग में दर्द होना और उल्टी होना। यह ओवेरियन सिस्ट के कारण हो सकता है। 

ऐसे करें बचाव (Prevention to Stomach Pain)

बच्चे मासूम होते हैं, उनकी समझ विकसित नहीं हो पाती हैं, इसलिए यह माता-पिता की जिम्मेदारी होती है कि वह उनके खानपान और बाकी चीजों का ध्यान रखें। जिससे वह स्वस्थ रहें और बार-बार होने वाली पेट दर्द की समस्याओं से बच जाएं। 

children drink water in stomach pain

  • - बच्चों  को फास्टट फूड्स और जंक फूड्स की बजाए घर का बना खाना खिलाएं।
  • - अंकुरित अनाज खिलाएं क्यों कि शरीर इनको आसानी से पचा लेता है।
  • - उनके भोजन में फलों और सब्जिरयों को शामिल करें। भोजन में एक-तिहाई फल-सब्जिजयां और दो तिहाई अनाज होना चाहिए।
  • - बच्चों को हर तीन घंटे में कुछ खाने को दें।
  • - बच्चों को कम से कम दस घंटे की नींद लेने दें। इससे उनका मेटाबॉलिज्म दुरुस्त रहेगा।
  • - खाना खाने के तुरंत बाद न सोने दें।
  • - बचपन से ही साफ-सफाई की आदत डालें, जिससे बच्चे संक्रमण की चपेट में न आएं।

अगर आपका बच्चा भी बार-बार पेट दर्द की शिकायत करता है, तो इसे बिल्कुल नजरअंदाज न करें। क्योंकि यह किसी स्वास्थ्य समस्या के कारण भी हो सकता है। इसलिए डॉक्टर से संपर्क कर जरूरी जांच करवाएं और समय से बच्चे के पेट दर्द का उपचार करवाएं।

Read More Article on Children Health in Hindi

Disclaimer