Expert

आंखों को स्वस्थ रखने के लिए क्यों जरूरी है बार-बार पलकें झपकाना, जानें दिन में कितनी बार पलकें झपकाना चाहिए

अगर आप बार-बार पलकें नहीं झपकाते हैं तो इससे आपकी आंखों को नुकसान पहुंच सकता है, जानें दिन में कितनी बार पलकें झपकाना है जरूरी।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 22, 2022Updated at: Apr 22, 2022
आंखों को स्वस्थ रखने के लिए क्यों जरूरी है बार-बार पलकें झपकाना, जानें दिन में कितनी बार पलकें झपकाना चाहिए

आंखें हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा हैं। वर्तमान समय में हम में ज्यादातर लोग आंखों से जुड़ी समस्याओं का सामना कर रहे हैं। आंखों में सूखापन, कमजोर नजर, आंखों में खुजली और मोतियाबिंद आदि जैसी समस्याएं इन दिनों बहुत आम हैं। इसलिए आंखों के स्वास्थ्य को बनाए रखना बहुत महत्वपूर्ण है। क्या आप जानते हैं आंखों को स्वस्थ रखने के लिए अपनी पलकों को पर्याप्त झपकाना बहुत जरूरी है?

आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ. ऐश्वर्या संतोष की मानें तो आंखों को स्वस्थ रखने के लिए पलकों को झपकाना बहुत जरूरी है। आंख हमारे शरीर के 5 संवेदी अंगों (इंद्रियों) में सबसे महत्वपूर्ण है। अगर आप बार-बार पलकें नहीं झपकाते हैं तो आंखें ड्राई हो जाती हैं और आंखों में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है, जिससे आपकी आंखों में से गंदगी या मलबा बाहर नहीं निकल पाता है। इसके अलावा कई आंखों से जुड़ी समस्याओं का जोखिम भी बढ़ जाता है। लेकिन एक दिन में कितनी बार पलकें झपकाना जरूरी है? (Why Blink Eyes Frequently For Healthy Eyes In Hindi) और अगर पर्याप्त पलकें नहीं झपका रहे हैं तो इसका पता कैसे चल सकता है? इस लेख में हम डॉ. ऐश्वर्या संतोष से इसके बारे में विस्तार से जानेंगे।

स्वस्थ आंखों के लिए बार-बार पलकें झपकाना क्यों जरूरी है (Why Blink Eyes Frequently For Healthy Eyes In Hindi)

वर्तमान समय में हम में से ज्यादातर लोग अपने टीवी, मोबाइल या लैपटॉप की स्क्रीन से चिपके रहते हैं। जब आप लगातार स्क्रीन के सामने बहुत अधिक समय बिताते हैं तो आप लगातार स्क्रीन को देखते रहते हैं और पलकें झपकाना भूल जाते हैं या पर्याप्त पलकें नहीं झपकाते हैं। जिसके चलते अक्सर हम पलक झपकना भूल जाते हैं। जब ऐसा होता है तो आपके नेत्रगोलक या कोर्निया की सतह पर टियर फिल्म नहीं फैलती है। जब टियर फिल्म कॉर्निया पर नहीं फैलती है तो इससे आंखों में सूखेपन की समस्या हो जाती है। साथ ही आंखों से जुड़ी कई अन्य समस्याओं का जोखिम भी बढ़ता है। 

इसे भी पढें: ज्यादा स्ट्रेस आपको बना सकता है पार्किंसंस रोग का शिकार, लगातार हाथ-पैर कांपना है इस बीमारी का संकेत

टियर फिल्म क्या है और ये क्यों जरूरी है? (What Is Tear Film In Hindi)

डॉ. ऐश्वर्या संतोष के अनुसार टियर फिल्म आसुंओं के द्रव की एक फिल्म होती है जो आपकी आंखों की सतह पर बनी रहते है। सरल शब्दों में कहें तो टियर फिल्म आंखों की सतह को ढकने का काम करती है। इससे आंखों को मोटाई मिलती है जिससे आंखें सुरक्षित रहती हैं। टियर फिल्म आंखों  में नमी के लिए जरूरी है। साथ ही यह आंखों की कोशिकाओं को डैमेज होने से बचाने में मदद करती है और आंखों में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए जरूरी है। आपकी आंखों की सतह पर मौजूद ये टियर फिल्म आंखों की सफाई में मदद करती है और आंखों को संक्रमण से बचाती है। आंखों से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है।

पर्याप्त पलकें न झपकाने पर हो सकती हैं ये समस्याएं (Eye Problems Caused by Not Blinking Eyes Enough)

आप पर्याप्त पलकें नहीं झपका रहे हैं आपकी आंखें कई संकेत और लक्षणों के जरिए इस, के बारे में बताती हैं। यह संकेत और लक्षण आंखों से जुड़ी परेशानियों के रूप में प्रकट होते हैं जैसे - आंखों में सूखापन, जलन, खुजली, विदेशी शरीर सनसनी, ओकुलर डिस्कम्फर्ट, मोतियाबिंद आदि।

दिन में कितनी बार झपकाएं पलकें (How Much Blink Eyes In A Day)

डॉ. ऐश्वर्या के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को एक मिनट में लगभग 15 से 20 बार पलकें जरूर झपकानी चाहिए।

इसे भी पढें: रात में नींद न आने का कारण बनती हैं ये 10 गलतियां, अच्छी नींद चाहिए तो बदलें ये आदतें

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं

डॉ. ऐश्वर्या सुझाव देती हैं कि अगर आप आंखों की समस्याओं से बचना चाहते हैं और आंखों को सेहतमंद रखना चाहते हैं तो आपको बार-बार पलकें झपकाने की कोशिश करनी चाहिए। इससे आंखों में टियर फिल्म को फैलाने में मदद मिलती है, जिससे आंखों में पर्याप्त नमी और ऑक्सीजन बनी रहती है। जो स्वस्थ आंखों के लिए बेहद जरूरी है।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer