दूध वाली चाय, मसाला चाय, ब्लैक टी या ग्रीन टी: सेहत के लिए कौन सी चाय है बेस्ट, जानें डायटीशियन से

लगभग हर घर में दिन की शुरुआत चाय से होती है। लेकिन क्या आप चाय पीने का सही तरीका जानते हैं? अगर नहीं, तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Aug 19, 2021 12:17 IST
दूध वाली चाय, मसाला चाय, ब्लैक टी या ग्रीन टी: सेहत के लिए कौन सी चाय है बेस्ट, जानें डायटीशियन से

लगभग सभी के घरों में दिन की शुरुआत कप चाय से होती है। पानी के बाद चाय भारतीय घरों में पीने जाने वाला सबसे आम पेय है। चाय की लोकप्रियता भारत में काफी ज्यादा है। कई लोग चाय के इतने ज्यादा शौकीन होते हैं कि वह दिन 4 से 5 कप चाय पी जाते हैं। भारत में चाय कई तरीकों से बनाया जाता है। यह भारतीय डिशेज का एक अभिन्न अंग है। डायटीशियन स्वाती बाथवाल बताती हैं कि चाय का शौकीन होना कोई गलत नहीं है। लेकिन इसके गुणों का अधिक लाभ उठाने के लिए चाय को सही तरीके से पीना जरूरी होता है। आज हम आपको इस लेख में चाय को पीने का तरीका और कौन सी चाय स्वास्थ्य के लिए बेहतर हो सकती है, इसके बारे में विस्तृत रूप से चर्चा करेंगे। चलिए जानते हैं इस बारे में-

चाय और वजन घटने का संबंध

डायटीशियन स्वाती बाथवाल बताती हैं कि दिन में 1 कप चाय पीने से 1 घंटे के अंदर 10 कैलोरी बर्न होती है। अगर आप 24 घंटे में 4 कप चाय और आधा घंटा वॉक करते हैं, तो इससे आपका 1 ग्राम एक्स्ट्रा फैट बर्न हो सकता है। वहीं, अगर आप पूरे दिन में 3 कप चाय पीते हैं, तो इससे आपका पूरे दिन में 80 कैलोरी बर्न होता है। स्वाती बाथवाल का कहना है कि चाय पीने से आपके शरीर में कैलोरी एड नहीं होती है। बल्कि चाय में नेगेटिव कैलोरीज होती है। लगभग हर एक कप चाय से हम 25 कैलोरी बर्न कर सकते हैं। यह सभी तरह के चाय ब्लैक टी, व्हाइट टी और ग्रीन टी पर लागू होता है। हालांकि, इसमें मसाटा टी को शामिल नहीं किया जा सकता है। स्वाती बाथवाल बताती हैं कि दिन में 3 से 6 कप ऊलोंग या ग्रीन टी पीने से मेटाबॉलिज्म रेट को बूस्ट किया जा सकता है। इससे आप पूरे दिन में करीब 100 कैलोरी बर्न कर सकते हैं।  

इसे भी पढ़ें - सिक्स पैक एब्स बनाने के आसान तरीके, डायटीशियन स्वाति बाथवाल से जानें 6 हैक्स जिनसे बनेंगे एब्स

ब्लैक टी Vs मिल्क टी

स्वाती बाथवाल बताती हैं कि अगर आप चाय में दूध को मिला देते हैं, तो यह चाय में मौजूद हेल्दी यौगिकों को कम कर देता है। दूध में कैसिइन (casein) की मौजूदगी चाय की चपाचय क्रिया और कैलोरी बर्न की प्रक्रिया पर प्रभाव डालता है। स्वाती बाथवाल का कहना है कि कैसिइन चाय में मौजूद कैटेचिन को लपेटता है और चाय के कार्यों को अवरुद्ध करता है। ऐसे में आपके शरीर को चाय पीने का कोई लाभ नहीं मिलता है। इसलिए अगर आप मसाला चाय या फिर दूध से युक्त चाय पीते हैं, तो इस आदत को बदल लें। क्योंकि इससे आपको कोई फायदा नहीं मिलेगा। यह बात सोया मिल्क पर भी लागू होती है। अब आप समझ गए होंगे कि मिल्क टी, ब्लैक टी की तुलना में स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है।

चाय का सही कॉम्बिनेशन

डायटीशियन स्वाती बाथवाल बताती हैं कि चाय में टैनिन और कैटेचिन नामक यौगिक की मौजूदगी होती है। यह यौगिक यौगिक खाद्य पदार्थों से आयरन के अवशोषण को कम करता है। इसलिए अगर आप चाय के साथ बादाम, काजू, अखरोट जैसी चीजें खाते हैं, तो इनसे आपको आयरन नहीं मिल पाएगा। साथ ही चाय के साथ भुने चने या भीगे चने खाते हैं, तो इससे भी आपको कोई आयरन नहीं मिल सकेगा। क्योंकि चाय इन चीजों में मौजूद आयरन के अवशोषण को कम कर देता है। इसलिए चाय पीने के करीब 30 मिनट बाद या फिर 1 घंटे बाद ही नट्स का सेवन करें। अगर आप चाय के साथ कुछ खाना चाहते हैं, तो मखाना, लाई, बाजरा से बना डिश, ओट्स बिस्किट्स जैसी चीजों का सेवन करें। चाय पीने के दौरान आयरनयुक्त खाद्य पदार्थों को शामिल न करें। 

इसे भी पढ़ें - रोजाना इलायची चबाने से वजन हो सकता है कम, जानें इसके 7 अन्य फायदे

ग्रीन टी Vs व्हाइट टी

यदि आप व्हाइट टी में नींबू मिलाते हैं, तो ग्रीन टी की तुलना में व्हाइट टी आपके लिए बेहतर है। लेकिन अगर आप व्हाइट टी में नींबू नहीं मिलाते हैं, तो आपके लिए ग्रीन टी ही बेहतर ऑप्शन है। दरअसल, स्वाती बाथवाल का कहना है कि व्हाइट में नींबू मिलाने से व्हाइट टी में मौजूद फाइटोन्यूट्रीएंट्स रिलीज हो जाते हैं। क्योंकि चाय के पोषक तत्वों को रिलीज करने के लिए एक बेहतर पीएच लेवल का होना जरूरी है। नींबू युक्त चाय के सेवन से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से बचाव किया जा सकता है। स्वाती बाथवाल कहती हैं कि दोनों ही चाय कैंसर की रोकथाम में मददगार होती है। लेकिन व्हाइट टी, ग्रीन टी की तुलना में कैंसर से बचाव के लिए बेहतर ऑप्शन है। वैसे यह दोनों ही चाय स्वास्थ्य के लिए बेहतर होती हैं। इसमें ज्यादा फर्क नहीं है।  

अब आप समझ गए होंगे कि किस तरह का चाय पीना आपके स्वास्थ्य के लिए बेहतर हो सकता है। अगर आप खुद को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो किसी भी तरह के चाय ग्रीन टी, ब्लैक टी या व्हाइट टी में दूध न मिलाएं। चाय को हेल्दी स्नैक्स के साथ पिएं। लेकिन हर एक स्नैक्स के साथ पीना सही नहीं होता है। इसलिए चाय पीने के दौरान इन छोटी-छोटी बातों पर ध्यान जरूर रखें।    

Image Credit - Pixabay

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer