Doctor Verified

प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए?

Ultrasound in Pregnancy: प्रेगनेंसी में समय-समय पर अल्ट्रासाउंड करवाना बहुत जरूरी होता है। इसमें बच्चे की स्थिति की जांच की जाती है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 23, 2022Updated at: Jun 23, 2022
प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए?

Pregnancy me Pehla Ultrasound Kab Hota hai: प्रेगनेंसी में अल्ट्रासाउंड कराना एक सामान्य प्रक्रिया है। अल्ट्रासाउंड से भ्रूण के विकास का सही पता लगाया जा सकता है। प्रेगनेंसी में बच्चे के विकास का सही आंकलन करने के लिए डॉक्टर समय-समय पर अल्ट्रासाउंड करवाने की सलाह देते हैं। अल्ट्रासाउंड पहली, दूसरी और तीसरी तिमाही में करवाया जा सकता है। ऐसे में जो महिला पहली बार गर्भवती हुई है, उनके मन में अकसर सवाल रहता है कि गर्भावस्था में पहली बार अल्ट्रासाउंड कब करवाना चाहिए? 

तो चलिए मारेंगो क्यूआरजी हॉस्पिटल, दिल्ली एनसीआर की डायरेक्टर और हेड ऑफ ऑब्स एंड गायनी डिपार्टमेंट डॉक्टर निशा कपूर से विस्तार से जानें प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए (When To Do First Ultrasound in Pregnancy)?

ultrasound in pregnancy

प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए

डॉक्टर निशा कपूर बताती हैं की प्रेगनेंसी में बच्चे की धड़कनों को सुनने के लिए अल्ट्रासाउंड करवाया जाता है, ताकि पता चल सके कि बच्चा एकदम सुरक्षित है। गर्भावस्था में करवाए जाने वाले पहले अल्ट्रासाउंड को डेटिंग कहा जाता है। प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासाउंड छठें और सातवें सप्ताह के बीच किया जाता (When To Do First Ultrasound in Pregnancy) है। पहली तिमाही में किए जाने वाले अल्ट्रासाउंड में पता लगाया जाता है कि बच्चा गर्भाशय में सही जगह पर है या नहीं। इसके अलावा बच्चे की दिल की धड़कनें भी पता चलती है। डॉक्टर निशा कपूर बताती हैं कि गर्भावस्था के प्रत्येक तिमाही में कम से कम एक अल्ट्रासाउंड कराने की सलाह दी जाती है।

इसे भी पढ़ें- स्पर्म काउंट बढ़ाने में फायदेमंद हो सकते हैं तरबूज के बीज, इस तरह से करें सेवन

प्रेगनेंसी में अल्ट्रासाउंड करवाने के फायदे (Ultrasound Benefits in Pregnancy in Hindi)

  • गर्भावस्था के 6 से 7वें सप्ताह के बीच किए जाने वाले अल्ट्रासाउंड से बच्चे के दिल की धड़कन का पता लगाया जाता है।
  • गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड करने से बच्चे की लंबाई और थैली के आकार को मापा जा सकता है। इससे प्रसव की तारीख का पता लगाया जा सकता है।
  • अल्ट्रासाउंड से पता चलता है कि महिला के गर्भ में एक बच्चा है या फिर महिला जुड़वां बच्चों को जन्म देगी।
  • गर्भाशय के भीतर की स्थिति को जानने के लिए भी अल्ट्रासाउंड बहुत जरूरी होता है। 
  • अल्ट्रासाउंड से गर्भाशय फाइब्रॉएड, डिम्बग्रंथि के सिस्ट, गर्भाशय सेप्टम आदि की स्थिति का पता लगाया जा सकता है। 
first ultrasound in pregnancy

Pregnancy me Pehla Ultrasound Kab Hota hai: प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासाउंड 6 से 7वें सप्ताह में करवाया जाता है। इसके बाद समय-समय पर डॉक्टर अल्ट्रासाउंड करवाने की सलाह देते हैं। प्रेगनेंसी को हेल्दी रखने के लिए प्रेगनेंसी में हर तिमाही में अल्ट्रासाउंड करवाने की सलाह दी जाती है। लेकिन अधिक बार भी अल्ट्रासाउंड करवाने से बचना चाहिए और इसे तभी कराना चाहिए, जब डॉक्टर आपको इसकी सलाह दें। साथ ही गर्भावस्था में समय-समय पर डॉक्टर से मिलना चाहिए। हमेशा डॉक्टर को अपनी स्वास्थ्य स्थिति के बारे में बताते रहना चाहिए।

Disclaimer