Expert

किडनी स्टोन में क्‍या खाना चाह‍िए? एक्‍सपर्ट से जानें सही डाइट

Kidney Stone Diet: क‍िडनी में पथरी होने पर तेज दर्द उठता है। ऐसे में क्‍या खाएं और क्‍या नहीं, इस पर जानें एक्‍सपर्ट की राय।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Nov 14, 2022 15:10 IST
किडनी स्टोन में क्‍या खाना चाह‍िए? एक्‍सपर्ट से जानें सही डाइट

क‍िडनी हमारे खून को फि‍ल्‍टर करने का काम करता है। क‍िडनी, ब्‍लड को फ‍िल्‍टर करने के दौरान जरूरी म‍िनरल्‍स को यूर‍ेटर की मदद से ब्‍लैडर तक पहुंचा द‍िया जाता है और पेशाब के जर‍िए शरीर से बाहर न‍िकाल द‍िया जाता है। जब खून में सोड‍ियम, कैल्‍श‍ियम और अन्‍य म‍िनरल्‍स की मात्रा बढ़ जाती है, तो ये क‍िडनी में पत्‍थर (kidney stone) का रूप ले लेते हैं। इससे ब्‍लैडर तक यूर‍िन पहुंचने के रास्‍ते में रुकावट आती है। क‍िडनी में पथरी है, तो आपको खास डाइट प्‍लान फॉलो करना होगा। जानते हैं क‍िडनी में पथरी के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या नहीं। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने Holi Family Hospital, Delhi की डायटीश‍ियन Sanah Gill से बात की। 

kidney stone diet

फाइबर र‍िच डाइट का सेवन करें  

क‍िडनी में स्‍टोन होने पर फाइबर र‍िच डाइट का सेवन करना चाह‍िए। क‍िडनी में सब्‍ज‍ियां, फल, होल ग्रेन्‍स, लो-फैट डेयरी प्रोडक्‍ट्स का सेवन करें। ताजी सब्‍ज‍ियां और फल का सेवन करने से यूर‍िक एस‍िड स्‍टोन्‍स से बचाव होता है। क‍िडनी में पथरी के दौरान हर द‍िन 2 से 3 लीटर पानी का सेवन करना चाह‍िए। 

इसे भी पढ़ें- किडनी में पथरी क्यों होती है? आसान भाषा में समझें कैसे जमा हो जाते हैं शरीर में पत्थर

अनाज और फल‍ियां खाएं 

क‍िडनी स्‍टोन के दौरान आपको अनाज और फल‍ियों का सेवन करना चाह‍िए। क‍िडनी स्‍टोन के बनने की प्रक्र‍िया को रोकने के ल‍िए ये फायदेमंद होता है। इसके साथ ही आपको मटर, मूंगफली, बादाम, अखरोट, प‍िस्‍ता, सूखे मेवे और सोया म‍िल्‍क आद‍ि का सेवन करना चाह‍िए।  

क‍िडनी में पथरी होने पर ये फल खाएं 

पथरी में सेब का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा संतरा और नींबू का सेवन भी फायदेमंद माना जाता है। आप आडू का सेवन भी कर सकते हैं। आडू का सेवन करने से क‍िडनी को मजबूत बनाने में मदद म‍िलती है। आडू का सेवन करने से यूर‍िनरी ब्‍लैडर साफ होता है और पथरी से बचाव होता है।

तुलसी की पत्तियांं खाएं   

तुलसी की पत्तियों में ऐसे तत्‍व मौजूद होते हैं जो यूर‍िक एस‍िड के लेवल को स्‍थि‍र करने में सक्षम होते हैं। इसके कारण क‍िडनी में स्‍टोन नहीं बन पाते। तुलसी की पत्तियों में ऐसिटिक एसिड पाया जाता है। इससे स्‍टोन को प‍िघलाने में मदद म‍िलती है। तुलसी के पानी का सेवन कर सकते हैं या रोजाना 4 से 5 तुलसी की पत्तियां खाएं।

क‍िडनी में इन चीजों का सेवन न करें

नेशनल क‍िडनी फाउंडेशन (National Kidney Foundation) के मुताब‍िक, क‍िडनी में पथरी से पीड़‍ित मरीजों को न‍िम्‍न चीजों का सेवन करने से बचना चाह‍िए-

1. क‍िडनी में पथरी है, तो आपको व‍िटाम‍िन सी सप्‍लीमेंट्स की हाई डोज का सेवन करने से बचना चाह‍िए। द‍िनभर में व‍िटाम‍िन सी की 60 एमजी से ज्‍यादा मात्रा न लें।  

2. क‍िडनी में पथरी है, तो हाई सोड‍ियम इंटेक से भी बचना चाह‍िए। सोड‍ियम की ज्‍यादा मात्रा का सेवन करने से यूर‍िन में कैल्‍श‍ियम की मात्रा बढ़ जाएगी और इससे स्‍टोन बनने की आशंका बढ़ सकती है।

3. क‍िडनी में स्‍टोन के दौरान, कैल्‍श‍ियम सप्‍लीमेंट्स का सेवन डॉक्‍टर की सलाह पर ही करें। 

4. क‍िडनी में पथरी है, तो प्रोटीन की ज्‍यादा मात्रा लेने से बचना चाह‍िए। प्रोटीन का ज्‍यादा सेवन करने से क‍िडनी ज्‍यादा कैल्‍श‍ि‍यम बाहर न‍िकालती है, इससे क‍िडनी में पथरी की समस्‍या बढ़ सकती है। 

5. ऐसी चीजों का सेवन करने से बचें ज‍िनमें ऑक्सलेट अधिक होता है जैसे- पालक, चुकंदर, भ‍िंडी, शकरकंद, चाय, नट्स, चॉकलेट आद‍ि का सेवन करने से बचें।   

6. एल्‍कोहल का सेवन करने से बचें। इससे ब्‍लड में यूर‍िक एस‍िड की मात्रा बढ़ जाती है।

7. मीठी चीजों का सेवन करने से बचें। जानवरों से प्राप्‍त होने वाले प्रोटीन के सेवन से भी बचें।  

क‍िडनी में स्‍टोन होने पर इन ट‍िप्‍स को आजमाएंगे, तो क‍िडनी स्‍टोन की समस्‍या से जल्‍दी बाहर न‍िकल पाएंगे।  

Disclaimer