गर्भवती हैं तो त्वचा पर इन प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल करने से बचें, एक्सपर्ट से जानें क्या हो सकते हैं खतरे

प्रेगनेंसी के दौरान शैम्‍पू, क्रीम, एक्‍ने या डॉर्क सर्कल क्रीम में कैम‍िकल आपके स्‍वास्‍थ्‍य के ल‍िए हान‍िकारक हो सकते हैं इसल‍िए इन्हें अवॉइड करें। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Feb 09, 2021Updated at: Feb 09, 2021
गर्भवती हैं तो त्वचा पर इन प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल करने से बचें, एक्सपर्ट से जानें क्या हो सकते हैं खतरे

त्‍वचा को जवां और हेल्‍दी रखने के ल‍िए हम बहुत से प्रोडक्‍ट्स इस्‍तेमाल करते हैं। क्‍या आपको पता है जो कैम‍िकल प्रोडक्ट्स के जर‍िए आपकी स्‍क‍िन में जाते हैं वो प्रेगनेंसी में हान‍िकारक हो सकते हैं? इन उत्‍पादों में कई ऐसे कैम‍िकल का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है जो होने वाले बच्‍चे को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इन उत्‍पादों का असर बच्चे के वजन और नर्वस स‍िस्‍टम पर भी पड़ता है। इससे आपको हॉर्मोन प्रॉब्‍लम भी हो सकती है इसल‍िए आपको प्रेगनेंसी में हार्मफुल कैम‍िकल से बनी क्रीम, लोशन, शैम्‍पू, ड‍ीयो आद‍ि का इस्‍तेमाल नहीं करना चाहि‍ए। हेयर र‍िमूवर क्रीम में थ‍ियोग्‍लाइकोल‍िक एस‍िड पाया जाता है जो प्रेगनेंसी में इस्‍तेमाल नहीं करना चाह‍िए। ऐसे ही और अवॉइडेबल प्रोडक्‍ट्स की जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की। 

skin care in pregnancy

क‍िस प्रोडक्‍ट में होते हैं हान‍िकारक कैम‍िकल? (Skin products that contain harmful chemicals)

डॉ देवेश ने बताया क‍ि प्रेगनेंसी के दौरान कैम‍िकल्‍स का बॉडी पर बुरा असर पड़ता है। कैम‍िकल से हॉर्मोन्‍स में बदलाव होता है और हॉर्मोनल चेंज के कारण बॉडी पर उसका असर द‍िखने लगता है। इसलि‍ए आपको कोई भी प्रोडक्‍ट खरीदने से पहले उसका लेबल ध्‍यान से पड़ना चाहि‍ए। नीचे द‍िए कैमिकल उसमें शाम‍िल हो तो प्रोडक्‍ट न खरीदें। 

1. व‍िटाम‍िन ए क्रीम (Vitamin A cream)

व‍िटाम‍िन ए आपकी बॉडी के लि‍ए अच्‍छा होता है पर प्रेगनेंसी के दौरान आपको ऐसे स्‍किन केयर प्रोडक्‍ट्स को अवॉइड करना है ज‍िनमें व‍िटाम‍िन ए से बने कैम‍िकल हो जैसे रेट‍ीन ए, रेट‍िनॉल, रेट‍िनाइल पाल्‍म‍िटेट। (retin-A, retinol and retunyl palmitatet) इससे होने वाले बच्‍चे पर बुरा असर पड़ सकता है इसलि‍ए इनसे दूर रहें। कुछ क्रीम्‍स में टाजोरॉक और एक्‍यूटेन (tazorac and accutane) नाम के 2 कैमिकल होते हैं, ये भी व‍िटाम‍िन ए से बनते हैं। एफडीए ने इन्‍हें खतरनाक कैमिकल का नाम द‍िया है। इसे भी आपको प्रेगनेंसी के दौरान अवॉइड करना चाह‍िए। 

2. एक्‍ने क्रीम (Acne cream)

प्रेगनेंसी के दौरान एक्‍ने एक बहुत कॉमन प्रॉब्‍लम है पर एक्‍ने को ठीक करने के ल‍िए इस्‍तेमाल की जाने वाली क्रीम का चयन प्रेगनेंसी में सोच समझकर ही करना चाह‍िए। इन क्रीम में बेनजोइल पैराओक्‍साइड और सैलिसेल‍िक एसिड (benzoyl peroxide and salicylic acid) पाया जााता है। इन्‍हें एक्‍ने ठीक करने के ल‍िए इस्‍तेमाल क‍िया जाता है पर डॉक्‍टर का मानना है क‍ि आपको इन्‍हें अवॉइड करना चाह‍िए। 

3. एसेंशियल ऑयल (Essential oil)

essential oil in pregnancy

एसेंश‍ियल ऑयल को ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट्स में खास जगह दी गई है पर एफडीए का मानना है क‍ि इसमें स्‍ट्र‍िक्‍ट लेबल स्‍टैंडर्ड नहीं पाए जाते हैं। इससे गंभीर समस्‍या हो सकती है अगर इसे प्रेगनेंसी के दौरान इस्‍तेमाल क‍िया जाए। आपको इसका इस्‍तेमाल करने से पहले डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाह‍िए। 

4. स्‍किन लाइटनर (Skin lightner)

हाइड्रोक्‍व‍िनॉन (hydroquinone) नाम का कैम‍िकल स्‍क‍िन लाइटनर क्रीम में पाया जाता है। इसे प‍िगमेंटेशन के ल‍िए भी इस्‍तेमाल क‍िया जाता है पर आपको प्रेगनेंसी के दौरान इसे नहीं लगाना चाह‍िए। इससे आपके होने वाले बच्‍चे पर बुरा असर पड़ सकता है। एफडीआई ने इस कैमिकल को सी कैटेगरी में रखा है। 

इसे भी पढ़ें- गर्भावस्था के पहले सप्ताह में दिखते हैं ये लक्षण, जानें गर्भवती होने पर कैसा हो आपका आहार

5. डि‍योड्रेंट (Deodorant)

एल्‍युम‍िन‍ियम क्‍लोराइड  (aluminum chlorid) पर लंबे समय से बहस चलती आ रही है। ये एक कांट्रोवर्श‍ियल कैमिकल है। ये कैमिकल ज्‍यादातर डि‍योड्रेंट में पाया जाता है। वैसे तो इसका लोअर कॉन्‍संट्रेशन ही इस्‍तेमाल होता है पर अगर डीयो में इसकी मात्रा ज्‍यादा है तो आपको प्रेगनेंसी के दौरान डि‍ि‍योड्रेंट अवॉइड करने चाह‍िए। 

6. हेयर प्रोडक्‍ट्स (Hair products)

हेयर प्रोडक्‍ट्स जैसे शैम्‍पू, कंडीशनर या नेलपेंट में फॉर्मलडेहाईड‍िया (formaldehyde) नाम का एक कैम‍िकल पाया जाता है। आपको ज‍िस भी प्रोडक्‍ट में ये नाम द‍िखे उसे अवॉइड करें। इससे फर्ट‍िल‍िटी प्रॉब्‍लम या म‍िसकैरेज की समस्‍या हो सकती है। 

7. सनस्‍क्रीन (Sunscreen)

सनस्‍क्रीन भले ही आपको सूरज की हान‍िकारक रेज से सुरक्षा देती है पर ये प्रेगनेंसी में आपके ल‍िए खतरनाक हो सकती है। इसमें ऑक्‍सीबेंजोन या एवोबेंजान (oxybenzone or avobenzone) नाम के कैमिकल पाए जाते हैं। ये होने वाले बच्‍चे के नर्वस स‍िस्‍टम को नुकसान पहुंचा सकते हैं। आपको धूप से सुरक्षा चाह‍िए तो नैचुरल सनस्‍क्रीन यूज करें।

8. एंटीबॉयोट‍िक क्रीम (Antibiotic cream)

कुछ एंटीबॉयोट‍िक क्रीम में टेट्रासाइक्‍लेन‍िया  (tetracyclinea) पाया जाता है। प्रेगनेंट मह‍िलाओं और बच्‍चों को इससे दूर रखना चाह‍िए। स्‍टडीज में पाया गया है इसका नेगेट‍िव इफेक्‍ट प्रेगनेंसी में होता है। इस कैमिक‍ल के साथ अगर डॉक्‍सीसाइलाइन या म‍िनोसाइक्‍लाइन (doxycyline and minocycline) जैसे कैम‍िकल भी क्रीम पर ल‍िखे हों तो उन्‍हें लगाना अवॉइड करें। 

इसे भी पढ़ें- सफेद पानी के स्राव को ठीक करेगा ये अचूक उपाय है फायदेमंद, जानें अपनाने के सही तरीके

स्‍क‍िन प्रोडक्‍ट्स का व‍िकल्‍प (Alternative options of skin products during pregnancy)

  • 1. अगर चेहरे पर मुंहासे हो जाएं तो क्रीम की जगह आप शहद का इस्‍तेमाल करें। ये स्‍क‍िन के ल‍िए एंटीसेप्‍ट‍िक का काम करेगा।   
  • 2. एंटी एज‍िंग क्रीम का इस्‍तेमाल करती हैं तो उसकी जगह दही लगा सकती हैं। दही से त्‍वचा ड‍िटॉक्‍स‍िफाई हो जाती है। इससे चेहरे की डेड स्‍क‍िन भी हटती है। 
  • 3. डॉक सर्कल के ल‍िए आई क्रीम का इस्‍तेमाल करती हैं तो उसकी जगह आप घर में बना मक्‍खन लगाएं। मक्‍खन में हल्‍दी म‍िला लें और वो पेस्‍ट आंखों के आसपास वाले ह‍िस्‍से में लगाएं। 
  • 4. प्रेगनेंसी के दौरान अक्‍सर झांइयां हो जाती हैं। इससे बचने के ल‍िए चेहरे पर कच्‍चा आलू काटकर चेहरे पर लगाएं। आप चाहें तो कच्‍चे आलू का कद्दूकस करके उसमें खीरे का रस या नींबू का रस म‍िलाकर फेस पैक बना सकती हैं। 
  • 5. प्रेगनेंसी में चेहरे, अंडरआर्म्स और प्राइवेट पार्टस में जलन हो तो एलोवेरा जैल लगाएं। 
  • 6. एड़‍ियां फट जाने पर क्रैक क्रीम का इस्‍तेमाल करने के बजाय गुलाब पाउडर में दूध की क्रीम या तेल डालकर एड़‍ियों पर लगाएं तो आराम म‍िलेगा।
  • 7. होंठ फट जाने पर बाजार में म‍िलने वाले बॉम की जगह आप घी या मक्‍खन होंठ और नाभि पर लगाएं तो होंठ मुलायम रहेंगे। 

प्रेगनेंसी में इन बातों का रखें ख्‍याल (Tips for skin during pregnancy)

skin problem remedies

  • आपको प्रेगनेंसी में क‍िसी भी ब्‍यूटी या कैमकल ट्रीटमेंट से बचना चाह‍िए। ऐसे प्रोडक्‍ट्स न खरीदें जि‍नमें खुशबू हो। ये बच्‍चे के ल‍िए हान‍िकारक हो सकते हैं। 
  • रात को सोने से पहले मेकअप उतार लें। कोश‍िश करें क‍ि प्रेगनेंसी के दौरान आप नेलपॉल‍िश, ल‍िपस्‍ट‍िक जैसे कॉस्‍मेट‍िक प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल न करें। 
  • खान-पान पर ध्‍यान दें। अपनी डाइट में हरी सब्‍ज‍ियां, फल, मेवा और अनाज शाम‍िल करें। जंक फूड, एल्‍कोहॉल जैसी चीजें प्रेगनेंसी में आपकी स्‍किन और सेहत दोनों ब‍िगाड़ सकती है।
  • स्‍ट्रेच मार्क्स से बचने के लिए आप पेट, जांघ, ह‍िप्‍स के आसपास की त्‍वचा को मॉइश्‍चराइज करते रहें। इसके ल‍िए एलोवेरा जैल या नारियल के तेल का इस्‍तेमाल करें। स्‍ट्रेच मार्क्स से बचने के ल‍िए चंदन का तेल भी लगा सकती हैं। 
  • चेहरे को द‍िन में 2 से 3 बार साफ करें। चेहरे की गंदगी से भी कई तरह का इंफेक्शन हो सकता है। चेहरे को बार-बार खुजलाने या छूने से बचें।  
  • प्रेगनेंसी के दौरान आपको कभी भी स्‍क्रब‍िंग नहीं करनी है। कोमल कपड़े से स्‍किन एक्‍सफोल‍िएट कर सकती हैं। 
  • आपको अपने आसपास सफाई रखनी है। प‍िलो का कवर और तौल‍िए को समय-समय पर बदलते रहें। 

प्रेगनेंसी के दौरान मां और बच्‍चे की अच्‍छी सेहत के ल‍िए सही जानकारी बेहद जरूरी है। कुछ भी नया ट्राय करने से पहले डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें। 

Read more on Women Health in Hindi 

Disclaimer