ट्राइग्लिसराइड (Tryglycerides) बढ़ने पर क्या नहीं खाना चाहिए? एक्सपर्ट से जानें

ट्राइग्लिसराइड में क्या नहीं खाना चाहिए: कुछ फूड्स ट्राइग्लिसराइड के लेवल को बढ़ा सकते हैं। ऐसे में आपको इन फूड्स के सेवन से बचना चाहिए। 

 
Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 03, 2022Updated at: Apr 03, 2022
ट्राइग्लिसराइड (Tryglycerides) बढ़ने पर क्या नहीं खाना चाहिए? एक्सपर्ट से जानें

ट्राइग्लिसराइड्स (triglycerides in hindi) शरीर में एक लिपिड या फैट का एक प्रकार है। दरअसल, शरीर अपने अधिकांश फैट को ट्राइग्लिसराइड्स के रूप में संग्रहीत करता है। ब्लड में  ट्राइग्लिसराइड्स का बढ़ा हुआ लेवल शरीर के लिए नुकसानदेह हो सकता है। बहुत अधिक ट्राइग्लिसराइड्स आपके दिल या आपके मस्तिष्क में खून की आपूर्ति को अवरुद्ध कर सकता है। इसके कारण सुन्नता, चक्कर आना, भ्रम, धुंधनापन और गंभीर सिरदर्द हो सकता है। साथ ही ये गंभीर समस्याओं का कारण भी बनता है जैसे कि इंसुलिन के प्रोडक्शन को प्रभावित करता है, ब्लड वेसेल्स को प्रभावित करता है, हृदय को प्रभावित करता है और पेंक्रियाज के काम काज में भी गड़बड़ी का कारण बनता है। तेल और मक्खन जैसे खाद्य पदार्थ ट्राइग्लिसराइड्स को बढ़ाने का काम करते हैं। इसलिए ऐसे में आपको उन फूड्स के सेवन से बचना चाहिए जो कि ट्राइग्लिसराइड को (foods to avoid in triglycerides) बढ़ाते हैं। इसी बारे में हमने लखनऊ डाइट क्लीनिक की डाइटिशियन अश्वनी एच कुमार से बात की। 

Insidestarchyvegies

ट्राइग्लिसराइड (Tryglycerides) बढ़ने पर क्या नहीं खाना चाहिए? 

1.  कार्बोहाइड्रेट से भरपूर फूड्स 

आपके द्वारा खाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट के प्रकार और मात्रा से ट्राइग्लिसराइड के स्तर पर सीधा प्रभाव पड़ता है। मटर और मकई जैसी स्टार्च वाली सब्जियां प्रति सर्विंग में पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट की आपूर्ति करती हैं। आपका शरीर अतिरिक्त कार्बोहाइड्रेट को ट्राइग्लिसराइड्स में बदल देता है जो ऊर्जा के लिए उपयोग नहीं किए जाते हैं। इसलिए अपनी प्लेट को कम स्टार्च वाली सब्जियों से भरें जैसे कि फूलगोभी, मशरूम और केल। 

2. हाई कैलोरी वाले फूड्स 

अगर आप अपने ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो उच्च कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से सावधान रहें। चूंकि कुछ उच्च-कैलोरी खाद्य पदार्थ पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जैसे नट्स और एवोकाडो ट्राइग्लिसराइड को बढ़ा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी में कमरख (Star Fruit) खाने से मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें कितनी मात्रा में करें सेवन

3. फल 

फल एक स्वस्थ आहार का हिस्सा है, लेकिन बहुत अधिक फल आपके ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने की आपकी क्षमता में बाधा डाल सकते हैं। फलों में अलग-अलग मात्रा में फ्रुक्टोज होता है, कुछ खाद्य पदार्थों में पाया जाने वाला एक प्रकार का मोनोसैकराइड है। उच्च ट्राइग्लिसराइड्स वाले लोगों को फ्रुक्टोज का सेवन प्रति दिन 50 से 100 ग्राम से अधिक नहीं करना चाहिए। अतिरिक्त फ्रुक्टोज ट्राइग्लिसराइड्स को बढ़ाता है। ऐसे में प्रतिदिन 2 से 3 सर्विंग फल खाएं। 

4. बेक्ड फूड्स और ट्रांस फैट

बेक्ड फूड्स ट्राइग्लिसराइड्स के लेवल को बढ़ा सकते हैं। ऐसे में आपको आहार में संतृप्त वसा को सीमित करना चाहिए। इसके अलावा संतृप्त वसा ट्राइग्लिसराइड के स्तर को बढ़ा सकते हैं। ऐसे में रेड मीट, चिकन स्किन, अंडे की जर्दी, उच्च वसा वाले डेयरी, मक्खन और फास्ट फूड्स के सेवन से बचें। दरअसल,  ट्रांस वसा हाइड्रोजनीकृत फैट होते हैं जो कुछ पैकेज्ड और तले हुए खाद्य पदार्थों में पाए जा सकते हैं। ये तमाम चीजें ट्राइग्लिसराइड लेवल को तेजी से बढ़ाते हैं। 

Insidesugaryfoods

इसे भी पढ़ें : क्या रात को नहीं पीना चाहिए नारियल पानी? जानें Coconut Water से जुड़े 6 सवालों के जवाब

5. शराब

शराब का सेवन ट्राइग्लिसराइड के स्तर को बढ़ा सकता है। शराब में चीनी होती है और अतिरिक्त चीनी ट्राइग्लिसराइड के स्तर को बढ़ाती है। बीयर, शराब और वाइन सभी में चीनी होती है, इसलिए उच्च ट्राइग्लिसराइड्स वाले लोगों के लिए सभी प्रकार की शराब एक समस्या हो सकती है। ऐसे में  शराब का सेवन कम करने से इन स्तरों को कम करने में मदद मिल सकती है। 

ट्राइग्लिसराइड कैसे कम करें? 

अगर आप अधिक वजन वाले हैं तो वजन कम करें। अपने खाने के आकार को नियंत्रित करें और प्रतिदिन खाने वाली कैलोरी की संख्या कम करें। साथ ही छोटे-छोटे और बार-बार भोजन करें और भोजन छोड़ें नहीं। देर रात तक स्नैक्स खाने से बचें और शुगर को जितना हो सके उतना नियंत्रित करने की कोशिश करें। खाद्य पदार्थ जो ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं जैसे कि वसायुक्त मछली, हरी सब्जियां, सूरजमुखी के बीज, कैनोला ऑयल और सोया आधारित उत्पाद।

इसके अलावा आपको एक्टिव लाइफस्टाइल फॉलो करने की कोशिश करनी चाहिए। साथ ही शारीरिक गतिविधियां करें जो कि ट्राइग्लिसराइड लेवल को कम करने में मदद करे। इसके अलावा अगर आपको  ट्राइग्लिसराइड्स के लक्षण नजर आते हैं तो, अपने डॉक्टर से बात करें।

all images credit: freepik 

Disclaimer